• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna हार्ट अटैक होने पर दो घंटे में इलाज हो तो बचना संभव

हार्ट अटैक होने पर दो घंटे में इलाज हो तो बचना संभव / हार्ट अटैक होने पर दो घंटे में इलाज हो तो बचना संभव

Bhaskar News Network

Sep 10, 2018, 05:06 AM IST

Patna News - हार्ट अटैक होने पर एक घंटे के अंदर एक तिहाई लोगों की मौत होने की आशंका रहती है। इसलिए हार्ट अटैक होने पर जितनी जल्द...

Patna - हार्ट अटैक होने पर दो घंटे में इलाज हो तो बचना संभव
हार्ट अटैक होने पर एक घंटे के अंदर एक तिहाई लोगों की मौत होने की आशंका रहती है। इसलिए हार्ट अटैक होने पर जितनी जल्द संभव हो इलाज शुरू होना चाहिए। गोल्डन आॅवर के अंदर यदि इलाज शुरू हो जाए तो मरीज की जान बचाने में काफी हद तक सफलता मिलने की उम्मीद रहती है। दो घंटे के अंदर भी इलाज शुरू हो जाए तो भी मरीज की जान बचाने में सफलता मिल सकती है। ये बातें डॉ. अशोक कुमार और डॉ. रवि विष्णु ने रविवार को इंडियन काॅलेज आॅफ कार्डियोलॉजी (बिहार) की ओर से आयोजित संगोष्ठी में कहीं। उन्होंने कहा कि हार्ट अटैक होने पर तुरंत अस्पताल पहुंचना चाहिए या अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए। गैस का दर्द समझकर उसे कतई नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यह घातक साबित हो सकता है।

डॉ. निशांत त्रिपाठी ने हार्ट फेल्योर पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि हार्ट फेल्योर के मरीज को पानी या अन्य द्रव्य चिकित्सक की सलाह पर ही लेनी चाहिए। अधिक पानी का सेवन भी नुकसानदेह साबित हो सकता है। हार्ट का वाल्ब खराब होने पर ऑपरेशन कब होना चाहिए इस पर डॉ. कुणाल कृष्ण ने विस्तार से चर्चा की। अध्यक्ष डॉ. बीपी सिन्हा ने कहा कि हृदय रोग के इलाज में रुचि रखने वाले फिजिशियन और इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट को इस रोग की विस्तार से जानकारी मिले और लोकहित में आम लोगों को इस रोग से बचाव के प्रति जागरूक करना इस संगठन का मकसद है।

पद्मश्री डॉ. एसएन आर्या, पद्मश्री डॉ. गोपाल प्रसाद सिन्हा, पद्मश्री डॉ. इंदुभूषण सिन्हा, डॉ. यूसी सामल, डॉ. बसंत सिंह, आईजीआईसी के डायरेक्टर डॉ. एसएस चटर्जी, डॉ. बीपी सिंह, डॉ. प्रभात कुमार, डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. बीबी भारती, डॉ. एके झा आदि ने संयुक्त रूप से संगोष्ठी का उद‌्घाटन किया। इस मौके पर डॉ. आर.के. अग्रवाल, डॉ. हरेंद्र कुमार, डॉ. के.के. वरूण, डॉ. विकास सिंह, डॉ. विपिन कुमार, डॉ. संदीप कुमार, डॉ. आशीष कुमार झा, डॉ. नरेंद्र कुमार, डॉ. अभिनव भगत, डॉ. एसएन आर्या आदि मौजूद थे। मंच का संचालन उपाध्यक्ष डॉ. अरविंद कुमार और धन्यवाद ज्ञापन सचिव डॉ. ए.के. झा ने किया।

X
Patna - हार्ट अटैक होने पर दो घंटे में इलाज हो तो बचना संभव
COMMENT