खतियानी नक्शे पर होगी नालों की जांच, तोड़े जाएंगे अतिक्रमण

Patna News - राजधानी के नालों को अतिक्रमणमुक्त करने का अभियान 13 नवंबर से शुरू हो रहा है। दो चरणों में चलने वाले इस अभियान में...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 09:31 AM IST
Patna News - khatiyani will be examining drains on the map encroachments will be broken
राजधानी के नालों को अतिक्रमणमुक्त करने का अभियान 13 नवंबर से शुरू हो रहा है। दो चरणों में चलने वाले इस अभियान में बादशाही पईन समेत सभी नौ बड़े नालों से अतिक्रमण हटाया जाएगा। इसके लिए जल संसाधन विभाग, जिला प्रशासन, नगर निगम व पथ निर्माण विभाग की संयुक्त नौ टीमों का गठन किया गया है। रविवार को प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने मुख्य नालों की उड़ाही के लिए अतिक्रमित भूमि को चिह्नित करने के काम की समीक्षा की।

प्रमंडलीय आयुक्त ने निर्देश दिया कि बादशाही पईन के अलावा आनंदपुरी नाला, पटेल नगर नाला, सैदपुर नाला सैदपुर से शनिचरा तक, योगीपुर संप हाउस से बाइपास होते हुए पहाड़ी तक अवस्थित एनबीसीसी द्वारा निर्मित नाला, नंदलाल छपरा से मीठापुर तक बाइपास के किनारे अवस्थित नाला, कुर्जी नाला, दीघा-आशियाना रोड नाला और एयरपोर्ट से राजधानी वाटिका होते अशोक राजपथ तक सर्पेंटाइन नाला अाैर मंदिरी नाला के विस्तृत सर्वेक्षण का निर्देश दिया गया है। प्रमंडलीय आयुक्त ने खतियानी नक्शे के आधार पर नाले की जांच कराने का आदेश दिया है। समीक्षा के क्रम में आयुक्त ने कहा कि नालों को भरकर कल्वर्ट व पुल बना दिया गया है। कहीं-कहीं तो अतिक्रमण कर मिट्टी भरकर नालों के ऊपर रोड बना दिया गया है। इस प्रकार के कच्चे-पक्के अतिक्रमण को हटाया जाएगा। प्रमंडलीय आयुक्त ने बादशाही पईन व सभी नालों से अतिक्रमण हटाकर उड़ाही कराने का निर्देश दिया, जिससे पानी का प्रवाह लगातार होता रहे। जलजमाव की समस्या उत्पन्न न हो। आयुक्त ने कहा कि पहले बादशाही पईन से अतिक्रमण हटाया जाएगा। इसके बाद सभी मुख्य नालों से अतिक्रमण हटाकर उड़ाही की जाएगी।

एसडीओ के नेतृत्व में होगा नालों का सर्वेक्षण

प्रमंडलीय आयुक्त ने निर्देश दिया कि सदर अंचल के नालों का सर्वेक्षण अनुमंडल पदाधिकारी के नेतृत्व में किया जाएगा। अतिक्रमण अभियान चलाने के पहले सभी मकान मालिकों को खुद ताेड़ने काे कहा जाएगा। सभी नौ नालों का सर्वे फुट पेट्रोलिंग के जरिए कराने को कहा गया है। नाले के किनारे खाली जगह को भी अतिक्रमण माना जाएगा। ऐसे नाले जिन पर निजी भवन बनाए गए है, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर चिह्नित किया जाएगा। अभियान में बाधा पहुंचाने वालों पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

दो चरणों में सख्ती से चलाएंगे अभियान

अभियान का पहला चरण 13 से 20 नवंबर तक चलेगा। दूसरा चरण 29 व 30 नवंबर को चलाया जाएगा। आयुक्त ने उड़ाही का जिम्मेदारी किसी अभियंता को और पूरे अभियान के पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी एसडीओ व डीसीएलआर को दी है, ताकि कार्य को समय पर पूरा करने में मदद मिले।

बादशाही पईन से हटेंगे चिह्नित 84 निर्माण

प्रमंडलीय आयुक्त ने एडीएम विधि व्यवस्था, एसडीओ पटना सदर और पटना सदर के सीओ को निर्देश दिया कि नंदलाल छपरा में आधा किलोमीटर बादशाही नाला की मापी में पाए गए पांच पक्का मकानों को हटाया जाए। इसी तरह संपतचक और फुलवारीशरीफ सीओ को उनका काम दिया।

X
Patna News - khatiyani will be examining drains on the map encroachments will be broken
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना