Hindi News »Bihar »Patna» राज्य के 3 नए विश्वविद्यालयों के बीच होगा संपत्तियों का बंटवारा, नए सत्र से शुरू होगी शैक्षणिक गतिविधि

राज्य के 3 नए विश्वविद्यालयों के बीच होगा संपत्तियों का बंटवारा, नए सत्र से शुरू होगी शैक्षणिक गतिविधि

राज्य के तीन नए विश्वविद्यालयों पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय, पूर्णिया विश्वविद्यालय व मुंगेर विश्वविद्यालय को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:10 AM IST

राज्य के तीन नए विश्वविद्यालयों पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय, पूर्णिया विश्वविद्यालय व मुंगेर विश्वविद्यालय को जमीन पर उतारने की कवायद शुरू कर दी गई है। तीनों नए विश्वविद्यालयों में कुलपति, प्रति कुलपति व रजिस्ट्रार की नियुक्ति के बाद अब उनकी परिसंपत्तियों के बंटवारे की योजना पर कार्य शुरू हो गया है। इसके लिए कुलाधिपति सह राज्यपाल सत्यपाल मलिक के निर्देश पर कमेटी का गठन कर दिया गया है। तीनों विश्वविद्यालय के लिए अलग-अलग कमेटी होगी। इसमें हर नए विश्वविद्यालय व उसके मातृ विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों को रखा गया है। कमेटी को मई के प्रथम सप्ताह तक बैठक कर नए विश्वविद्यालय का स्वरूप तय कर देने का निर्देश दिया गया है।

राजभवन में आयोजित मासिक समीक्षा बैठक में तीनों विश्वविद्यालयों को मूर्त रूप देने पर सहमति बनी। राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह ने कहा कि नए शैक्षणिक सत्र 2018-19 का संचालन तीनों नए विश्वविद्यालय से संभव हो, इसके लिए कार्यक्रम तैयार किए जाएं। अगले सत्र से नए विश्वविद्यालय में शैक्षणिक गतिविधि को शुरू करने के लिए परिसंपत्तियों व कार्यबल का वितरण किया जाएगा। राजभवन के स्तर पर गठित कमेटी को निर्देश दिया गया है कि तीन मई 2018 तक वे अपना प्रतिवेदन राजभवन में जमा कराएं। इसके आधार पर नए विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक गतिविधि को सुचारू रूप से शुरू कराने में सुविधा मिले।

मई के पहले सप्ताह तक नए विश्वविद्यालयों के लिए सभी प्रकार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ कराने पर हुआ फैसला

विश्वविद्यालयों में एडमिशन की प्रक्रिया होगी ऑनलाइन, बोर्ड से होगा समन्वय

राजभवन ने विश्वविद्यालयों को शैक्षणिक कैलेंडर में सुधार के लिए पहले से एडमिशन की प्रक्रिया को सुधारने का निर्देश दिया गया है। परीक्षा व एडमिशन कैलेंडर के अनुपालन पर राजभवन का सबसे अधिक जोर रहा। इंटर की पढ़ाई कराने वाले पटना विश्वविद्यालय को छोड़कर अन्य सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया गया है कि वे बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से समन्वय स्थापित कर लें। साथ ही, सभी विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन एडमिशन प्रक्रिया को इस बार से अपनाने का निर्देश दिया गया है। साथ ही लंबित परीक्षाओं को भी शीघ्र पूरा कराने का निर्देश दिया गया। कुलाधिपति ने सभी विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव को सफलतापूर्वक व निष्पक्ष माहौल में संपन्न कराने के लिए सभी कुलपतियों को बधाई दी। उनके संदेश को प्रधान सचिव ने सुनाया।

पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय | विश्वविद्यालय के कुलपति व रजिस्ट्रार और मगध विश्वविद्यालय बोधगया के कुलपति व रजिस्ट्रार.

सभी टीमों में ये पदाधिकारी भी होंगे

योजनाओं को गति देने पर जोर

राजभवन ने विश्वविद्यालय व कॉलेजों में वाई-फाई स्थापित कराने की योजना को गति प्रदान करने पर जोर दिया। योजना के तहत यूजर्स की संख्या में इजाफा कैसे हो? इस पर मंथन के लिए शिक्षा विभाग के स्तर पर 21 अप्रैल को बैठक बुलाई गई है। इसमें सभी विवि के वाई-फाई नोडल पदाधिकारी व सर्विस प्रोवाइडर एजेंसी शामिल होंगे। नैक एक्रिडिटेशन के आंकड़े को बढ़ाने के लिए तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया गया। बायोमेट्रिक सिस्टम से अटेंडेंस लिए जाने और पीजी विभागों व कॉलेजों में शौचालय निर्माण की योजना की भी समीक्षा की गई। शौचालय व वाशरूम की व्यवस्था के लिए प्रति इकाई 7.66 लाख रुपये का आवंटन किए जाने की बात कही गई।

उच्च शिक्षा निदेशक

कुलाधिपति के प्रधान सचिव

ऐसा होगा कमेटी का स्वरूप

पूर्णिया विश्वविद्यालय | विश्वविद्यालय के कुलपति व रजिस्ट्रार और बीएन मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा के कुलपति व रजिस्ट्रार.

बीएड में संयुक्त प्रवेश परीक्षा पर जोर

राजभवन ने बीएड कोर्स में एडमिशन के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा पर जोर दिया। सभी कुलपति को इस संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं कि अगले सत्र से बीएड कॉलेजों में कंबाइंड इंट्रेंस टेस्ट के माध्यम से एडमिशन की व्यवस्था की जाए। कुलपतियों को नियमित तौर पर बीएड कॉलेजों के निरीक्षण का निर्देश दिया गया। कक्षाओं में शिक्षकों की अनुपस्थिति पर भी राजभवन ने कड़ा रुख अपनाया है। विश्वविद्यालयों में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू करने पर कुलपतियों से शीघ्र मंतव्य मांगा गया है।

ओएसडी (ज्यूडिशियल), राजभवन

एडिशनल सेक्रेटरी, राजभवन

मुंगेर विश्वविद्यालय| विश्वविद्यालय के कुलपति व रजिस्ट्रार और तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति व रजिस्ट्रार.

वित्त विभाग के एक पदाधिकारी

मनोज कुमार, एडिशनल सेक्रेटरी, शिक्षा विभाग।

एकलव्य व तरंग का होगा आयोजन

राज्य के विश्वविद्यालयों में एकलव्य व तरंग प्रतियोगिता का आयोजन होगा। पिछले वर्ष राज्यपाल ने इसके आयोजन की घोषणा की थी। इस बार इंटर यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स इवेंट एकलव्य का आयोजन मगध विश्वविद्यालय में आयोजित होगा। वहीं, इंटर यूनिवर्सिटी कल्चरल इवेंट तरंग का आयोजन ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा में होगा। सभी विश्वविद्यालयों को सत्र 2018-19 का स्पोर्ट्स और कल्चरल इवेंट कैलेंडर तैयार कर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×