पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेल में मोबाइल की बरामदगी के मामले में अनुसंधानकर्ता ने दी गवाही, तिथि निर्धारित

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के आपराधिक मामलों की सुनवाई कर रही जेल के अंदर गठित विशेष अदालत में गुरुवार को जिला प्रशासन के निर्देश पर छापेमारी में मोबाइल आदि की बरामदगी से जुड़े मामले में गुरुवार को कांड के अनुसंधानकर्ता ने अपनी गवाही दर्ज कराया। छापामारी के गस्ती दल में मुफस्सिल थाना के तत्कालीन थाना प्रभारी रामकुमार सिंह भी उपस्थित थे। बतौर अनुसंधानकर्ता राम कुमार सिंह ने विशेष न्यायिक दंडाधिकारी विजय कुमार मिश्र की अदालत में अपनी गवाही विशेष लोक अभियोजक जय प्रकाश सिंह की उपस्थिति में दर्ज कराया। गवाही के समय तिहाड़ जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मोहम्मद शहाबुद्दीन भी विशेष अदालत में उपस्थित थे। अभियुक्त मोहम्मद शहाबुद्दीन की उपस्थिति में मुख्य परीक्षण के दौरान अनुसंधानकर्ता सह मामले के गवाह राम कुमार सिंह ने प्राथमिकी का समर्थन किया। मोहम्मद शहाबुद्दीन के अधिवक्ता बचाव का पक्ष रखते हुए गवाह से जिरह किया जो पूरा नहीं किया जा सका।

दूसरी तिथि तय की ग

अदालत ने बाकी जिरह पूरा करने के लिए दूसरी तिथि निर्धारित कर दिया। इसी अदालत में आर्म्स एक्ट, हिरण बरामदगी के मामले एवं अन्य तीन मामलों में भी संक्षिप्त सुनवाई की गई। उधर विशेष सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार शुक्ला की अदालत में राजीव रोशन हत्याकांड के मामले में आंशिक सुनवाई हुई। मामले में गवाही के लिए तिथि पूर्व से निश्चित थी। किंतु पूर्व से दाखिल प्रलेखों पर आंशिक बहस किया गया। इसी अदालत में राजीव रोशन हत्याकांड से ही जुड़े एक दूसरे मामले अखलाक एवं चंदन के मामले में संक्षिप्त सुनवाई की गई। अदालत में अभियोजन की ओर से अपर लोक अभियोजक रघुवर सिंह तथा मोहम्मद मोबीन भी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...