• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Siwan News firs on teachers who obstruct matriculation examination will be suspended if they go on strike

मैट्रिक परीक्षा में बाधा डालने वाले शिक्षकों पर होगी एफआईआर, हड़ताल पर गए तो होंगे सस्पेंड

Patna News - शिक्षा विभाग ने 17 फरवरी से हड़ताल पर जाने और मैट्रिक परीक्षा में वीक्षण कार्य का बहिष्कार करने वाले शिक्षकों पर...

Feb 15, 2020, 10:00 AM IST
Siwan News - firs on teachers who obstruct matriculation examination will be suspended if they go on strike

शिक्षा विभाग ने 17 फरवरी से हड़ताल पर जाने और मैट्रिक परीक्षा में वीक्षण कार्य का बहिष्कार करने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई की चेतावनी दी है। कहा गया है कि जो शिक्षक वीक्षण कार्य में बाधा उत्पन्न करेंगे उनके खिलाफ बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 की धारा 10 के तहत और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उन्हें निलंबित किया जाएगा। इस संबंध में शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने सभी जिलाधिकारयों, उप विकास आयुक्त और जिला शिक्षा पदाधिकारियों को पत्र भेजा है। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति ने शिक्षा विभाग को 17 फरवरी से हड़ताल पर जाने की सूचना दी है। साथ ही वीक्षण कार्य का वहिष्कार की घोषणा की है। जिलाधिकारी ने विभाग के अधिकारियों से कहा है कि परीक्षा में बाधा पहुंचाने वाले शिक्षकों पर विभागीय और अनुशासनिक कार्यवाही के लिए तैयार रहें। जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा है कि जो शिक्षक वीक्षण कार्य का बहिष्कार करेंगे, उन्हें सेवा से अनधिकृत अनुपस्थित मानते हुए नो वर्क नो पे के सिद्धांत के तहत वेतन नहीं मिलेगा। कार्य पर अनुपस्थिति की अवधि सेवा में टू मानी जाएगी।

डीएम ने कई बीईओ का वेतन बंद करने का दिया निर्देश

शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए डीएम रंजीता ने कहा कि मैथ्स किट, साइंस किट की राशि वसूली के संबंध में डीपीओ स्थापना से विवरणी मांगी जाए कि कितनी राशि की वसूली शिक्षकों से की गई है। डीएम ने अग्रिम समायोजन नहीं करने पर बीईओ, गोरेयाकोठी पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। सीवान सदर बीईओ द्वारा बताया गया कि उपयोगिता प्रमाणपत्र हेतू कैंप लगाया गया है। बीआरपी सिसवन का वेतन बंद करते हुए स्पष्टीकरण करने का निर्देश दिया। बीईओ हसनपुरा से स्पष्टीकरण करने व वेतन बंद करने का निर्देश बैठक में दिया गया। डीएम ने गुठनी के दोनों बीआरपी पर स्पष्टीकरण करते हुए वेतन बंद करने का निर्देश दिया। नौतन बीआरपी का भी वेतन बंद करने की बात कही गई। समायोजन कम होने के कारण सिसवन बीईअो का वेतन बंद करने का निर्देश दिया गया है।

धमकी देना सरकार का काम है


{राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति ने 17 से हड़ताल पर जाने की दी है सूचना


{प्रखंडाें के अधिकारियों से हड़ताल पर नहीं जानेवाले शिक्षकों की मांगी है सूची, जिलाधिकारी भी गंभीर

नो वर्क, नो पे का नियम होगा लागू

सभी बीडीओ प्रखंडस्तर पर नियोजन समिति की बैठक कर परीक्षा को बाधित करने वाले शिक्षिकों पर कार्रवाई करने का निर्णय पारित कराएंगे। यदि कोई शिक्षक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा को बाधित करता है तो तुरंत उसपर एफआईआर की जाएगी। उन्होंने कहा कि हड़ताल पर जाने के दौरान अनुपस्थित अवधि में नो वर्क नो पे के आधार पर वेतन कटौती होगी। ब्रेक इन सर्विस, तत्काल निलंबन और एफआईआर का कार्रवाई तय है। शिक्षा पदाधिकारी सभी प्रखंडों से हड़ताल में नहीं जाने वाले शिक्षकों की सूची प्राप्त करेंगे। जिस शिक्ष्ज्ञक का नाम इस सूची में नहीं होगा उसे अनुपस्थित माना जाएगा।

परीक्षा बाधित करने का है षडयंत्र

समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में शुक्रवार को जिलाधिकारी रंजीता की अध्यक्षता में मैट्रिक परीक्षा को लेकर समीक्षात्मक बैठक की गई। इसमें 17 फरवरी से नियोजित शिक्षकों के होने वाले हड़ताल पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। डीएम ने कहा कि मैट्रिक परीक्षा को बाधित करने का षडयंत्र हो रहा है। इससे सख्ती से निपटा जाना है। डीएम ने कहा कि मैट्रिक परीक्षा में वीक्षक कार्य नियमित शिक्षक, उच्च विद्यालय के शिक्षक, नवोदय विद्यालय के शिक्षक, लाइब्रेरियन, सहायता प्राप्त उच्च विद्यालय, अनुदानित विद्यालयों के शिक्षकों से कराएं। शिक्षक नेताओं से वार्ता कर हड़ताल पर नहीं जाने के लिए प्रेरित करें।

X
Siwan News - firs on teachers who obstruct matriculation examination will be suspended if they go on strike
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना