• Home
  • Bihar
  • Patna
  • असम की ओर जाने वाली ट्रेनों में बढ़ाई गई एसी बोगी
--Advertisement--

असम की ओर जाने वाली ट्रेनों में बढ़ाई गई एसी बोगी

असम की ओर जाने वाली वैसे यात्री जो विभिन्न ट्रेनों में उपलब्ध एसी यान में जगह नहीं मिलने के कारण गर्मी से आए दिनों...

Danik Bhaskar | Jun 14, 2018, 02:45 AM IST
असम की ओर जाने वाली वैसे यात्री जो विभिन्न ट्रेनों में उपलब्ध एसी यान में जगह नहीं मिलने के कारण गर्मी से आए दिनों परेशान होते थे, उनके लिए एक अच्छी खबर है। पूर्व मध्य रेलवे ने राजेंद्र नगर टर्मिनल से न्यू जलपाईगुड़ी तक चलने वाली 13246 डाउन, न्यू जलपाईगुड़ी से राजेंद्र नगर तक चलने वाली 13245अप कैपिटल एक्सप्रेस एवं राजेंद्र नगर टर्मिनल से गुवाहाटी तक चलने वाली 13248 डाउन व गुवाहाटी से राजेंद्र नगर टर्मिनल तक चलने वाली 13247 अप में एसी टू टियर की बोगियां बढ़ाने का निर्णय लिया है ।

पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के मुख्य यात्री परिचालन प्रबंधक द्वारा जारी आदेश के अनुसार पूर्व में 21 कोचों से संचालित 13245 अप/ 13246 डाउन राजेंद्र नगर टर्मिनल- न्यू जलपाईगुड़ी -राजेंद्र नगर टर्मिनल कैपिटल एक्सप्रेस 2 ब्रेक भान, 6 सामान्य बोगी एवं 7 स्लीपर बोगी के अलावे एसी थ्री टियर की 3 बोगियां,एसी टू टियर की एक बोगी, एसी टू टियर सह 3 टियर की एक बोगी एवं एसी प्रथम सह द्वितीय टियर की एक बोगी से संचालित हो रही थी। नए आदेश के अनुसार राजेंद्र नगर टर्मिनल से खुलने वाली इस ट्रेन में 9 जून से जबकि न्यू जलपाईगुड़ी से खुलने वाली ट्रेन में 10 जून से एक और अतिरिक्त एसी टू टियर की बोगियां बढ़ा दी गई है।

इसी प्रकार पूर्व में 21 कोचों से संचालित 13247अप/ 13248 डाउन राजेंद्र नगर टर्मिनल- गुवाहाटी- राजेंद्र नगर टर्मिनल एक्सप्रेस दो ब्रेक भान, 6 सामान्य बोगी ,7 शयनयान ,3 एसी थ्री टियर, एक एसी प्रथम सह द्वितीय टियर, एक एसी टू टियर एवं एक एसी टू टियर सह थ्री टियर से संचालित हो रही थी। बावजूद इसके इस ट्रेन के एसी में लोगों को जगह मिल पाना मुश्किल हो रहा था। वर्तमान आदेश के बाद अब 10 जून को राजेंद्र नगर टर्मिनल से खुलने वाली एवं 12 जून से गुवाहाटी से खुलने वाली इस ट्रेन में एक एक एसी 2 टियर की बोगियां बढ़ा दी गई है। स्मरणीय है कि रेलवे के नए नियम अनुसार अधिकांश ट्रेनों को 22 बोगियों से ही संचालित करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही इस पर रेलवे की पहल भी शुरू हो गई है। यह नई संरचना इस नई पहल की भी शुरुआत मानी जा रही है।