सुविधा / मकान का नक्शा मार्च से ऑनलाइन होगा पास, आवेदन करने के 48 घंटे के भीतर मिल जाएगा

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2019, 05:43 AM IST


house map will pass online from March
X
house map will pass online from March
  • comment

  • नगर निगम ने 1.8 करोड़ की लागत से तैयार करवाया सॉफ्टवेयर
  • छोटे आवासीय घरों की स्वीकृति 24 घंटे में मिलेगी

पटना (देवांशु नारायण). नगर निगम मार्च से मकान का नक्शा ऑनलाइन जारी करेगा। इसके लिए पूरे शहर की ऑटो मैपिंग कराई जा चुकी है। 1.8 करोड़ की लागत से सॉफ्टवेयर तैयार कराया गया है। इसकी मदद से लोग ऑनलाइन सारी जानकारी भरकर मकान बनवाने के लिए 48 घंटे में नक्शा प्राप्त कर सकेंगे। छोटे आवासीय घरों की स्वीकृति 24 घंटे में मिलेगी। इसके लिए अलग विंग तैयार की जा रही है। चीफ इंजीनियर इसके डायरेक्टर होंगे। उनकी देखरेख में ही आवासीय और कॉमर्शियल दोनों तरह के नक्शे की स्वीकृति दी जाएगी। अभी नगर निगम के अफसरों और चीफ इंजीनियर की मॉनिटरिंग में सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग चल रही है। निगम के अफसर बताते हैं कि खामियों को तेजी से दूर किया जा रहा है। राजधानी के हर कोने की पूरी जानकारी जुटाई गई है। कर्नाटक, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात के बाद अब पटना के लोगों को बेहद तेज गति से नक्शे की स्वीकृति मिलेगी। लोगों को दफ्तर का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। 

 

पास नहीं होने पर बताया जाएगा कारण 
यह होगी प्रक्रिया : आवेदक द्वारा सारी जानकारी अपलोड किए जाने के बाद प्रोजेक्ट डायरेक्टर (चीफ इंजीनियर) इसकी जांच कराएंगे। अंचल के कार्यपालक अभियंता सहित अन्य इंजीनियरों से इसका वेरिफिकेशन कराया जाएगा। यह काम निर्धारित समय के भीतर होगा। यदि नक्शा पास नहीं होता है, तो इसकी जानकारी 48 घंटे में आवेदक तक पहुंच जाएगी। इसका कारण व कमियों की भी जानकारी दी जाएगी। कमियों को पूरा कर दोबारा आवेदन करना होगा। नगर आयुक्त इसकी निगरानी करेंगे। किसी तरह की लेटलतीफी होने पर कार्रवाई होगी।


जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र ऑनलाइन ही जारी करने की हो रही तैयारी 
नगर निगम चेन्नई और पुणे की तर्ज पर जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र भी ऑनलाइन जारी करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए भी सॉफ्टवेयर बनवाया जाएगा। लोग आवेदन ऑनलाइन करेंगे और प्रमाणपत्र भी ऑनलाइन ही प्राप्त कर लेंगे। नगर निगम के किसी भी दफ्तर में जाने की जरूरत खत्म हो जाएगी। नगर निगम ने वर्ष 2016 में भी जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र, नक्शा सहित अन्य सुविधाओं के लिए ई-म्युनिसिपैलिटी लागू की थी। आज भी इसकी वेबसाइट नगर विकास विभाग द्वारा चलाई जा रही है। इसे पटना के बाद अन्य नगर निगमों में शुरू करना था।


फुटपाथ विक्रेताओं के बीच 15 फरवरी से बंटेगा पहचानपत्र 
नगर निगम 15 से 28 फरवरी तक दोपहर साढ़े 12 से 3 बजे के बीच अंचल कार्यालयों में फुटपाथ विक्रेताओं को प्रमाणपत्र देगा। शुरुआत नूतन राजधानी अंचल से होगी। यहां 15 से 18 फरवरी तक पहचान पत्र का वितरण होगा। इसके बाद 21, 25, 26 और 28 फरवरी को अंचल के विभिन्न स्थलों पर शिविर लगाए जाएंगे। बांकीपुर अंचल में 20 और कंकड़बाग में 27 फरवरी को शिविर का आयोजन होगा। पहचान पत्र का वितरण नगर मिशन प्रबंधक, टाउन लेवल फेडरेशन के अध्यक्ष व संबंधित मार्केट कमेटी के अध्यक्ष के समक्ष किया जाएगा।


अब एजेंसी ही उपलब्ध कराएगी सफाई मजदूर 
वार्डों की आबादी के अनुपात में सफाई मजदूरों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का जिम्मा निजी एजेंसियों को दिया गया है। नगर निगम ने सोमवार को चार एजेंसियों के साथ करार किया है। नगर आयुक्त ने कहा कि एजेंसियों को 20 फरवरी तक सफाई मजदूरों की कमी को पूरा करना होगा। नूतन राजधानी अंचल का काम इम्प्रेशन सर्विसेज, पाटलिपुत्र का गुड ईयर सिक्योरिटी सर्विस, बांकीपुर व कंकड़बाग का एवरेस्ट ह्यूमन रिसोर्स, पटना सिटी व अजीमाबाद का भरोसा सिक्योरिटी एंड मैनेजमेंट सर्विस को दिया गया है। एजेंसियां मजदूरों को 12 हजार रुपए मासिक वेतन देंगी। उनके अवकाश, पीएफ भुगतान आदि का जिम्मा भी एजेंसियों को भी सौंपा गया है। इसके साथ ही नगर आयुक्त ने कहा कि कार्यपालक पदाधिकारियों को अतिक्रमण हटाने, प्लास्टिक थैली पर बैन, गैरकानूनी होर्डिंग हटाने, साफ-सफाई सहित सात तरह के कार्यों के लिए 70 टास्क फोर्स का गठन करने का निर्देश दिया गया है।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन