• Home
  • Bihar
  • Patna
  • सहरसा रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन से चलाई जाएंगी सभी ट्रेनें
--Advertisement--

सहरसा रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन से चलाई जाएंगी सभी ट्रेनें

मानसी-सहरसा-मधेपुरा रेलखंड पर इलेक्ट्रिफिकेशन वर्क पूरा होने एवं मुख्य संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण के दौरान पाए...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:40 AM IST
मानसी-सहरसा-मधेपुरा रेलखंड पर इलेक्ट्रिफिकेशन वर्क पूरा होने एवं मुख्य संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण के दौरान पाए गए त्रूटियों को ठीक कर लिए जाने के बाद इस रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन के परिचालन की अनुमति मिल गई है। जिसके बाद प्रथम चरण में बरौनी जंक्शन से सहरसा-मधेपुरा की ओर जाने वाली विभिन्न ट्रेनों में से तत्काल 3 ट्रेनों को इलेक्ट्रिक इंजन से परिचालित कराने का आदेश दिया गया है।

पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के मुख्य यात्री परिवहन प्रबंधक बी वी गुप्ता द्वारा जारी आदेश के अनुसार 21 मई 2018 को आनंद विहार से सहरसा के लिए आने वाले 15280 डाउन पुरबिया एक्सप्रेस, 22 मई को अमृतसर से सहरसा के लिए खुलने वाली 15210 डाउन जनसेवा एक्सप्रेस एवं 23 मई 2018 को अमृतसर से सहरसा के लिए खुलने वाली 12204 डाउन गरीब रथ एक्सप्रेस का इलेक्ट्रिक इंजन पूर्व की तरह बरौनी जंक्शन में नहीं बदला जाएगा बल्कि बरौनी से सहरसा के बीच इन ट्रेनों को इलेक्ट्रिक इंजन से ही परिचालित कराई जाएगी साथ ही 24 मई 2018 से सहरसा से आनंद विहार के लिए खुलने वाली 15279 अप पुरबिया एक्सप्रेस एवं सहरसा से अमृतसर के लिए खुलने वाली 15209 अप जनसेवा एक्सप्रेस व 12203 अप गरीब रथ एक्सप्रेस को सहरसा स्टेशन से डीजल इंजन से परिचालित कराए जाने के बदले अब सहरसा स्टेशन से ही इलेक्ट्रिक इंजन से परिचालित कराया जाएगा।

क्या है परियोजना

इस रेलखंड के ट्रेनों को गति देने एवं रेलवे को पेट्रोलियम में प्रतिवर्ष करोड़ों के खर्च होने वाले राजस्व की बचत के ख्याल से रेलवे ने इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों को परिचालित कराने के लिए मानसी-सहरसा-मधेपुरा रेल खंड के 63 किलोमीटर सीधी रेल लाइन रेल खंड एवं विभिन्न स्टेशनों एवं लूप लाइन के 20 किलोमीटर से अधिक रेलवे के विद्युतीकरण का कार्य पूरा किया है। परियोजना को प्रोजेक्ट के निदेशक सुरेश कुमार पवार के निर्देशन में 84 इंजीनियरों का दल ने 10 महीने में पूरा कर लिया है।

यात्रियों को होगी समय की बचत

बरौनी-मानसी-कटिहार रेल खंड पर पूर्व से रेलवे द्वारा विद्युत इंजन से ट्रेनों का परिचालन कराया जा रहा है। लेकिन मानसी- सहरसा- मधेपुरा रेल खंड में विद्युतीकरण कार्य पूरा नहीं होने के कारण इस रेलखंड में आने वाली ट्रेनों को अभी डीजल इंजन से ही परिचालित कराई जा रही है। इस स्थिति में इस रेलखंड में आने वाली ट्रेनों को बरौनी जंक्शन पर इंजन के फेरबदल करने में काफी समय व्यर्थ बर्बाद होता है।