--Advertisement--

बिहार में पहली बार थानेदार चुनने के लिए ली गई परीक्षा, रवि रंजना को मिली महिला थाने की कमान

3 सिटी एसपी और ग्रामीण एसपी की देखरेख में पुलिस लाइन में ली गई परीक्षा में 27 महिला दारोगा हुईं शामिल।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 08:38 AM IST
तीनों सिटी एसपी के समक्ष इंटरव तीनों सिटी एसपी के समक्ष इंटरव

पटना. बिहार में पहली बार थानेदार पद पर तैनाती के लिए लिखित परीक्षा व साक्षात्कार लिया गया। महिला थाने के लिए नई थानेदार चुनने के लिए बुधवार को पुलिस लाइन में हुई लिखित परीक्षा व साक्षात्कार में जिले की 27 महिला दारोगा शामिल हुईं। इनमें से टॉप थ्री को चुना गया। इसके बाद तीनों की उपलब्धियों को देखने के बाद थानेदार बनाया गया। सबसे अधिक नंबर प्राप्त करने वाली कोतवाली थाने की दारोगा रवि रंजना महिला थाने की नई थानेदार बन गईं। उन्हें 100 में 90 नंबर मिले। दूसरे नंबर पर गांधी मैदान थाने की दारोगा अर्चना कुमारी सिन्हा रहीं, जिन्हें 85 नंबर मिले। तीसरे नंबर पर रही गर्दनीबाग थाने की उपासना को 82 नंबर आए। डीआईजी राजेश कुमार ने कहा अर्चना और उपासना टॉप थ्री में आईं इसलिए इन दोनों को 5-5 हजार का पुरस्कार दिया गया।

कोई अभ्यर्थी फेल नहीं, सबको मिले 30 से अधिक नंबर
तीनों सिटी एसपी की देखरेख में 50 नंबर की लिखित परीक्षा और 50 नंबर का साक्षात्कार हुआ। इसमें कोई अभ्यर्थी फेल नहीं हुई। सबको 30 से अधिक नंबर मिले। दरअसल पांच साल की एक बच्ची से रेप के मामले में महिला थाने की तत्कालीन थानेदार विभा कुमारी ने लापरवाही बरती थी। डीआईजी ने इसकी जांच कराई, जिसमें उनकी लापरवाही पाई गई। उसके बाद डीआईजी ने मंगलवार को विभा को लाइन हाजिर कर दिया था। इसके बाद नई थानेदार की तैनाती के लिए परीक्षा हुई।

पांच सवाल ऑब्जेक्टिव, बाकी सब पूछे गए थे सब्जेक्टिव

डीआईजी ने परीक्षा लेने के लिए मंगलवार को ही ही तीनों सिटी एसपी व ग्रामीण एसपी की टीम गठित कर दी थी। टीम ने ही प्रश्न तैयार किए थे। 5 सवाल ऑब्जेक्टिव, जबकि शेष सब्जेक्टिव थे। प्रश्न महिला पर होने वाले अपराध से संबंधित थे। ऑब्जेक्टिव में एसिड अटैक, अश्लील हरकत करने व वीडियो वायरल करने, एक से अधिक शादी करने, अडल्टरी, रेप व छेड़खानी पर कौन-सी धारा लगाई जाती है, से संबंधित प्रश्न थे। सब्जेक्टिव प्रश्नों में पॉक्सो एक्ट क्या है। इसमें सजा का क्या प्रावधान है? सीआरपीसी की धारा में 161 और 164 के तहत बयान का क्या मतलब है? छेड़खानी में आईपीसी का क्या प्रावधान है? दुष्कर्म के संबंध में 2013 में एक्ट में क्या संशोधन हुए हैं? 498 ए में गिरफ्तारी का क्या प्रावधान है? छेड़खानी में आईपीसी में क्या प्रावधान है? आदि सवाल पूछे गए।

50 नंबर की हुई लिखित परीक्षा और 50 नंबर का इंटरव्यू

डीआईजी ने कहा- टेस्ट लेकर नियुक्ति से मिलेंगे बेहतर अफसर सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने बताया कि पटना और नालंदा जिले में नए थानेदारों की नियुक्ति से पहले इसी तरह का टेस्ट एसएसपी व एसपी लेने पर विचार करें तो बेहतर अफसर मिलेंगे।

एसपी तक की तैनाती में यही प्रक्रिया लागू हो

बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने डीआईजी के इस विचार का स्वागत किया है कि थानेदार की नियुक्ति से पहले लिखित परीक्षा व साक्षात्कार हो। उन्होंने कहा कि थानेदार ही नहीं, बल्कि डीएसपी, एसडीपीओ, एएसपी, सिटी एसपी व एसएसपी की जिले में तैनाती के पहले इसी तरह का टेस्ट लिया जाना चाहिए। इससे जिले काे बेहतर पुलिस अफसर मिलेंगे जो कानून का राज स्थापित करने में अहम भूमिका निभाएंगे।