चार साल से चल रही अवैध आयुर्वेदिक दवा फैक्ट्री पर छापा, 8 लाख की मेडिसिन जब्त

Patna News - ड्रग विभाग की टीम ने गुरूवार को स्थानीय पुलिस के सहयोग रामकृष्णानगर की अंबिकानगर काॅलोनी में अवैध रूप से...

Aug 23, 2019, 06:10 AM IST
ड्रग विभाग की टीम ने गुरूवार को स्थानीय पुलिस के सहयोग रामकृष्णानगर की अंबिकानगर काॅलोनी में अवैध रूप से आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली फैक्ट्री पर छापेमारी की। किराए के मकान में यह फैक्ट्री चार वर्षाें से बिना लाइसेंस के चल रही थी। छापेमारी में करीब सात-आठ लाख रुपए की आयुर्वेदिक दवा जब्त की गई। इसके अलावा फैक्ट्री से उपकरण जब्त किए गए हैं। फैक्ट्री का संचालक फरार है ।

ड्रग इंस्पेक्टर कमरूद्दीन अंसारी ने बताया कि रामकृष्णानगर के जकरियापुर स्थित अंबिका काॅलोनी के स्व राज कुमार के मकान में अवैध रूप से आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली फैक्ट्री में छापेमारी की गई। यहां से सात आठ लाख रुपए तक की आयुर्वेदिक गोलियां जब्त की गईं। फैक्ट्री से मशीन भी जब्त की गई है।

धंधेबाज वाल्मिकी किराए के मकान में फैक्ट्री से दवा बनाकर स्टोर करता था। यहीं से बाहर माल सप्लाई करता था। छापेमारी की भनक लगते ही धंधेबाज भाग निकला। उन्होंने बताया कि इस धंधे में मकान मालिक स्व राजकुमार के बेटों की भी मिलीभगत की बात सामने आ रही है।

फैक्ट्री में जांच-पड़ताल करते अिधकारी।

अंग्रेजी दवा में रंग मिलाकर तैयार की जाती थीं गोलियां

अंग्रेजी दवा डेरिफाईलिन, निमोस्लाइड और एन्टी एलर्जिक दवा सीपीएम को पीस कर पाउडर तैयार किया जाता था। इसके बाद मिलाकर आयुर्वेदिक गोली के रूप में तैयार करते थे। यहां साइटिका, कमर के दर्द, गठिया, जोड़ों के दर्द व घुटनों के दर्द के नाम पर दवा तैयार कर बेची जाती थी। कई बोरियों में दवाएं मिली हैं। मकान मालिक स्व राज कुमार के बेटे ने बातया कि चार साल पहले उनके पिता ने वाल्मीकि को नीचे का फ्लैट किराये पर दिया था। छापेमारी टीम में राजेश प्रसाद सिन्हा, राजेश कुमार, संजय पासवान व ड्रग इंस्पेक्टर सत्यनारायण मौजूद थे।

अंग्रेजी दवा मिलाकर बना रहा था दर्द निवारक गोलियां

ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि फैक्ट्री से तीन अंग्रेजी दवा की गोलियां काफी संख्या में बरामद की गई हैं। इन तीनों अंग्रेजी दवाओं को मिलाकर चंदा आयुर्वेदिक फार्मेसी में दर्द निवारक गोलियां बनायी जाती थी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना