पटना

  • Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - कजरा-पीरपैंती बिजलीघर होगा एनटीपीसी के हवाले, कैबिनेट को भेजा जाएगा प्रस्ताव
--Advertisement--

कजरा-पीरपैंती बिजलीघर होगा एनटीपीसी के हवाले, कैबिनेट को भेजा जाएगा प्रस्ताव

प्रस्तावित कजरा-पीरपैंती बिजलीघर एनटीपीसी के हवाले होगा। यह प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के लिए जल्द जाएगा। इसके...

Danik Bhaskar

Sep 10, 2018, 05:07 AM IST
प्रस्तावित कजरा-पीरपैंती बिजलीघर एनटीपीसी के हवाले होगा। यह प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के लिए जल्द जाएगा। इसके बाद बिजलीघरों का निर्माण एनटीपीसी अपने स्तर से करेगा। दोनों दोनों जगहों पर सौर ऊर्जाघर लगना है। पिछले दिनों राज्य मंत्रिपरिषद ने दोनों स्थानों पर सौर बिजलीघर लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। पहले यहां थर्मल पावर प्लांट लगाने की योजना थी। पीरपैंती के लिए एनएचपीसी से और कजरा के लिए एनटीपीसी से एमओयू किया गया था।

बिहार की तय की गई थी 85 फीसदी हिस्सेदारी

लखीसराय के कजरा और भागलपुर के पीरपैंती में 1320-1320 मेगावाट क्षमता का बिजलीघर स्थापित होना था। इनमें 85 फीसदी हिस्सेदारी बिहार की तय की गई थी। हालांकि, इनके निर्माण के लिए एमओयू की अवधि 22 फरवरी, 2016 को ही खत्म हो गई थी। इसके बाद बिहार ने केंद्र सरकार से इसके विस्तार का अनुरोध किया था। बाद में दोनों जगहों पर थर्मल पावर प्लांट के स्थान पर सोलर पावर प्लांट लगाने का निर्णय लिया गया।

चौसा में शुरू हुआ निर्माण कार्य

वर्ष 2007-08 में बिहार के तीन स्थानों बक्सर के चौसा लखीसराय के कजरा और भागलपुर के पीरपैंती में बिजलीघर निर्माण की योजना बनी थी। चौसा के लिए सतलज जल विद्युत निगम से समझौता किया गया और वहां तेजी से काम भी शुरू हो गया। पर कजरा-पीरपैंती में बात आगे नहीं बढ़ सकी। चौसा एमओयू की अवधि 17 जनवरी, 2020 तक के लिए बढ़ा भी दी गई।

Click to listen..