कृष्ण मुरारी पाण्डेय | सीवान

Patna News - सीवान में बिना जांचे-परखे 4 साल से किराए पर चलती रही बाइक के नंबर प्लेट वाली डीआरडीए निदेशक की स्काॅर्पियो, अब जांच...

Dec 04, 2019, 09:31 AM IST
सीवान में बिना जांचे-परखे 4 साल से किराए पर चलती रही बाइक के नंबर प्लेट वाली डीआरडीए निदेशक की स्काॅर्पियो, अब जांच के नाम पर चुप हंै अधिकारी


कृष्ण मुरारी पाण्डेय | सीवान

जिला प्रशासन द्वारा सरकारी कार्यालयों में किराये अथवा लीज पर लिए जाने वाले वाहनों के मामले में मुख्य सचिव परिवहन विभाग के निर्देशों का खुलआम उल्लंघन किया जा रहा है। पिछले करीब 4 सालों से किराये में बाइक के नम्बर पर चल रही निदेशक डीआरडीए की स्कार्पियो इसका इसका उदाहरण है। जिला परिवहन पदाधिकारी ने पल्ला झाड़ना शुरु कर दिया है। ड गाड़ी निदेशक डीआरडीए के उपयोग में है। इसलिए इस मामले में डीआरडीए निदेशक ही जांच कराएं और दोषी स्कार्पियो आर्नर पर आवश्यक कार्रवाई करें। इस बात की जांच होनी ही चाहिए कि 4 साल तक बाइक के नम्बर पर स्कार्पियो कैसे चलती रही और 4 साल बाद रजिस्ट्रेशन कराना क्यों जरूरी समझा गया।

भाड़े में बाइक के नम्बर पर चल रही डीआरडीए निदेशक की स्काॅर्पियो का मामला, सचिव का निर्देश-सरकारी कार्यालयों में लीज पर पीले नम्बर प्लेट वाले व्यवसायिक वाहन का ही करना है उपयोग

जिला प्रशासन के वाहन पर चढ़ा मोटरसाइकिल नंबर।

खड़े हो रहे हैं कई सारे सवाल, जिनके जवाब का है लोगों को इंतजार







पीले नम्बर प्लेट वाले ही व्यवसायिक वाहन ही लेने हैं उपयोग में

परिवहन विभाग बिहार के मुख्य सचिव के निदेशानुसार विभागीय पत्रांक 4989 दिनांक 5.7.2019 द्वारा बिहार सरकार के विभिन्न कार्यालयों के अन्तर्गत सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, पुलिस महानिदेशक एवं सभी विभागों के प्रबंधक निदेशक को स्पष्ट आदेश है। लीज पर पीले नम्बर प्लेट वाले व्यवसायिक वाहन का ही उपयोग कराना है।

जांच के घेरे में आयेगी एजेंसी

जानकारों की माने तो इस मामले में उस एजेंसी के भी जांच के घेरे में आने की संभावना है, जहां से गाड़ी खरीदी गई। चार साल तक बाइक के नम्बर पर स्कार्पियो चलती रही और एजेंसी ने इसकी परवाह क्यों नहीं की। गाड़ी खरीदने पर करीब 30 दिन का टीआर एजेंसी से मिलता है, इस अवधि में गाड़ी ऑनर को गाड़ी का रजिस्ट्रेशन करा लेना होता है।

प्रत्येक वर्ष टेण्डर हुआ होता तो नहीं होती यह गड़बड़ी

बताते हैं कि सरकारी कार्यालयों में किराये अथवा लीज सिर्फ पीले नम्बर प्लेट वाले व्यवसायिक वाहनों को ही उपयोग में लाना होता है। इसके लिए भी प्रत्येक वर्ष टेण्डर होता है और टेंडर के लिए गठित कमिटी ही गाड़ी को सरकारी कार्यालय में उपयोग में लाने के लिए अनुमोदित करती है। जब प्रत्येक वर्ष इस नियम का पालन होता रहा तो कैसे 4 चाल तक निदेशक डीआरडीए की भाड़े की स्कार्पियो बाइक के नम्बर पर चलती रही।

क्या कहते हैं जिला डीटीओ


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना