हादसा / झोपड़ी में लगी आग बुझाने पहुंचे ऑटाे चालक की सिलेंडर फटने से गई जान

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 03:14 AM IST



Four dozen huts were burnt in Garadnibag
X
Four dozen huts were burnt in Garadnibag

  • गर्दनीबाग में शाॅर्ट सर्किट से चार दर्जन झोंपड़ियां जल कर राख
  • दमकलकर्मियों ने लोगों की मदद से पाया आग पर काबू

पटना. गर्दनीबाग थाने के रोड नंबर 30 स्थित झोपड़पट्टी की एक झोपड़ी में शुक्रवार की रात अचानक आग लग गई। आग की लपटों ने देखते ही देखते भीषण रूप धारण कर लिया और चार दर्जन से ज्यादा झोंपड़ियाें को अपनी आगोश में ले लिया। घरों में रखे घरेलू गैस सिलेंडरों के फटने से हड़कंप मच गया। इस दौरान एक व्यक्ति की मौत सिलिंडर फटने से हो गई। उसके पेट और शरीर के बीच का अन्य हिस्सों के चिथड़े उड़ गए। 


मृतक की पहचान 70 फीट के रहने वाले नरेश सिंह के 45 वर्षीय बेटे सुबोध कुमार के रूप में हुई, जो ऑटो चलाता था। वह चितकोहरा आया था और आग लगने के बाद लोगों काे बचाने के लिए वहां पहुंच गया। अगलगी की सूचना मिलने पर अग्निशमन विभाग ने आनन-फानन में चार दमकलों को रवाना कर दिया। दमकलकर्मियों ने स्थानीय लोगों की मदद से दो घंटे से ज्यादा की कड़ी मशक्क्त के बाद आग पर काबू पाया।

 

तब तक चार दर्जन झोपड़ियों में रखा सारा सामान जल कर राख हो चुका था। कपड़े, अनाज, फर्नीचर, नगदी, जेवर सहित सब कुछ पूरी तरह जल कर खत्म हो गया। आग लगने का कारण घर में लगे बिजली के तारों में शाॅर्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। अगलगी से नुकसान का सही आकलन तो नहीं हो पाया लेकिन लाखों का सामान जल जाने की आशंका जताई जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि प्रभावित लोगों की सूची बनाकर मुअावजा दिया जाएगा। 
 
जाम के चलते दमकलों को पहुंचने में हुई देर 
आग लगने के बाद गर्दनीबाग मुख्य सड़क और चितकोहरा रेलवे ओवरब्रिज पर वाहनों के रुकने से जाम के स्थिति उत्पन्न हो गई। दर्जनों लोग अपने वाहन रोक अगलगी का नजारा देखने लगे। सड़क के दोनों तरफ लगे वाहनों ने कुछ देर के लिए परिचालन को बाधित कर दिया। इसकी वजह से घटनस्थल पर जा रही दमकल की गाड़ियों को पहुंचने में देरी हुई।

COMMENT