Hindi News »Bihar »Patna» भिक्षाटन कर विधवा मां, भाई और दो बहनों का पेट भरता है दिव्यांग श्रीराम

भिक्षाटन कर विधवा मां, भाई और दो बहनों का पेट भरता है दिव्यांग श्रीराम

जिले के अधौरा थाना क्षेत्र के डुमरैठ पंचायत के भुइफोर गांव निवासी स्वर्गीय महेंद्र उरांव का 16 वर्षीय पुत्र...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 02:00 AM IST

भिक्षाटन कर विधवा मां, भाई और दो बहनों का पेट भरता है दिव्यांग श्रीराम
जिले के अधौरा थाना क्षेत्र के डुमरैठ पंचायत के भुइफोर गांव निवासी स्वर्गीय महेंद्र उरांव का 16 वर्षीय पुत्र श्रीराम उरांव अपनी मां माता सावित्री कुंवर, छोटे भाई मंगरु राम व दो छोटी बहनों चटनी और गंगिया का परवरिश भिक्षाटन कर के करता है। गुरुवार को दोनों पैरों से दिव्यांग श्रीराम पर जब भगवानपुर की मुख्य सड़क के आसपास भिक्षा मांगते लोगों की नजर पड़ती है तो कुछ पल के लिए उनकी नजर थम जाती है। कुछ लोग उससे पूछताछ करने लगते हैं कि सरकार द्वारा तुमको कोई सुविधा मिली है या नहीं। इस पर दिव्यांग श्रीराम कहता है कि जब भगवान ने मुझे दोनों पैरों से दिव्यांग कर दिया है तो फिर सरकार कितना सहयोग कर पाएगी। उसने बताया कि सरकार से उसे विकलांग पेंशन 5 या 6 महीने पर 2800 रुपये मिलते हैं। जब मैं छोटा था उसी समय लकवा लग गया। कुछ दिनों बाद मेरे पिता की मृत्यु हो गई। मैं अपने परिवार का बड़ा सदस्य हूं। अपनी मां, भाई और बहन के परवरिश के लिए बाजारों में जाकर प्रतिदिन भिक्षाटन कर 100 से 200 रुपए कमा लेता हूं। इसी पैसे से परिवार का भरण-पोषण होता है। सरकार से अभी तक मुझे कोई और सुविधा नहीं मिली है। मुझे योजना के तहत आवास भी नहीं मिला है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×