एनआईआरएफ / आईआईटी पटना की रैंकिंग बढ़ी, एनआईटी भी फिर से सूची में आया



IIT Patna's ranking rises, NIT also re-list
X
IIT Patna's ranking rises, NIT also re-list

  • पांच कैटेगरी में बिहार के छह संस्थानों ने किया था आवेदन
  • नौ कैटेगरी में जारी की गई है नेशनल रैंकिंग

Dainik Bhaskar

Apr 09, 2019, 04:42 AM IST

पटना. नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क की सूची में बिहार के संस्थानों का प्रदर्शन एक बार फिर निराश करने वाला है। नौ कैटेगरी में जारी हुई रैंकिंग में बिहार के संस्थानों ने चार कैटेगरी में आवेदन भी नहीं किया। कुल पांच कैटेगरी में सिर्फ छह संस्थानों ने बिहार से आवेदन किया था। हालांकि इंजीनियरिंग को छोड़ किसी दूसरी कैटेगरी के संस्थान रैंकिंग पाने में असफल भी रहे हैं। 

 

बिहार के शैक्षणिक संस्थानों के खराब प्रदर्शन के बीच आईआईटी पटना की रैंकिंग में सुधार हुआ है। 2016 में जारी हुई रैंकिंग में टॉप 10 इंजीनियरिंग कॉलेजों में शुमार हुए आईआईटी पटना की रैंकिंग लगातार तीन वर्षों तक गिरी। 2017 में आईआईटी पटना की रैंकिंग 19 थी तो 2018 में यह रैंकिंग 24 हो गई थी। लेकिन सोमवार को जारी हुई 2019 की रैंकिंग में आईआईटी पटना को 22वां स्थान मिला है। 2017 में ओवरऑल रैंकिंग में आईआईटी पटना को 83वां स्थान मिला था जबकि 2018 में 69वां। अब 2019 की ओवरऑल रैंकिंग में संस्थान को 58वां स्थान मिला है।


दूसरी ओर इस नेशनल रैंकिंग में एनआईटी पटना ने एक बार फिर वापसी की है। 2016 में जारी हुई रैंकिंग में एनआईटी पटना को 87वां स्थान मिला था। इसके बाद 2017 और 2018 की रैंकिंग में एनआईटी पटना को जगह नहीं मिली। लेकिन 2019 की रैंकिंग में एक बार फिर एनआईटी पटना को जगह मिल गई है। एनआईटी इंजीनियरिंग कॉलेजों की सूची में 134वें स्थान पर रहा है।

 

सीयूएसबी को इस बार भी नहीं मिली जगह

एनआईआरएफ ने जब 2016 में रैंकिंग की शुरुआत की थी तो बिहार से आईआईटी पटना और एनआईटी पटना के साथ सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार को भी जगह मिली थी। लेकिन 2017 और 2018 में सीयूएसबी को जगह नहीं मिली। यह सिलसिला 2019 में भी जारी है। आवेदन करने के बाद भी सीयूएसबी को किसी कैटेगरी में जगह नहीं मिली है। वहीं चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी भी देश के टॉप 15 विधि संस्थानों में शामिल नहीं हो सका है। इस कैटेगरी में सीएनएलयू ने आवेदन किया था लेकिन सफलता नहीं मिली। जबकि 100 साल से अधिक पुराने पटना ला कॉलेज और दूसरे संस्थान ने आवेदन ही नहीं किया।

 

नौ कैटेगरी में जारी की गई है नेशनल रैंकिंग
एनआईआरएफ की रैंकिंग इस बार भी पिछले साल की तरह नौ कैटेगरी में जारी की गई है। इसमें मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, फार्मेसी, मेडिकल, लॉ और आर्किटेक्चर के साथ ओवरऑल रैंकिंग दी गई है। इसके लिए इस साल बिहार से कुल छह संस्थानों ने पांच कैटेगरी में आवेदन किया था। इसमें कोई भी स्टेट यूनिवर्सिटी शामिल नहीं है। आईआईटी, एनआईटी, सीयूएसबी, सीएनएलयू के अलावा बिहार एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी और भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज ने इस बार आवेदन किया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना