राजनीति / लोकसभा और राज्यसभा में तीन तलाक के खिलाफ वोट करेगा जदयू: त्यागी



jdu will vote against triple talaq in lok sabha and rajya sabha
X
jdu will vote against triple talaq in lok sabha and rajya sabha

  • नीतीश पहले ही विधि आयोग को लिख चुके हैं पत्र
  • परिवर्तन से पहले देश में एक आम सहमति बनना जरूरी 

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 07:32 PM IST

पटना। जदयू ने तीन तलाक और समान नागरिक संहिता के मामले में अल्पसंख्यक समुदाय पर जबरन फैसला थोपने का विरोध किया है। जदयू के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि किसी भी परिवर्तन से पहले देश में एक आम सहमति बनना जरूरी है। बिना विस्तृत विचार विमर्श और एकमत बनाए इसे थोपा नहीं जाना चाहिए। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने भी विधि आयोग को पत्र कर अपनी राय जाहिर कर दी थी। तीन तलाक के मौजूदा कानून का प्रारूप नामंजूर है। जदयू लोकसभा और राज्यसभा में इसका विरोध करेगा।

 

त्यागी ने कहा कि पार्टी देश में सकारात्मक बदलाव लाने के सभी प्रयासों का स्वागत करती है। लेकिन धार्मिक मान्यताओं, विशेष तौर पर अल्पसंख्यक समुदायों पर जबरन थोपे जाने वाले ऐसे किसी प्रस्ताव पर घोर चिंता व्यक्त करती है। तीन तलाक एक सामाजिक मुद्दा है। तीन तलाक के मुद्दे को सामाजिक स्तर पर समाज के द्वारा सुलझाया जाना चाहिए।

 

त्यागी ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 44 के अंतर्गत समान नागरिक संहिता को लागू करने से पहले देश में आम सहमति बनाना आवश्यक है। ऐसा नहीं होने से यह कदम संविधान प्रदत्त धार्मिक स्वतंत्रता में लोगों की मौजूदा आस्था को ठेस पहुंचाने वाला साबित हो सकता है। जदयू का दृढ़ मत है कि समान नागरिक संहिता, तीन तलाक या धार्मिक भावनाओं से जुड़े किसी भी मुद्दे पर हर पक्ष से रचनात्मक संवाद स्थापित करने के बाद ही ऐसा कोई कानून बने। देश की संसद, राज्यों की विधानसभाएं, विधान परिषद और नागरिक समाज में व्यापक बहस के बाद ही किसी प्रकार का कानून बने।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना