पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जूनियर डॉक्टरों का कार्य बहिष्कार, 7 ऑपरेशन टले; हड्डी विभाग के हेड को हटाने की मांग

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पटना. पीएमसीएच के जूनियर डॉक्टरों ने शुक्रवार की शाम से अपनी मांगों के समर्थन में कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया है। हड्डी विभाग के पीजी छात्रों ने विभागाध्यक्ष डॉ. विजय कुमार को हटाने की मांग को लेकर शुक्रवार को प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी का घेराव किया। बाद में वार्ता भी हुई पर विफल रही। इसके बाद इनके समर्थन में जूनियर डॉक्टर भी अा गए और शाम से कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया। यह कार्य बहिष्कार शनिवार की सुबह तक जारी रहेगा। जेडीए की शनिवार को बैठक होगी उसी निर्णय लिया जाएगा कि कार्य बहिष्कार जारी रहेगा या खत्म होगा।

 

हड्डी विभाग के फेल पीजी छात्रों का आरोप है कि उन्हें जानबूझकर फेल किया गया है। उनकी कॉपी दोबारा जांच की जाए। वेे हेड से मिलने गए तो उन्होंने रजिस्ट्रेशन रद्द करने की धमकी दे दी और बदसलूकी करने की भी शिकायत कर दी है। एेसे एचअोडी में हमलोग कार्य नहीं कर सकते हैं। यह भी आरोप लगाया कि बाहर की दवा लिखने के लिए दबाव डाला जाता है। 

 

तीन सदस्यीय कमेटी बनी
प्राचार्य ने इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है। इसमें गाइनी, मेडिसिन और सर्जरी विभाग के हेड को रखा गया है। कमेटी 24 घंटे में रिपोर्ट देगी। डॉ. चौधरी ने कहा कि सभी एचअोडी को निर्देश दिया गया है कि इमरजेंसी में वे सीनियर रेजिडेंट को तैनात कर दें। उनकी तैनाती भी हो गई है। इमरजेंसी में अाने वाले मरीज का इलाज हो रहा है। 
 

नहीं हो रही हैं नियमित कक्षाएं, इसलिए बहिष्कार
शुक्रवार कार्य बहिष्कार से हड्डी विभाग में सात ऑपरेशन स्थगित करने पड़े। हालांकि जेडीए के डॉ. शंकर भारती का कहना है कि जेडीए ने सुरक्षा व्यवस्था दुरूस्त करने, अोपीडी को दलालों से मुक्त कराने और शैक्षणिक माहौल ठीक करने की मांग को लेकर कार्य बहिष्कार किया गया है। उन्होंने कहा कि नियमित कक्षाएं नहीं हो रही है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिवार में प्रॉपर्टी या किसी अन्य मुद्दे को लेकर जो गलतफहमियां चल रही थी आज वह किसी की मध्यस्थता से दूर होंगी। जिसकी वजह से परिवार का माहौल शांतिपूर्ण हो जाएगा। घर में नवीनीकरण या परिवर्तन सं...

और पढ़ें