पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्चों को जन्म के छह माह तक मां का दूध पिलाएं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना सिटी|विश्व स्तनपान सप्ताह पर बुधवार को एनएमसीएच के शिशु रोग विभाग में अायोजित कार्यक्रम में ब्रेस्ट फीडिंग के बारे में बताया गया। नालंदा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डाॅ विजय कुमार गुप्ता ने ब्रेस्ट फीडिंग के महत्व के बारे में लोगों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि मां के दूध में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले सारे तत्व होते हैं और इसलिए इसे बच्चे का प्रथम टीकाकरण भी कहते हैं। बच्चों के जन्म के बाद छह माह तक सिर्फ मां का दूध पिलाना चाहिए। अधीक्षक डाॅ चंद्रशेखर, विभागाध्यक्ष डाॅ विनोद कुमार सिंह आदि मौजूद थे। उधर, शिशु रोग विभाग की ओर से हेल्दी बेबी शो का आयोजन किया गया। इसमें तीन कैटेगरी में बच्चों को रखा गया था। 0-1 साल में अंश कुमार पहले, नीशा कुमारी दूसरे अाैर रूबी कुमारी तीसरे स्थान पर रही। उसी तरह 1-3 साल में आराध्या कुमारी को प्रथम, सुधांशु को दूसरा स्थान व अर्पिता कुमारी को तीसरा स्थान मिला। 3-5 साल के ग्रुप में अनिशा कुमारी को प्रथम, निकिता को सेकेंड व नीशी कुमारी को तीसरा स्थान मिला।

खबरें और भी हैं...