राहत / बाढ़ व सुखाड़ प्रभावित इलाकों में किसानों को 15 तक मिलेंगे नि:शुल्क बीज

In flood and drought-hit areas, farmers will get up to 15 free seeds
X
In flood and drought-hit areas, farmers will get up to 15 free seeds

  • किसानों को फसल बीज नहीं दिया गया तो जिला कृषि पदाधिकारियों पर होगी कार्रवाई

दैनिक भास्कर

Aug 07, 2019, 07:58 PM IST

पटना.  राज्य में बाढ़ और सुखाड़ प्रभावित क्षेत्रों के किसानों को धान, मक्का सहित विभिन्न वैकल्पिक फसलों के बीज नि:शुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे। कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई बाढ़ व सुखाड़ की समीक्षा में 15 अगस्त तक संभावित सुखाड़ वाले जिलों में वैकल्पिक फसल बीज भेजने की निर्देश दिया था। कृषि मंत्री ने कहा है कि वैकल्पिक फसल बीज किसानों को नहीं दिया तो डीएओ, कृषि समन्वयक व बीएओ पर कार्रवाई की जाएगी।

 

कृषि विभाग ने आकस्मिक फसल योजना के लिए 20 करोड़ रुपए की राशि का प्रावधान किया है। बाढ़ प्रभावित 11 जिलों के लिए बिहार राज्य बीज निगम अल्प अवधि के संकर धान बीज 2400 क्विंटल ओर प्रमाणित धान के बीज 505 क्विंटल यानी 2905 क्विंटल धान बीज भेजे गए हैं। बाढ़ प्रभावित जिलों में शिवहर, सीतामढ़ी, अररिया, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, सुपौल, कटिहार, किशनगंज व पश्चिम चंपारण के किसानों को धान के बीज दिए जा रहे हैं।

 

संभावित सुखाड़ वाले जिलों के डीएओ की मांग के अनुसार मक्का 3180 क्विंटल, अरहर 3000 क्विंटल, कुल्थी 2230 क्विंटल, तोरिया 2000 क्विंटल, मटर 1000 क्विंटल व उड़द के 800 क्विंटल बीज तत्काल उपलब्ध कराया जा रहा है। मंत्री ने निर्देश दिया है कि किसी भी परिस्थिति में किसानों को आवश्यक वैकल्पिक बीज नहीं उपलब्ध कराया गया और बीज शेष रह गए तो जिला कृषि पदाधिकारी, कृषि समन्वयक व प्रखंड कृषि पदाधिकारियों के वेतन से बीज की राशि वसूली जाएगी।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना