• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News half a dozen shooter shooters and accused absconding rupaspur bank not disclose the robbery

आधा दर्जन चर्चित हत्याकांडों के शूटर और आरोपी फरार, रूपसपुर बैंक डकैती का नहीं हुआ खुलासा

Patna News - राजधानी में साल 2018 में कई बड़ी और चर्चित घटनाएं हुईं। इन बड़ी घटनाओं में हत्या जैसे संगीन मामलों में भी शूटर से लेकर...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 05:00 AM IST
Patna News - half a dozen shooter shooters and accused absconding rupaspur bank not disclose the robbery
राजधानी में साल 2018 में कई बड़ी और चर्चित घटनाएं हुईं। इन बड़ी घटनाओं में हत्या जैसे संगीन मामलों में भी शूटर से लेकर साजिशकर्ता तक फरार चल रहे हैं। कई मामले ऐसे हैं जिसमें महीनों बीत जाने के बाद भी पुलिस घटना के कारण तक को स्पष्ट नहीं कर सकी। यही नहीं रुपसपुर में हुए बैंक डकैती मामले में एक भी अपराधी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। भले ही पुलिस ये दावा करती रही कि लुटेरे की पहचान हो गई है। इन चर्चित घटनाओं में तबरेज आलम हत्याकांड, दीना गोप हत्याकांड, हाईकोर्ट के वकील की हत्या, पटना पुलिस के जवान मुकेश की हत्या जैसे मामले शामिल हैं। इन मामलों में पुलिस शुरुआती अनुसंधान में तेजी दिखाते हुए कुछ आरोपियों की गिरफ्तारी कर खानापूर्ती कर ली है। लेकिन बाद के दिनों में सारे मामले ठंडे बस्ते में चला गया।

महीनों बाद भी शूटर नहीं हो सका गिरफ्तार : साल 2018 के 21 सितंबर को जमीन विवाद में कोतवाली थाने के समीप हुई थी कुख्यात तबरेज को अपराधियों ने गोलियों से भून डाला था। हथियारबंद अपराधियों ने मुहर्रम के दिन मस्जिद से नमाज पढ़कर लौट रहे कुख्यात तबरेज उर्फ तब्बू मियां को गोलियों से भून दिया था, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई थी। तबरेज की प|ी शमा परवीन के लिखित बयान पर सात लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी। हत्याकांड के दो आरोपी डब्लू मुखिया और तारिक मल्लिक फिलहाल जेल में है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि महीनों बीत जाने के बाद भी पुलिस शूटर गुड्‌डू बिल्ला समेत अन्य पांच को अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

एके 47 से हुई थी हत्या लेकिन बरामद नहीं

निगम की पूर्व डिप्टी मेयर अमरावती देवी के पति दीनानाथ उर्फ दीना गोप की अपराधियों ने एके 47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर उनकी हत्या कर दी थी। घटना गर्दनीबाग थाना इलाके में अनीसाबाद गोलंबर के पास स्थित उनके घर से सामने पिछले साल 12 मई को हुई थी। स्थानीय लोगों का कहना है कि घटना के पीछे जमीनी विवाद और चुनावी रंजिश है। मामले में कई आरोपी गिरफ्तार हुए। पुलिस कुछ लोगों को तलाश भी रही है। लेकिन महीनों बीत जाने के बाद भी पुलिस इस नतीजे पर नहीं पहुंची कि दीना गोप की हत्या की वजह क्या थी।

शहीद मुकेश का हत्यारा अब तक फरार

बीते 3 दिसंबर को कंकड़बाग थाना इलाके स्थित बाइपास के नजदीक मुचकुंद, उज्जवल और उसके गुर्गों ने पटना पुलिस के जवान मुकेश की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मुकेश उज्जवल को पकड़ लिया था जिसे छुड़ाने के लिए मुचकुंद ने उसे गोली मार दी थी। लेकिन उज्जवल फरार चल रहा है। उज्जवल के अतिरिक्त कई और अपराधी थे।

छह महीने बाद भी गिरफ्त में नहीं आया बैंक लुटेरा

छह महीने पहले 28 जून 2018 को दिन दहाड़े हथियारबंद अपराधियों ने रुपसपुर स्थित विजया बैंक को लूट लिया था। घटना की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। मामले में पुलिस ने खुलासा किया था कि एक ही बाइक पर बैठकर आए चार अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया। अपराधियों ने बैंक से तीन लाख रुपए लूटे थे। बैंक कर्मियों के साथ मारपीट की गई थी और उनके मोबाइल, चेन, अंगूठी आदि छीन लिए गए थे। कई दिनों के अनुसंधान के बाद पुलिस ने कहा था कि सारे अपराधी आसपास के ही हैं। लेकिन घटना के महीनों बीत जाने के बाद भी रुपसपुर थाने की पुलिस एक भी शातिर को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

अब तक वकील हत्याकांड का साजिशकर्ता फरार

खगौल में करोड़ों के मकान व जमीन के विवाद में अपराधियों ने पटना हाईकोर्ट के वकील जितेंद्र कुमार की बीते 5 दिसंबर को गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना शास्त्रीनगर थाना के राजवंशी नगर जल पर्षद दफ्तर के पास हुई इस हाईप्रोफाइल मामले में पुलिस उनके साला ओर प्रोपर्टी डीलर को अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। ताजुद्दीन ने ही हत्या की पूरी साजिश रची थी।

बड़ी वारदातों की होगी समीक्षा : एसएसपी

एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि जिले में हुई तमाम बड़ी वारदातों की समीक्षा की जाएगी। थाने स्तर पर अब तक क्या कार्रवाई हुई है इसकी पड़ताल होगी। जो भी अपराधी फरार हैं उन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। इस पर जल्द कार्रवाई की जाएगी।

X
Patna News - half a dozen shooter shooters and accused absconding rupaspur bank not disclose the robbery
COMMENT