Hindi News »Bihar »Patna» खेती-किसानी के लिए जल्द बनेगा बिजली का अलग फीडर : सांसद

खेती-किसानी के लिए जल्द बनेगा बिजली का अलग फीडर : सांसद

केंद्र सरकार किसानों के उत्थान के लिए कृतसंकल्पित है। सरकार किसानों की उन्नति के लिए कई योजनाएं चला रही है। इससे...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:00 AM IST

  • खेती-किसानी के लिए जल्द बनेगा बिजली का अलग फीडर : सांसद
    +1और स्लाइड देखें
    केंद्र सरकार किसानों के उत्थान के लिए कृतसंकल्पित है। सरकार किसानों की उन्नति के लिए कई योजनाएं चला रही है। इससे कृषि जोखिम में कमी के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़े हैं। ग्रामीण जीवन की गुणवत्ता में सुधार के साथ ही किसानों की आय में भी वृद्धि हो। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखकर किसानों के लिए बिजली का अलग फीडर बनाया जा रहा है। फीडर बन जाने से किसानों को सिंचाई की सुविधा आसानी से मिल सकेगी। यह बात महाराजगंज के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने बुधवार को प्रखंड मुख्यालय के नगर पंचायत कार्यालय परिसर में कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण आत्मा के तत्वावधान में आयोजित प्रखंड स्तरीय किसान कार्यशाला के उद्घाटन समारोह में किसानों को कही।

    उन्होंने कहा कि ग्राम स्वराज योजना महात्मा गांधी का सपना था। सरकार हर हाल में उनके सपनों को पूरा करेगी। सांसद ने कहा कि कृषि विभाग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कई नई तकनीकी इजाद की है। किसानों को कृषि कार्य के लिए अलग फीडर दी जाएगी। जिसमें आठ घंटे तक निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जाएगी। ताकि किसान निर्धारित समय में सिंचाई के अलावे और भी कार्य कर लें। इसके पूर्व सांसद सिग्रीवाल ने दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का उद्घाटन किया। इसके पूर्व जिला कृषि पदाधिकारी जयराम पाल ने किसानों की आय दुगुनी करने के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। मौके पर मुकेश सिंह, मंडल अध्यक्ष अविनाश चन्द्र उपाध्याय, जिला पार्षद रूपेश कुमार छोटू, चैतेन्द्रनाथ सिंह, पप्पू सिंह, वीरेंद्र पांडेय, धर्मेंद्र सिंह, शैलेन्द्र किशोर, जीतेन्द्र सिंह, सुमन देवी, तारकेश्वर सिंह मुख्य रूप से थे।

    एकमा में आयोजित कर्मशाला में संबोधित करते सांसद सिग्रीवाल।

    इसुआपुर, नगरा व बनियापुर में भी हुई कृषि कार्यशाला

    बनियापुर में आयोजित कर्मशाला।

    इसुआपुर/नगरा/बनियापुर| प्रखंड मुख्यालय परिसर इसुआपुर में कृषि कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें प्रखंड के किसानों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। कृषि समन्वयक उदय शंकर सिंह ने किसानों को उन्नत खेती करने के गुर बताया। उन्होंने सरकार द्वारा 2022 तक किसानो की आय दो गुनी करने के लक्ष्य का भी जिक्र किया। किसान एकता मंच के संयोजक अजय राय ने कहा कि जब एक किसान कृषि सहलाकर की सलाह पर अनुदानित सामग्री की खरीदारी करता है तो उसका अनुदान पाने के लिए अगले फसल या सीजन का इंतजार करना पड़ जाता है।् इस रवैये में सुधार की आवश्यकता है। मौके पर मुखिया पति राजकिशोर सिंह, मुखिया रंगलाल राय, पंचायत समिति मुकेश कुमार, विजय राय, दीनानाथ राउत, बीडीओ अखिलेश कुमार, कृषि पदाधिकारी राजनारायण प्रसाद आदि थे। वहीं नगरा प्रखंड के मनरेगा भवन में कृषि कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रमुख मालती देवी, बीईओ वीरेंद्र सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

    मिट्टी जांच कर खेती करने की किसानों को दी गई सलाह

    मकेर|
    प्रखंड कार्यालय में कृषि कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा निर्धारित लक्ष्य की चर्चा की गई। कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कृषि वैज्ञानिक डॉ. शिवनाथ सुमन ने किसानों को मिट्टी जांच कर मिश्रित खेती करने का सलाह दिया। भाजपा जिला उपाध्यक्ष निरंजन शर्मा ने कहा कि किसान पारंपरिक खेती के अलावा मछली पालन, मधुमक्खी पालन, गाय पालन, मुर्गी पालन, फूल की खेती कर अपनी आय को बढ़ा सकते हैं। कर्मशाला में आत्मा अध्यक्ष डॉ. सुचिन्द्र साह ने खेती के लिए नई तकनीक अपनाने की सलाह दी। किसानों ने नीलगाय द्वारा फसल को नष्ट करने की समस्या को उठाया।

    योजनाओं को किसानों तक पहुंचाने को लेकर कार्यशाला

    छपरा|कृषि
    विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को किसानो तक पहुंचाने को लेकर कृषि प्रौद्योगिकी अभिकरण यानी आत्मा के तत्वाधान में सदर प्रखंड के किसान भवन में कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसका उद्घाटन छपरा विधायक डॉ. सीएन गुप्ता ने किया। जिसमें कृषि विभाग के पदाधिकारियों को किसानों के कल्याण को लेकर चलाई जा रही योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। वहीं वक्ताओं ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में उर्वरक व कृषि यंत्रों के मूल्यों में लगातार हो रहे वृद्धि से किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों की आय को बढ़ाने को लेकर कृषि विभाग के अनुदान आधारित योजना व हाइब्रिड प्रभेद के बीजों के प्रयोग कर कृषि उत्पादकता बढ़ाया जा सकता है। जिससे किसानों की आय में वृद्धि होगी।

  • खेती-किसानी के लिए जल्द बनेगा बिजली का अलग फीडर : सांसद
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×