पटना

  • Home
  • Bihar
  • Patna
  • श्रम अधीक्षक बोले- घरेलू कामगारों का होगा निबंधन, करें आवेदन
--Advertisement--

श्रम अधीक्षक बोले- घरेलू कामगारों का होगा निबंधन, करें आवेदन

मजदूर दिवस पर श्रम संसाधन कार्यालय, आरा में कार्यशाला हुई। जिसमें 1 मई के महत्व व मजदूरों के हित में सरकार द्वारा...

Danik Bhaskar

May 03, 2018, 02:05 AM IST
मजदूर दिवस पर श्रम संसाधन कार्यालय, आरा में कार्यशाला हुई। जिसमें 1 मई के महत्व व मजदूरों के हित में सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न लाभकारी योजनाओं पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। बैठक की अध्यक्षता श्रम अधीक्षक राकेश रंजन ने की। कार्यक्रम में श्रम अधीक्षक ने कहा कि वर्ष 1986 में शिकागों में समझौता के बाद मजदूरों के लिए 8 घंटा काम का समय निर्धारित किया गया। उसके बाद से ही 1 मई को “श्रम दिवस’ दुनिया में मनाया जाता है। श्रम अधिनियम 1948 के प्रावधानों के तहत वर्तमान में किसी भी अकुशल श्रमिक को सरकार द्वारा 254 रुपये प्रतिदिन की दर से मजदूरी तय की गई है। जिन मजदूरों को इससे कम राशि प्रतिदिन के मजदूरी में प्राप्त होती है, वे अपनी लिखित शिकायत श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी या श्रम अधीक्षक को कर सकते हैं। घरेलू कामगारों के लिए प्रति घंटे की दर से मजदूरी तय की गई है, जो मासिक रुपये होते है। मार्च 2018 से घरेलू कामगारों के निबंधन की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है। सभी घरेलू कामगार श्रम अधीक्षक कार्यालय में विहित प्रपत्र में आवेदन दे सकते हैं। आवेदन के साथ तीन फोटो, आधार कार्ड एवं बैंक पासबुक की छायाप्रति देना अनिवार्य है। सभी घरेलू कामगारों को श्रम अधीक्षक द्वारा हस्ताक्षरित परिचय-पत्र निर्गत किया जाएगा। भोजपुर जिले को बाल श्रम से मुक्त कराने के लिए विभाग प्रय|शील है। इसमें सबका सहयोग जरुरी है। बाल श्रम एवं शिल्पकारों के सामाजिक सुरक्षा योजना है।

घरेलू कामगारों को श्रम अधीक्षक के हस्ताक्षर वाला परिचय-पत्र मिलेगा, आधार कार्ड, 3 फोटो व पासबुक की कॉपी जरूरी

बालश्रम नहीं कराने का लिया संकल्प

कार्यक्रम में बालकों से काम नहीं लेने का शपथ-पत्र भराया गया। आवश्यक बुकलेट भी प्रदान किया गया। जिला बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष सुनीता सिंह, विश्वनाथ सिंह, कई श्रमिक, जनप्रतिनिधि व विभागीय कर्मचारी मौजूद थे।

मजदूर दिवस पर संबोधित करते श्रम अधीक्षक।

Click to listen..