पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फुटबॉल में नाम कमाने को 3 किमी पैदल चल जीरादेई आती हैं छात्राएं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुदूरवर्ती गांव से आकर जीरादेई हाई स्कूल में पढ़नेवाली लड़कियां फुटबॉल में अपना करियर बना रही हैं। देशर| डॉ राजेंद्र प्रसाद की धरती जीरादेई के महेंद्र उच्च विद्यालय सह इंटर कॉलेज की छात्राएं ठंड, गर्मी व बरसात में भी अपने घर से तीन से चार किलोमीटर की दूरी तय कर रोजाना खेल का प्रैक्टिस करने के लिए विद्यालय आती हैं। मन में कुछ कर गुजरने की चाहत लेकर छात्राएं पढ़ाई के साथ खेल में भी अपना करियर बनाकर देश व राज्य का नाम रौशन करने की ठान ली हैं। पहली बार फुटबॉल खेलने घर से निकली प्रतिमा कुमारी ने बताया कि पहले तो गांववालों के कुछ कहने के डर से घरवालों ने भी पढ़ाई करने की ही सलाह दी, लेकिन स्कूल के खेल शिक्षक अनिरुद्ध कुमार ने परिजनों को समझाया। इसके बाद खेलने की अनुमति मिली। लड़कियों ने बताया कि हमें पढ़ाई के साथ फुटबॉल में भी बेहतर प्रदर्शन करना है और अपना तथा अपने देश व राज्य का नाम रोशन करना है। 12 बच्चियां फुटबॉल में अपनी राष्ट्रीय पहचान बनाने के लिए प्रत्येक दिन घंटों कड़ी मेहनत करती हैं।

माता-पिता का भी मिलता है भरपूर सहयोग

16 वर्षीय गुड़िया कुमारी महेंद्र उच्च विद्यालय सह इंटर कॉलेज की छात्रा है। वह पिछले दो साल से फुटबॉल खेल रही है। उसने बताया कि उसे माता-पिता का हमेशा सहयोग मिला। पड़ोस के लोग शुरुआत में कड़वी टिप्पणी किया करते थे। हालांकि, अब वे शांत हो गए हैं। उन्हें फुटबॉल खेलकर अपने राज्य व देश का नाम रौशन करना है।

ठंड हो या गर्मी, बारिश में भी हर दिन घंटों मेहनत करती हैं खिलाड़ी

जीरादेई हाईस्कूल में फुटबाॅल का प्रैक्टिस करतीं खिलाड़ी।

जीरादेई हाईस्कूल में फुटबाॅल का प्रैक्टिस करतीं खिलाड़ी।

लड़कियों में हैं कुछ कर गुजरने का जज्बा

मुजफ्फरपुर के रहनेवाले विद्यालय के खेल शिक्षक अनिरुद्ध कुमार ने बताया कि खेल के प्रति बच्चियाें की जागृत भावना को देखकर प्रशिक्षण देना शुरू किया था। इसकी बदौलत अब लड़कियां अपना मुकाम बनाने में लगी हैं। उन्होंने बताया कि इन लड़कियों में से ही अदिति तिवारी जिला लेबल की अंडर 19 टीम में चयनित की गई हैं। खेल शिक्षक ने लड़कों की टीम भी तैयार करने की बात कही।

नेशनल टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं लड़कियां

वर्ग 10 में पढ़नेवाली पथार गांव निवासी खुशी कुमारी पढ़ाई के साथ खेल का प्रशिक्षण भी ले रही है। उसके पिता विदेश रहते हैं। गुडिया कुमारी के पिता गांव के किसान हैं। अंजलि कुमारी, कांलिदी यादव, लक्ष्मी कुमारी, रजनी राय, विनीता कुमारी, छोटी खातून, संजना कमारी के साथ आस-पास की कई अन्य लड़कियां भी फुटबॉल खेलती हैं। लड़कियों ने बताया कि वे अपनी कड़ी मेहनत और लगन से नेशनल टीम की खिलाड़ी बनना चाहती हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें