रग्बी पर बननेवाली फिल्म के लिए स्कूल जा रहा था जैकी, गेट के पास हो गई हत्या

Patna News - क्राइम रिपोर्टर | पटना / बाढ़ रग्बी फुटबाल के राष्ट्रीय खिलाड़ी जैकी कुमार चंद्रवंशी के नाना सुरेश की बारह दिन...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:45 AM IST
Patna News - jackie was going to school for rugby film making gate killed
क्राइम रिपोर्टर | पटना / बाढ़

रग्बी फुटबाल के राष्ट्रीय खिलाड़ी जैकी कुमार चंद्रवंशी के नाना सुरेश की बारह दिन पहले मौत हो गई थी। वे बाढ़ में थाना के पास रहते थे। मंगलवार को ही सुरेश का ब्रह्मभोज था। इसकी तैयारी मंगलवार सुबह से ही उनके घर पर चल रही थी। संत जोसेफ स्कूल में रग्बी पर फिल्म बनने के बाद वह भी नाना के घर जाने वाला था पर ऐसा नहीं हो सका। जैकी नाना के घर तो नहीं जा सका बल्कि उसे ही अपराधियों ने गोली मार कर मौत की नींद सुला दी। फिल्म बनाने के लिए पटना से लोग बाढ़ के लिए रवाना हो चुके थे। कुछ स्कूल पहुंच भी गए थे। होनहार खिलाड़ी जैकी के आने के बाद फिल्म बननी शुरू हो जाती। उसने ही आने में देर कर दी। स्कूल में करीब 40 पुरुष व महिला रग्बी के खिलाड़ी उसके आने का इंतजार कर ही रहे थे कि अचानक गोली चलने की आवाज सुनाई दी। छात्र स्कूल से निकल बाहर गए तो देखा कि स्कूल गेट के चंद मीटर जैकी खून से लथपथ गिरा हुआ है। फिर क्या था, स्कूल में मौजूद खिलाड़ियों में अफरातफरी मच गई। डॉक्टरों ले जब उसे मृत घोषित किया तो खिलाड़ी सदमे में अा गए। सभी एक-दूसरे से लिपटकर रोने लगे।

मां के सूख गए आंसू

घटना की सूचना मिलने के बाद जैकी की मां बबीता देवी सदर अस्पताल पहुंच गई। जवान बेटे के शव को देखने के बाद मां को ऐसा सदमा लगा कि उसकी आंख से आंसू नहीं गिरे। मां को नहीं लगा रहा था कि उसके बेटे की हत्या हो चुकी है। वह बार-बार अपने परिजनो को कह रही थी एंबुलेंस मंगवाओ, जैकी को जल्दी पटना ले जाना है। पैसा हमारे पास है जितना खर्च होगा हम करेंगे। करीब आधे घंटा के बाद मां काे परिजन ई रिक्शा पर बैठाकर घर ले गए। मां के पीछे से जैकी का शव घर ले जाया गया। शव आंगन मे पहुंचते ही मुहल्ले के लोग बिलखने लगे। मां शव को आंगन में भी देख नहीं रो रही थी। बबीता के साथ कोई अनहोनी न हो जाए, इसलिए लोग उन्हें रुलाने की कोशिश कर रहे थे। बहन शांति कुमारी भाई का शव देख दहाड़ मारकर रोने लगी।

किसी ने फोन कर मैदान में बुलाया और मार दी गोली

गाड़ी की चाबी व मोबाइल पास मंे था, पर बाइक थी सड़क पर

जैकी अपने बड़े भाई की बाइक और उसी की कैप लगाकर घर से संत जोसेफ स्कूल के लिए घर से स्नान कर निकला था। उसकी हत्या होने की सूचना मिलने के बाद पुलिस पहुंची। मंगलवार को बाढ़ में बीएसएनएल का मोबाइल ठप रहने की वजह से अन्य पुलिस अधिकारियों को आने में देर हुई। पुलिस ने जांच में पाया कि बाइक की चाबी और मोबाइल उसके पास था पर उसकी बाइक सड़क किनारे लगी थी। सड़क से चंद मीटर दूर स्कूल गेट से सटे मैदान में वह खून से लथपथ था। बताया जा रहा है कि उसे किसी ने फोन कर मैदान में बुलाया। उसने बाइक सड़क पर लगाई। जैसे ही वह मैदान में पहुंचा, पहले से घात लगाए अपराधियों ने उसे गोली मार दी और फरार हो गए। जैकी की बाइक पुलिस ने जब्त कर थाने पहुंचा दिया। थानाध्यक्ष का कहना है कि पुलिस जांच के बाद जल्द ही हत्यारों का सुराग तलाश लेगी। इस हत्या मंे किसी दबंग के शामिल होने से पुलिस ने साफ इनकार कर रही है। हत्या का कारण विवाद को ही मानकर ही पुलिस अनुसंधान कर रही है। उन्होंने बताया कि परिजनों द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने हेतु आवेदन देने के बाद ही मामले का खुलासा हो सकता है। इस बीच शहर मंे चर्चा है कि इस हत्याकांड को राजनीतिक रूप देने की कोशिश पर्दे के पीछे से की जा रही है।

मोबाइल के सीडीआर से खुलेगा हत्या का राज

जैकी की हत्या का राज उसी के पास से बरामद मोबाइल के सीडीआर से खुलेगा। पुलिस भी इसी बात का मान रही है। वैसे पुलिस ने घटनास्थल के पास कई सीसीटीवी कैमरे को खंगाला पर पुलिस को काेई ठोस सुराग नहीं मिला। कुछ तस्वीर कैद हुई है पर वह साफ नहीं है।

पिता और परिवार वालों का सपना अधूरा रह गया

भले की जैकी के पिता राजाराम कारीगर का काम करते हैं पर उन्होंने तीनों बेटों और बेटी के पालन-पोषण में कोई कमी नहीं की। जैकी बचपन से ही स्पोर्ट्स के प्रति आकर्षित था। पिता व घर वालों ने उसकी प्रतिभा पहचान ली थी। पढ़ाई में ठीक था पर उसका खेल में अधिक रूचि थी। पिता से जो हो सका, उन्होंने जैकी के लिए किया। पिता और परिवार वालों को यकीन हो गया था कि जैकी एक दिन रग्बी का बड़ा खिलाड़ी बनेगा। वह देश-दुनिया में बाढ़ के साथ ही परिवार का नाम रोशन करेगा। बाढ़ में पिता और परिवार की पहचान जैकी से होने लगी थी। लोग उसके घर का पता रग्बी वाले जैकी से पूछते थे। पिता और परिवार का सपना था कि जैकी एक दिन बड़ा खिलाड़ी बनेगा, जिससे उनके अच्छे दिन आ जाएंगे पर सबों का सपना अधूरा रह गया। पिता की कमाई से ही पूरे परिवार का खर्च चलता है।

पुरानी रंजिश तो नहीं... करीब डेढ़ माह पूर्व बड़े भाई से कुछ लोगों का हुआ था झगड़ा

जैकी के मौसेरे भाई सूरज ने बताया कि करीब डेढ़ माह पहले बड़े भाई रवि एक चारपहिया वाहन से अपने कुछ दोस्तों के साथ गुलाबबाग की तरफ गया था। जहां एक बाइक सवार से झगड़ा हुआ था। जिसके बाद फिर उसी दिन शाम मंे बाजार चौक के पास एक बार फिर दोनों पक्ष के लोग आमने-सामने हो गए थे और फायरिंग की भी घटना हुई थी। जिसके बाद रवि के परिजनों ने रवि को कुछ दिनों के लिए कहीं बाहर भेज दिया था। हालांकि बाहर मंे कुछ दिन रहने के बाद रवि एकबार फिर करीब दस दिनों पूर्व अपने घर वापस लौट गया, जिसके बाद आठ दिन पूर्व रवि वैष्णोधाम मंदिर के पास बैठा था जहां गुलाबबाग निवासी कुछ लोगों ने रवि की पिटाई कर दी थी।

Patna News - jackie was going to school for rugby film making gate killed
X
Patna News - jackie was going to school for rugby film making gate killed
Patna News - jackie was going to school for rugby film making gate killed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना