• Home
  • Bihar
  • Patna
  • श्रमदान से बनाई दो किमी सड़क, मंत्री ने पक्कीकरण की घोषणा की
--Advertisement--

श्रमदान से बनाई दो किमी सड़क, मंत्री ने पक्कीकरण की घोषणा की

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जिस रफ्तार से सूबे का विकास और तरक्की हो रहा है। आने वाले 2020 तक सूबे का हर...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 02:00 AM IST
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जिस रफ्तार से सूबे का विकास और तरक्की हो रहा है। आने वाले 2020 तक सूबे का हर गांव चकाचक होगा। जब गांव में हर तरह की सुविधाएं मिलने लगेगी तो लोगों को शहर जाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। उक्त बातें ग्रामीण विकास सह संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने हिलसा प्रखंड के अकबरपुर गांव में आयोजित जदयू संवाद कार्यक्रम के दौरान कही। इससे पहले मंत्री व सांसद सहित पार्टी के कई विधायक ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया तथा गांव के लोगों के द्वारा श्रमदान से बनाए गए करीब दो किलोमीटर सड़क पर ग्रामीणों की न सिर्फ तारीफ की बल्कि उक्त सड़क को सरकारी योजना से पक्की करने व गांव के बच्चे को खेलने के लिये खेल मैदान निर्माण कराने की घोषणा की। कार्यक्रम की अध्यक्षता हिलसा जदयू प्रखंड अध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार ने की। इस मौके पर सांसद कौशलेंद्र कुमार, विधान पार्षद हीरा बिंद, राजगीर विधायक रवि ज्योति, इस्लामपुर विधायक चंद्रसेन प्रसाद, जदयू के युवा प्रदेश महासचिव सह मुखिया पवन कुमार, समाजसेवी साधु शरण प्रसाद, भरत शर्मा, जिला परिषद कपिल देव प्रसाद, कृष्णा प्रसाद, सुभाष कुमार, रूपेश कुमार, सुबोध कुमार, धनंजय कुमार आदि उपस्थित थे।

अकबरपुर गांव में हुआ संवाद कार्यक्रम, जुटे मंत्री, सांसद व विधायक

रोजगार के लिए दिया जा रहा प्रशिक्षण : उन्होंने कहा कि सूबे में जब से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिये साइकिल, पोशाक जैसे तरह तरह की योजना सरकार ने चलाई। उसके बाद से शिक्षा के प्रति बच्चे जागरूक हुए और उसके महत्व को जाना। आज सरकारी स्कूलों में बच्चे की संख्या काफी बढ़ी है। इंटर के बाद बाले बच्चों के लिये भी सरकार ने कई योजना को चालू किया। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चे इंटर के बाद पढ़ाई छोड़ने के कगार पर हैं उसके आगे पढ़ाई के लिये चार लाख का क्रेडिट कार्ड सरकार दे रही है। ताकि वह अपना पढ़ाई पूरा कर लक्ष्य की प्राप्ति कर सके। इसके अलावे उन छात्र के लिये भी योजना बनाया गया है जो इंटर कर पढ़ाई नहीं करना चाहते हैं उन छात्रों के लिये कौशल विकास योजना के तहत रोजगार के लिये प्रशिक्षण दिया जाता है जो सरकारी या प्राइवेट से जॉब आसानी से कर सकता है। उन्होंने कहा कि गांव के लोग भी गौशाला, बकरी पालन, मुर्गी पालन या वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण करना चाहते है उनके लिये भी सरकार ने योजना के तहत लाभ दे रही है।

कार्यक्रम में मंत्री, सांसद व अन्य।

2020 तक हर गांव को जोड़ा जाएगा सड़क से

मंत्री श्री कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत सूबे के हर गांव कस्बों का विकास तेजी से हो रहा है। हर घर में शौचालय, नल जल, गली नली, बिजली के साथ साथ गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सूबे में सौ से अधिक आबादी वाला 54 हजार ऐसा गांव अभी है जहां पक्की सड़क नहीं है। सरकार का यह फैसला है कि आगामी 2020 तक हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ दिया जाएगा। 2019 तक हर गांव में सात निश्चय के तहत शौचालय, हर घर में नल से पानी एवं बिजली पहुंचाने का कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय मे गांव में हर तरह की सुविधा होगी। लोग शहर की ओर नहीं बल्कि गांव रहना पसंद करेंगे।

श्रमदान से बनी सड़क के दोनों ओर होगा पौधरोपण

मंत्री श्री श्रवण कुमार ने ग्रामीण मनोज कुमार के प्रयास व ग्रामीणों के सहयोग से करीब दो किलोमीटर सड़क का निर्माण श्रमदान से करने के लिये प्रशंसा की तथा गांव के लोगों को इस सराहनीय कार्य के लिये धन्यवाद दिया। मनरेगा के पदाधिकारी को सड़क के दोनों तरफ पेड़ लगाने का निर्देश दिया। ग्रामीणों की मांग पर गांव में एक खेल मैदान निर्माण कराने का आश्वासन दिया गया।

सात निश्चय के तहत हो रहा गांवों का विकास

सांसद श्री कुमार ने कहा कि सात निश्चय योजना के तहत गांवों का विकास युद्ध स्तर पर हो रहा है। हर घर नल का जल, पक्की नाली गली के तहत गांव सुंदर व स्वच्छ दिखने लगा है। हर घर बिजली पहुंचाया जा रहा है। सात निश्चय के तहत सभी सुविधाओं से लैस हो जाने के बाद शहर से बेहतर दिखने लगेगा और गांव में लोग शहर में जाना पसंद नहीं करेंगे।