• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Hyderabad company embezzles government funds, then handed over 170 crore to Congress by hawala: BJP

बयान / हैदराबाद की कंपनी ने सरकारी धन का गबन किया, फिर हवाला से कांग्रेस को सौंपा 170 करोड़: भाजपा

राजीव रंजन, भाजपा प्रवक्ता। राजीव रंजन, भाजपा प्रवक्ता।
X
राजीव रंजन, भाजपा प्रवक्ता।राजीव रंजन, भाजपा प्रवक्ता।

  • आयकर विभाग ने हवाला के जरिए 170 करोड़ चंदा लेने के मामले में कांग्रेस को जारी किया कारण बताओ नोटिस

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 06:28 PM IST

पटना. भाजपा ने हवाला से 170 करोड़ रुपए लेने के मामले में फंसी कांग्रेस पार्टी से जवाब मांगा है। पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि जनता के पैसे की लूट-खसोट और भ्रष्टाचार की पर्यायवाची बन चुकी कांग्रेस अब हवाला के जरिए भी धन उगाहने की एक्सपर्ट बन चुकी है। पिछले दिनों आयकर विभाग ने हवाला के जरिए 170 करोड़ चंदा लेने के मामले में कांग्रेस को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयकर विभाग ने अपनी जांच में पाया है कि हैदराबाद की एक कम्पनी ने कांग्रेस को 170 करोड़ ट्रांसफर किए। ऐसा हवाला नेटवर्क के जरिए किया गया। सरकार ने उक्त कम्पनी को आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों के लिए योजनाओं के संचालन के लिए धनराशि आवंटित की थी, जिसके बाद कंपनी ने पहले फर्जी बिलों के जरिए आवंटित राशि का गबन किया और बाद में हवाला के जरिए यह पूरी राशि कांग्रेस के खातों में पहुंचा दी गई।

पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं को समन भेजा गया था, जिसमें उन्हें 4 नवंबर को आईटी विभाग के समक्ष पेश होने को कहा गया था। लेकिन अहंकार के मारे इन नेताओं ने न तो अपनी उपस्थिति दर्ज कराई और न ही पार्टी द्वारा इस संबंध में कोई कागजात प्रस्तुत किए गये। गौरतलब हो कि नेशनल हेराल्ड मामले में गांधी परिवार सहित कांग्रेस के कई नेता पहले से ही आरोपित चल रहे हैं और अब इस खुलासे के बाद इनकी पूरी पार्टी ही वित्तीय लेन-देन के मामले में इनकम टैक्स के रडार पर आ गई है।

रंजन ने कहा कि इस पूरे प्रकरण से एक बार फिर यह साबित हो गया है कि चाहे कांग्रेस पूरी की पूरी गर्त में चली जाए लेकिन कांग्रेस के नेता भ्रष्टाचार का दामन नहीं छोड़ सकते हैं। न तो इन्हें अपनी पार्टी की प्रतिष्ठा की परवाह है और न ही तेजी से लुप्त हो रहे अपने जनाधार का। जिस पार्टी के नेताओं के लिए राजनीति सेवा की बजाय संसाधन जुटाने का माध्यम हो उससे और उम्मीद भी क्या की जा सकती है?

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना