• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News killed my brother who came to collect the outstanding money kidnapped himself in the police station demanded a ransom of 30 lakhs by calling his uncle arrested

बकाया रुपए लेने आए ममेरे भाई की हत्या की, खुद थाने पहुंच अपहरण का केस किया, मामा से फोन कर मांगी 30 लाख की फिरौती, गिरफ्तार

Patna News - क्राइम रिपोर्टर | पटना/फतुहा कर्ज में डूबे दिव्यांग फुफेरे भाई ने बकाया रुपए लेने अाए ममेरे भाई की चार...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:12 AM IST
Patna News - killed my brother who came to collect the outstanding money kidnapped himself in the police station demanded a ransom of 30 lakhs by calling his uncle arrested
क्राइम रिपोर्टर | पटना/फतुहा

कर्ज में डूबे दिव्यांग फुफेरे भाई ने बकाया रुपए लेने अाए ममेरे भाई की चार अपराधियाें के साथ मिलकर हत्या कर दी। उसके बाद खुद थाने पहुंचकर ममेरे भाई के अगवा हाेने की प्राथमिकी दर्ज करवाई अाैर मामा से फाेन कर 30 लाख रुपए की फिराैती मांगी। मामले में पटना पुलिस की टीम ने आरोपी फुफेरे भाई सहित तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया। तीन की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। मृतक की पहचान लखीसराय के सूर्यगढ़ा के रहने वाले पवन सिंह के 20 वर्षीय इकलौते पुत्र सत्यम के रूप में हुई है। पुलिस ने जमुई के रहने वाले फुफेरे भाई राजीव के साथ नवादा के नवलेश और गायघाट के आदित्य को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। राजीव नगर के रोड नंबर 21 में रहने वाला राजीव छाेटा-माेटा ठेका लेता है। वहीं अपराधी नवलेश बेउर इलाके में किराए के मकान में रहता है।

सत्यम

पिता का बकाया 50 हजार रुपए लेने पटना पहुंचा था सत्यम

राजीव का बायां हाथ पोलियोग्रस्त है। वह पटना में ठेकेदारी करता है। घाटा लगने से वह कर्ज में डूब गया था। कई महीने पहले उसने मामा पवन से 50 हजार रुपया कर्ज लिया था। इधर, सत्यम के कहने पर पिता पवन ने व्यवसाय के लिए बाेलेरो खरीदा था और उन्हें पैसे की जरूरत थी। इसी लिए सत्यम 25 अगस्त को पिता का बकाया 50 हजार रुपए मांगने के लिए फुफेरे भाई के राजीव नगर स्थित घर पहुंचा था। 26 को राजीव ने मामा पवन को फोन कर कहा था कि पैसे की व्यवस्था होते ही सत्यम को भेज देंगे। इसके बाद राजीव ने साजिश रची।

बेउर में हत्या कर शव को बक्से में बंदर कर पहुंचा फतुहा और नदी में फेंक दिया

27 की रात राजीव सत्यम को पार्टी के बहाने बेउर स्थित नवलेश के कमरे पर ले गया। वहां दोस्तों के साथ मिलकर सत्यम की हत्या कर दी। 28 की सुबह शव को बड़े बक्से में बंद कर उजले रंग की स्काॅर्पियो से सभी फतुहा पुल पर पहुंचे और बक्से को पुनपुन नदी में फेंक दिया। 29 को लोगों की नजर तैरते बक्से पर पड़ी। फतुहा पुलिस ने बक्से को नदी से निकाला। मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी।

थाने पहुंच दर्ज कराया अपहरण का केस

हत्या के बाद राजीव फिरौती वसूलने की साजिश के तहत 31 अगस्त को राजीव नगर थाने पहुंचा और सत्यम के अपहरण का केस किया। साथ ही मामा को फोन पर बताया कि सत्यम का अपहरण हो गया। फिरौती के लिए शातिरों ने नया मोबाइल नंबर लिया। एसबीआई में नवलेश ने खाता खोला ताकि रकम मंगाई जा सके। नए नंबर से 3 सितंबर को सत्यम के पिता को फोन कर 30 लाख की फिरौती मांगी। इसके बाद पवन पटना पहुंचे और पुलिस को पूरी घटना बताई। बात एसएसपी तक पहुंची। एसएसपी ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया।

अपराधियों से साठगांठ के चलते पकड़ा गया राजीव

फिरौती मांगे जाने के बाद पुलिस राजीव पर भी नजर रख रही थी। जिस मोबाइल से फिरौती मांगी गई थी वह बंद था। पुलिस को पता चला कि राजीव की ससुराल नवादा में है और नवलेश वहीं का है। पुलिस ने नवलेश और आदित्य को गिरफ्तार किया। पूछताछ के बाद नवलेश ने पूरी घटना मानी और पुलिस ने राजीव को गिरफ्तार किया।

X
Patna News - killed my brother who came to collect the outstanding money kidnapped himself in the police station demanded a ransom of 30 lakhs by calling his uncle arrested
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना