किशुनबारी से फायरिंग करते हुए भागे अपराधियों ने सोनबरसा से लूटे मवेशी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिसवन थाना क्षेत्र के दो गांवों में बुधवार की रात दर्जनभर लुटेरों ने तांडव मचाया। किशुनबारी गांव में पशु लूटने में असफल रहने पर उनलोगों ने फायरिंग भी की। इससे लोगों के बीच दहशत है। लोगों के विरोध के बाद अपराधी भाग गए। पुलिस किसी भी अपराधी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। इससे क्षेत्र के लोगों के बीच नाराजगी है। जानकारी के अनुसार रात करीब साढ़े दस बजे दर्जनभर लुटेरे किशुनबारी गांव के पूर्व सरपंच शिवनाथ यादव के घर आ धमके व कृपाल यादव को कब्जे में ले लिया, परंतु शोर मचाने पर ग्रामीण जाग गए, तब लुटेरे फायरिंग करते हुए भाग निकले। इसके बाद दो किमी दूर स्थित सोनबरसा गांव निवासी विजय यादव के घर पहुंचे व असलहों का भय दिखाकर उनकी प|ी देवंती देवी को कब्जे में कर लिया। विरोध करने पर लुटेरों ने गृहस्वामी की डंडे से पिटाई की व उनकी सात भैंसों को खोल कर भाग गए। सूचना के बाद रात दो बजे पहुंची पुलिस घटनास्थल पहुंची। बखरी पंचायत की पूर्व मुखिया नीलम सिंह ने पशुचोरी की बढ़ती घटनाओं पर रोक लगाने की मांग की है। ज्ञात हो कि पिछले महीने चोरों ने नवलपुर व महानगर गांवों में पशुधन की चोरी की थी। लेकिन, इस मामले का खुलासा करने में पुलिस नाकाम रही। इससे क्षेत्र के पशुपालकों में दहशत का माहौल है।

फायरिंग के बाद दहशत में महिलाएं।

खबरें और भी हैं...