पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानून ऐसा बने कि कारोबारी खुद पालन करें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
निश्चित रूप से सरकार का राजस्व बढ़ना चाहिए, किंतु साथ ही कारोबारियों के विषयों में रुचि लेते हुए व्यापार संबंधी नीति बननी चाहिए। व्यापारियों पर जबरन कानून लादना तर्क संगत नहीं है। कानून ऐसा बने कि कारोबारी स्वत: पालन करें। इससे सरकार को राजस्व में वृद्धि और व्यापार का ताना-बाना भी अधिक बेहतर और मजबूत होगा। गुरुवार को कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की ओर से निकाली गई संपूर्ण क्रांति व्यापारी स्वाभिमान यात्रा के पटना सिटी पहुंचने पर उक्त बातें विभिन्न मंडियों के कारोबारियों ने कहीं। रथ यात्रा का विभिन्न स्थानों पर स्वागत किया गया। पटना साहिब स्टेशन के पास यात्रा का नेतृत्व कर रहे ट्रेडर्स के राष्ट्रीय पदाधिकारी वीरेंद्र सिंह वालिया व अमर सिंह जयकारिया का स्वागत किया गया।

यहां कारोबारी शशिशेखर रस्तोगी ने धारा 411 व 412 की जटिलता व इसके दुरुपयोग पर चर्चा की। ट्रेडर्स महासचिव रमेश गांधी व उपाध्यक्ष प्रदीप सिंह यादव ने कारोबारियों की समस्याओं को लेकर प्रतिवेदन सौंपा। मौके पर ऋषिकेश कुशवाहा, अवधेश कुमार सिन्हा, अनंत अरोड़ा, नारायण राठी, हरिमोहन यादव, भगवती मोदी, जीतेंद्र गुप्ता, डॉ. विनोद अवस्थी, फिरोज हसन, नैयर एकबाल, रंजीत जायसवाल, पप्पू मेहता, दिलीप कुमार, वीरेंद्र कुमार सिंह, विनय जायसवाल, अश्विनी राज, नवल किशोर राय अन्य मौजूद रहे।

मिरचाई गली मोड़ पर कारोबारी मनोज झुनझुनवाला, राजकुमार तिवारी, सुरेश कुमार झुनझुनवाला, संजीव देवड़ा, राकेश ड्रोलिया आदि ने रथ का स्वागत किया। रामबाग कपड़ा मंडी की ओर से स्वागत किया गया। गायघाट के पास बिहार फुटकर व्यापारी संघ के मुकेश कुमार, जीतेंद्र नाथ, दिलीप गुप्ता, रवि चौधरी आदि ने कारोबार संबंधित समस्याओं के बारे में जानकारी दी। अतिथियों ने गुरु घर का भी आशीष लिया। विभिन्न स्थानों पर सभा के दौरान जीएसटी के सरलीकरण, सौ फीसदी एफडीआई की अस्वीकृति व बाजारों में बेहतर आधारभूत संरचना सहित अन्य समस्याओं पर चर्चा हुई।

रथ के साथ चल रहे राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने बताया कि देश के 120 बड़े व 500 छोटे शहरों के कारोबारियों से सीधे संपर्क का लक्ष्य निर्धारित कर यह रथ यात्रा आरंभ हुई है। कारोबारियों की समस्याओं को सीधे केंद्र सरकार के पास रखा जाएगा। यात्रा का समापन 19 दिसंबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर होगा। रथ का स्वागत संत गोलवारा, शिशिर कुमार, त्रिलोक सिंह, बलराम प्रसाद, रामचंद्र प्रसाद, ललन केसरी आदि ने भी किया।

सिटी पहुंची संपूर्ण क्रांति व्यापारी स्वाभिमान रथ यात्रा का किया स्वागत।

खबरें और भी हैं...