धोखा: एक लड़की को लवमैरिज करने के बाद 6 माह बाद ही मिली ऐसी सजा, ससुरालवालों ने कहा-बच्चा गिरा दो और माता-पिता के पास पहुंची तो सामाज के लोगों ने कहा-घर छोड़ दो... / धोखा: एक लड़की को लवमैरिज करने के बाद 6 माह बाद ही मिली ऐसी सजा, ससुरालवालों ने कहा-बच्चा गिरा दो और माता-पिता के पास पहुंची तो सामाज के लोगों ने कहा-घर छोड़ दो...

Bhaskar News

Oct 12, 2018, 12:52 PM IST

अब बेसहारा बनकर दर-दर भटक रही है लड़की, पुलिस ने भी पीड़िता को 900 रुपए देकर कहा चली जाओ यहां से...

Girl cheated by lover

मोतिहारी (बिहार)। अंतरजातीय विवाह करने की सजा एक किशोरी को ऐसी मिली कि ससुरालवालों ने उसे बच्चा गिराने की सलाह दे दी। भागकर थाने पहुंची तो पुलिस ने इंसानियत का धर्म भूलकर सारी हदें पार कर दीं। पुलिस ने उसे 900 रु. देकर कहा- यहां से चली जाओ। जब वह मायके पहुंची तो गांववालों ने भी जख्म और बढ़ा दिया। माता-पिता ने कहा- अपना मुंह कभी मत दिखाना। अब बेसहारा बनकर एक वो दर-दर भटक रही है। हद तो तब हो गई जब महज 6 माह भी नहीं हुआ था कि प्रेमजाल में फंसाने वाला प्रेमी पति उसे छोड़कर फरार हो गया। जुल्म की लंबी दास्तान लेकर ससुराल से मायके पहुंचने पर भी उसका दर्द कम नहीं हुआ।

एक तुगलकी फरमान के बाद युवती को झेलना पड़ रहा दर्द

अब उसे अपनों के पास भी नहीं रहने दिया जा रहा है। समाज के कुछ ठेकेदार अभी भी प्रेम विवाह को नहीं मान रहे हैं। उनका तुगलकी फरमान अब भी जारी है। जिसका दंश एक विवाहित किशोरी को झेलना पड़ रहा है। जान की रक्षा के लिए पीड़िता महिला हेल्पलाइन पहुंची। जहां से पीड़िता के पिता को बुलाकर मामले को सुलझाने का प्रयास किया गया। लेकिन नहीं मानने पर मामला पुलिस के पास पहुंचा। पीड़िता हरसिद्धि थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। उसने एससी-एसटी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

प्रेमजाल में फंसाया फिर मंदिर में की शादी

पीड़ित किशोरी ने बताया कि उसके गांव के स्कूल में मधुबनी जिला के एक शिक्षक रहते हैं। उनका भतीजा अभिषेक भी उनके साथ रहता था। स्कूल जाने के दौरान दोनों में प्रेम हो गया। इसके बाद अभिषेक उसे अपने साथ लेकर मधुबनी ले गया। वहां एक मंदिर में दोनों की शादी हुई। शादी के बाद अभिषेक उसे अपनी बहन के घर ले जाकर 3 माह तक साथ रहा। बाद में जब वह गर्भवती हो गई, तो उसे छोड़कर फरार हो गया। इसके बाद अभिषेक की बहन ने उसे घर से निकाल दिया। तब वह अभिषेक के घर गई। वहां उसके ससुराल वालों ने बच्चा गिराने को कहा, नहीं मानने पर उसे घर से भगा दिया।


पुलिस ने पीड़िता को 900 रुपए देकर भेजा घर


पीड़िता ने बताया कि वह अभिषेक के घर से निकाले जाने के बाद संबंधित थाना पहुंची, जहां प्राथमिकी दर्ज करने की बजाए वहां के एक पुलिसवाले ने उसे 900 रुपए देकर कहा कि तुम अपने मायके चली जाओ। इसके बाद वह मधुबनी जिला स्थित एक थाने में गई। वहां से उसे महिला हेल्पलाइन भेजा गया। जिसके बाद उसे 8 दिनों तक मधुबनी के बालिका गृह में रखा गया। फिर उसके पिता को बुला कर उसे सौंप दिया गया। वहां भी उसके पिता के पड़ोस के कुछ लोग उसके घर पर आकर धमकी देने लगे तथा उसके पिता को कहा कि इसे घर से निकालो नहीं तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो।

पीड़िता की हुई मेडिकल जांच

अब मामले में पीड़िता के बयान पर एससी-एसटी थाने में प्राथमिकी दर्ज हुई है। दर्ज प्राथमिकी में पीड़िता ने अपने पति अभिषेक, ससुर, चचेरे ससुर, ननद सहित आधा दर्जन लोगों को आरोपित किया है। थानाध्यक्ष कृष्णदेव खटईत ने बताया कि पीड़िता के बयान पर अभिषेक समेत आधा दर्जन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई है।

X
Girl cheated by lover
COMMENT