कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे जेई का मानदेय 9000 रुपए तक बढ़ा

Patna News - जल संसाधन में कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे जूनियर इंजीनियरों के मानदेय में इजाफा किया गया है। कैबिनेट ने शुक्रवार को...

Sep 14, 2019, 09:06 AM IST
जल संसाधन में कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे जूनियर इंजीनियरों के मानदेय में इजाफा किया गया है। कैबिनेट ने शुक्रवार को इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इसके तहत नवनियुक्त जूनियर इंजीनियर को प्रतिमाह 27 हजार रुपए ही मिलेंगे। वहीं 3 साल से काम कर रहे जेई को 31 हजार, जबकि 6 साल से काम कर रहे जेई को 36 हजार रुपए मिलेंगे। पहले मानदेय में इजाफे का कोई निश्चित मापदंड नहीं था।

आयुष डॉक्टरों को मिलेगी डायनेमिक एसीपी : राज्य में आयुष डॉक्टरों को भी एलोपैथिक डॉक्टरों के ही समान डायनेमिक एसीपी मिलेगी। इसका लाभ यूनानी, होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक चिकित्सकों को मिलेगा। आयुष डॉक्टरों को हर 4 साल के अंतराल पर एसीपी मिलेगी।

माध्यमिक शिक्षकों का वेतन संकट टला : समग्र शिक्षा के तहत कार्यरत माध्यमिक शिक्षकों का वेतन संकट टल गया है। केंद्र से वेतन की राशि मिलने तक राज्य सरकार अपने खजाने से 67 करोड़ रुपए देने का फैसला लिया है। इसी तरह जिला अपीलीय प्राधिकार में नियुक्त 59 पीठासीन पदाधिकारियों को कार्यरत रखने का फैसला लिया गया है।

एक से भू-अर्जन निदेशालय और विशेष भू-अर्जन कार्यालय बंद

राज्य में 1 अक्टूबर से जल संसाधन विभाग की परियोजनाओं के लिए बनाए गए भू-अर्जन निदेशालय और सभी विशेष भू-अर्जन कार्यालय बंद कर दिए जाएंगे। इसी के साथ वहां तैनात भू-अर्जन व पुनर्वास निदेशक के एक पद को भी समाप्त कर दिया जाएगा। कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। जमीन अधिग्रहण के पुराने और नए सभी मामलों को निपटारा जिला भ-अर्जन पदाधिकारी ही करेंगे। भू-अर्जन निदेशालय के तहत विभिन्न जिलों में तैनात 892 कर्मियों में से 848 पदों और वहां तैनात 179 की सेवा राजस्व और भूमि सुधार विभाग को सौंप दी जाएगी। भू-अर्जन निदेशालय का गठन 1956 में हुआ था। इसे वर्ष 2013 में बंद करने का फैसला लिया गया था।

कैबिनेट के अन्य फैसले


X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना