पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोहल्लों की सफाई नहीं होने से दुर्गंध ने जीना किया मुहाल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर परिषद के 300 सफाई कर्मियों के सातवें दिन भी हड़ताल पर रहने की वजह से शहर की हालत काफी खराब हो गई है। मुख्य सड़क से लेकर गली मोहल्ले तक गंदा दिख रहा है। बुधवार को भी कर्मचारी हड़ताल पर रहे। इधर, गंदगी की वजह से अब कई तरह की बीमारियां फैलने की संभावना बढ़ गई है। लोगों का कहना है कि अर इसी तरह शहर की हालत रही तो महामारी भी हो सकती है। लेकिन नगर परिषद के अफसर कर्मियों से सम्मानजनक वार्ता कर हड़ताल को खत्म कराने के प्रति उदासीन बने हुए है। वे केवल वार्ता कर रहे है। लेकिन वार्ता के बाद भी वे सफल नहीं हो रहे है। बुधवार को शहर के किसी भी कचरा प्वाइंट से कचरे का उठाव नहीं हुआ। इससे मुख्य सड़कों पर कचरा पसरा हुआ है। इससे राह चलना मुश्किल हो गया है। शहर के आर्य कन्या हाई स्कूल के बाद बड़े पैमाने पर कचरा पड़ा हुआ है।

इससे स्कूल में पठन- पाठन प्रभावित हो रहा है। कचरे से निकल रही बदबू के कारण क्लास चलाने में परेशानी हो रही है। वहीं स्कूल जाने व आने वाली छात्राएं भी कचरे से परेशान है। आंदर, हुसैनगंज व रघुनाथपुर प्रखंड क्षेत्र से सीवान शहर में लोग इसी रास्ते से आते है। इसे भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। वे इाी कचरे का सामना कर शहर आ रहे है।

आर्य कन्या हाई स्कूल के पास कचरे का ढेर।

नगर परिषद को कोस रहे हैं राहगीर

कचरे के पास आने के साथ ही वे नगर परिषद को कोस रहे है। इसी रास्ते से डीएवी पीजी कॉलेज व डीएवी हाई स्कूल में भी पढ़ने के लिए छात्र-छात्राएं जाते है। उसे भी गदंगी से परेशानी झेलनी पड़ रही है। लेकिन यहां से भी कचरे का उठाव नहीं हो रहा है।

विशुनपक्का मोड़ पर कचरे का ढेर, बकरी मंडी से भी परेशानी

शहर के विशुनपक्का मोड पर भी सड़क पर ही कचरा पसरा हुआ है। चीकटोली मोड पर तो कचरे का उठाव बुधवार को नहीं हुआ। जबकि यह महत्वपूर्ण मोड है। बकरीद को लेकर यहां पर बकरी का मंडी भी लग रहा है। इससे वहां पर बेचने व खरीदने आने वाले लोगों को बदबू व कचरे से परेशानी झेलनी पड़ रही है। शहर के राजेन्द्र पथ में भी कचरे का उठाव नहीं हुआ। जबकि यह शहर का महत्वपूर्ण सड़क है। अस्पताल रोड समेत अन्य कई स्थान है, जहां प कचरे का ढेर लगा हुआ है। नगर परिषद के नियमित सफाई कर्मचारी कुछ खास स्थानों पर ही सफाई कर पा रहे है। इससे शहर के अधिकतर भाग में गदंगी फैली हुई है।

सीवान में स्वच्छ भारत मिशन अभियान की हालत खराब

इधर, स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत स्वच्छता पर जोर दिया जा रहा है। लेकिन शहर में गदंगी का अम्बार लगा हुआ है। इस वजह से परेशानी हो रही है। लोगों का कहना है नगर परिषद को चाहिए कि वे जल्द कर्मियों की मांग को मानकर हड़ताल समाप्त कराएं। ताकि शहर की सफाई ठीक से हो सके। सफाई कर्मचारी अभी भी अपनी मांग पर अड़े हुए है। वे एनजीओ से सफाई कराने का विरोध कर रहे है। इसके अलावा भी अन्य कई मांग शामिल है। इसलिए वे एक अगस्त से ही हड़ताल पर है। इधर, नगर नगर परिषद के ईओ अजीत कुमार ने कहा कि हड़ताल समाप्त कराने के लिए सफाई कर्मियों से वार्ता की जा रही है।

खबरें और भी हैं...