पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News He Broke Into The House Threatened To Kill The Police Did Nothing Killed The Young Man 10 Days Later

घर में घुसकर पीटा, जान मारने की धमकी दी, पुलिस ने कुछ नहीं किया, 10 दिन बाद युवक को मार डाला

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
महज 5 हजार रुपए के विवाद में बुद्धा कॉलोनी थाने से 200 मीटर दूर पहलवान घाट के पास कचौड़ी गली में अपराधियों ने 20 वर्षीय युवक मो. इम्तियाज उर्फ पप्पन की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना बुधवार को करीब 11 बजे हुई। इस थाने का मुखबिर खरगोश अाैर अन्य ने 20 साल के पप्पन को घर से बुलाया और पास में ही स्थित बिस्कुट फैक्ट्री के पास दाे गोलियां दाग दीं। उसकी वहीं पर मौत हो गई। गोली मारने के बाद राजेंद्रघाट के पास रहने वाला रोहित उर्फ खरगोश वहां से भागकर घर चला गया और कमरे के रैक में छिपकर बैठ गया। पुलिस ने उसे घर से गिरफ्तार कर लिया। उसके दो दोस्तों को भी हिरासत में लिया गया। इस मामले में खरगोश, छोटू, सहदेव समेत छह को नामजद किया गया है।

कोलकाता में कॉस्मेटिक गुड्स का काम करने वाला पप्पन हाल ही में बकरीद मनाने घर आया था। वह चालक मो. वजीर का बड़ा बेटा था। हत्या के विरोध में परिजनों व स्थानीय लोगों ने पहलवान घाट के पास सड़क जाम कर हंगामा किया। पास की दुकानें भी बंद हो गईं। इसी बीच पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर कर दिया। तनाव को देखते हुए पुलिस मोहल्ले में कैंप कर रही है।

परिजनों ने बताया कि पप्पन ने पास के रहने वाले सहदेव साव से 5 हजार रुपए किसी को दिलाए थे। खरगोश का सहदेव के यहां आना-जाना है। सहदेव ने रकम वापसी कराने के लिए खरगोश को कहा था। खरगोश और पप्पन में पहले भी विवाद हो चुका था। 10 दिन पहले खरगोश रकम की वापसी व पुरानी रंजिश का हिसाब चुकता करने के लिए पप्पन के घर पर कुछ युवकों के साथ आया था। उसने पप्पन के साथ ही घर वालों के साथ मारपीट की थी अाैर हत्या कर देने की धमकी दी थी। केस बुद्धा कॉलोनी थाने में दर्ज किया गया था। इस केस के आईओ एएसआई हरिलाल यादव थे। कई बार पप्पन के परिजन खरगोश व अन्य पर कार्रवाई करने की गुहार लगाने थाने गए लेकिन कुछ नहीं हुआ। सिटी एसपी को जब यह बात परिजनों व स्थानीय लोगों ने बताई तो उन्होंने मौके पर ही हरिलाल को सस्पेंड कर दिया।

सुरक्षा नहीं देने वाला एएसआई सस्पेंड, पुलिस का मुखबिर है आरोपी, हत्या के विरोध में हंगामा

मां

मां ने कहा-पुलिस की वजह से मारा गया बेटा

जवान बेटे की हत्या होने के बाद मां नसीमा पहलवान घाट के पास आकर दहाड़ मारकर रोने लगी। वह बार-बार बेहोश हो जा रही थी। नसीमा ने बताया कि बुद्धा कॉलोनी थाने की वजह से मेरा बेटा मारा गया। पुलिस ने खरगोश को गिरफ्तार नहीं किया। स्थानीय लोगों का कहना है कि खरगोश थाने का मुखबिर है। वह थाने में जब्त शराब को बेचता है। हरिलाल की खरगोश से नजदीकी थी। वह खरगाेश से कई तरह का अवैध काम करवाता था।

बहन

पुलिस को महिलाओं ने खूब सुनाई खरी-खोटी

सड़क जाम करने वाली महिलाओं को जब पुलिस हटाने गई तो उन्होंंने पुलिस को खूब खरी-खोटी सुनाई। महिलाओं ने पुलिस को कहा कि कहां थी पुलिस उस दिन जब खरगोश ने मारपीट की थी। जान से मारने की धमकी दी थी। महिलाएं पुलिस पर पथराव करने को आतुर थीं। स्थानीय युवक व अन्य लाेग भी पुलिस से खफा थे।

डकैती का आरोपी पुलिस का मुखबिर, थाने का चालक शराब तस्कर

क्राइम रिपोर्टर | पटना

पटना पुलिस के दामन को उसके मुखबिर और थानों के निजी चालक ही दागदार कर रहे हैं। थानों के कई मुखबिरों और निजी ड्राइवराें पर शराब तस्करी, हत्या, हत्या की साजिश सहित कई संगीन अपराधों में शामिल होने का आरोप लगा चुका है। मार्च में पाटलिपुत्र थाना इलाके में एक सीए के यहां लाखाें की डकैती हुई थी। जांच के दौरान इस बात का खुलासा हुआ कि थाने का मुखबिर ही पूरे कांड का मास्टर माइंड है। आरोपी मास्टरमाइंड अबतक फरार है। वहीं खगौल थाने का निजी चालक मो. पप्पू उर्फ मिस्टर शराब तस्करी के आरोप में फरार है। मार्च में थाने की पुलिस ने उसकी बाइक जब्त की थी जिसकी डिक्की में शराब भरी थी। दानापुर थाने के एक निजी चालक पर भी अपराधियों से सांठगांठ के आरोप लगते रहे हैं। इसी तरह कदमकुआं थाने के एक निजी चालक पर पैसे वसूलने का आरोप लगा था जिसे बाद में हटा दिया गया। 2017 के जून में सुल्तानगंज थाना इलाके में एक शिक्षिका से चेन की लूट हुई थी। घटना को अंजाम देने वाला राजा उर्फ कल्लू थाने का मुखबिर निकला। वहीं बेउर थाने का मुखबिर अजय सिंह शराब तस्करी के आरोप में गिरफ्तार हुआ था।

लाठीचार्ज

पुलिस कर रही छापेमारी, एक गिरफ्तार

विधि-व्यवस्था डीएसपी राकेश कुमार ने बताया कि इस मामले में खरगोश को घटना के फौरन बाद गिरफ्तार कर लिया। खरगोश समेत पांच को नामजद किया गया है। फरार आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस छापेमारी करने में जुटी है।

सलाखों के पीछे

खबरें और भी हैं...