Hindi News »Bihar »Muzaffarpur» Handicraftman Engaged In Boat Making For Flood

नदियों में पानी बढ़ा, बाढ़ की आहट भांप, नाव बनाने में जुटे कारीगर

सीओ शंकरलाल विश्वकर्मा ने बताया कि 10 नाव पहले से प्रखंड के पास है। जिसमें से 3 नाव चहुंटा घाट पर चल रही है।

Bhaskar News | Last Modified - Jul 03, 2018, 03:07 PM IST

नदियों में पानी बढ़ा, बाढ़ की आहट भांप, नाव बनाने में जुटे कारीगर

औराई.कटौझा चौक से पश्चिम रून्नीसैदपुर के भादाडीह सहित कई गांवों में जाने वाले लोगों को बांध पर कीचड़मय हो चुकी सड़क से गुजरना पड़ रहा है। नाव की संभावित मांग को देखते हुए नाव बनाने वाले कारीगर निर्माण करते देखे गए।

सीओ शंकरलाल विश्वकर्मा ने बताया कि 10 नाव पहले से प्रखंड के पास है। जिसमें से 3 नाव चहुंटा घाट पर चल रही है। 3 निजी नाव है और 20 नाव की मांग जिला प्रशासन से की गई है। आपदा के समय उंचे स्थानों का चयन किया गया है व मेडिकल टीम की रिपोर्ट जिला प्रशासन को सौंपी गई है।

बांध की स्थिति जर्जर, नाव की व्यवस्था नहीं
मुरौल का 15 किलोमीटर बूढ़ी गंडक नदी के जद में है, लेकिन सरकार के बाढ़ पूर्व तैयारियां खोखला दिखाई दे रही है। महमदपुर, दरधा, पिलखी, मीरापुर, मोहनपुर, सादिकपुर मुरौल, बिशनपुर बखरी आदि गांवों में बांध की स्थिति बिल्कुल जर्जर है। नदी के दियारा क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए अभी तक नाव की व्यवस्था नहीं की गई है। सीओ जितेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि सरकार की ओर से अभी तक नाव की व्यवस्था नहीं हो पाई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Muzaffarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×