Hindi News »Bihar »Patna» Legislative Council Election Eleven Candidates Won Uncontested In Patna

विधान परिषद चुनाव: सभी 11 उम्मीदवार निर्विरोध विजयी, सिर्फ ऐलान बाकी

सभी 11 सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन तय, नाम वापसी की तिथि 19 अप्रैल

Bhaskar News | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:38 AM IST

  • विधान परिषद चुनाव:  सभी 11 उम्मीदवार निर्विरोध विजयी, सिर्फ ऐलान बाकी
    +1और स्लाइड देखें
    नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद रामेश्वर महतो, खालिद अनवर, संजय पासवान, नीतीश कुमार, सुशील मोदी व मंगल पांडेय।

    पटना. विधानपरिषद चुनाव में सभी 11 उम्मीदवारों की जीत तय है। वोटों के हिसाब से जीत की औपचारिक घोषणा बची है, जो 19 अप्रैल को पूरी हो जाएगी। इस दिन नाम वापसी की आखिरी तारीख है। सोमवार को नामांकन का आखिरी दिन था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के अलावा डॉ.संजय पासवान, खालिद अनवर, रामेश्वर महतो तथा कांग्रेसी उम्मीदवार प्रेमचंद मिश्रा ने नामांकन किया। जदयू-भाजपा के उम्मीदवारों ने एकसाथ नामांकन किया। राबड़ी देवी समेत राजद के चार उम्मीदवार (डॉ.रामचंद्र पूर्वे, खुर्शीद मोहसीन, संतोष मांझी) पहले ही नामांकन कर चुके हैं।

    नीतीश, मोदी समेत एनडीए-कांग्रेस के 7 उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

    - विधान परिषद के द्विवार्षिक चुनाव के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत जदयू, भाजपा और कांग्रेस के सात उम्मीदवारों ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। परिषद चुनाव के नामांकन दाखिल किए जाने का सोमवार को आखिरी दिन था। बिहार में खाली हुई परिषद की 11 सीटों के लिए इतने ही नामांकन हुए। इसी के साथ सभी उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन होना तय है। 19 अप्रैल को नाम वापसी की आखिरी तारीख है। अगर उस दिन तक किसी उम्मीदवार ने नाम वापस नहीं लिया तो अपराह्न साढ़े तीन बजे सभी उम्मीदवारों को निर्वाचन का प्रमाणपत्र दे दिया जाएगा।

    - कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्रा ने पूर्वाह्न 11 बजे नामांकन दाखिल किया। उनके साथ पार्टी के प्रदेश प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी और राजद एमएलए भोला यादव भी थे। साढ़े 11 बजे जदयू की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, रामेश्वर महतो और खालिद अनवर तथा भाजपा की ओर से उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और डॉ. संजय पासवान ने विधानसभा सचिव रामश्रेष्ठ राय के समक्ष नामांकन पत्र दाखिल किया। राजद की ओर से 13 अप्रैल को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, प्रदेश राजद अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे, खुर्शीद मोहसिन और हम के अध्यक्ष जीतनराम मांझी के पुत्र संतोष मांझी ने नामांकन दाखिल किया था।


    विधानमंडल परिसर में 10 बजे से जमा हो गई थी भीड़
    नामांकन को लेकर सुबह 10 बजे से ही विधानमंडल परिसर में बुके, फूल-माला लिए जदयू, भाजपा व राजद के कार्यकर्ताओं की भीड़ जमा हो गई थी। इस मौके पर प्रदेश जदयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राज्यसभा में जदयू के नेता आरसीपी सिंह, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार, उद्योग मंत्री जय कुमार सिंह, पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा, एमएलसी संजय गांधी, संजय सिंह, एमएलए वशिष्ठ सिंह, अशोक सिंह, नीरज बबलू, पूर्व विधायक मंजीत सिंह, जदयू नेता शैलेंद्र प्रताप सिंह, खाद्य आयोग के सदस्य नंदकिशोर कुशवाहा, युवा जदयू नेता ओमप्रकाश सिंह सेतु, धीरज सिंह, जदयू प्रवक्ता अंजुम आरा, राहुल सिंह और मुकेश कुमार सिंह समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अधिक उनके पुत्र अमीर
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अधिक अमीर उनके पुत्र निशांत कुमार हैं। मुख्यमंत्री के पास 16,49,476 रुपए, जबकि उनके पुत्र के पास 1,28,29,136 रुपए की चल संपत्ति है। मुख्यमंत्री के नाम दिल्ली के द्वारका में 40 लाख रुपए के एक फ्लैट को छोड़कर अचल संपत्ति के नाम पर कुछ नहीं है। निशांत के नाम पर 1 करोड़ 25 लाख 04 हजार 819 रुपए की अचल संपत्ति है। मुख्यमंत्री के पास एक फोर्ड ईको स्पोर्टस कार है, जबकि उनके पुत्र के नाम पर आई-10 कार है। मुख्यमंत्री के पास सोने की दो अंगूठियां हैं, जिनका वजन 20 ग्राम है। उनके पास चांदी की भी एक अंगूठी है, जिसमें मोती लगा है। वहीं निशांत के पास 30 तोला सोना, पांच किलोग्राम चांदी, सोने की पांच गिन्नियां और चांदी के 82 सिक्के हैं। मुख्यमंत्री के पास नौ गायें और सात बछड़े हैं। मुख्यमंत्री पर बाढ़ में एक मुकदमा भी है।

    मोदी के पास पत्नी से कम संपत्ति

    उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की पत्नी जेएस मोदी उनसे अधिक अमीर हैं। उपमुख्यमंत्री के पास 44300 रुपए नकद हैं, जबकि उनकी पत्नी के पास 38450 रुपए नकद हैं। उपमुख्यमंत्री के पास 95.31 लाख रुपए की चल संपत्ति और उनकी पत्नी के पास 1.37 करोड़ रुपए की चल संपत्ति है। उपमुख्यमंत्री के पास 105 ग्राम और उनकी पत्नी के पास 450 ग्राम सोना है। दोनों के स्वर्णाभूषणों की कीमत अब 15 लाख रुपए से अधिक है। दोनों के नाम पर 33.73 लाख रुपए की संयुक्त अचल संपत्ति है। वहीं उपमुख्यमंत्री पर 16 लाख रुपए कर्ज भी है।

    मंगल पांडेय के पास अचल संपत्ति नहीं

    स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के पास 36500 रुपए नकद है। उनकी पत्नी उर्मिला पांडेय के पास 42000 रुपए, जबकि पुत्र हर्ष कुमार पांडेय के पास 29 हजार रुपए नकद हैं। स्वास्थ्य मंत्री या उनकी पत्नी-पुत्र के नाम पर कोई अचल संपत्ति नहीं है। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्री के पास 97,14,317 रुपए की चल संपत्ति है। उनकी धर्मपत्नी के पास 48,99,785 रुपए और पुत्र के पास 6,70,125 रुपए की चल संपत्ति है। स्वास्थ्य मंत्री के पास एक टाटा सफारी कार है। उनके नाम पर एक राइफल भी है। स्वास्थ्य मंत्री के परिवार के पास 730 ग्राम सोना और 5 किलोग्राम चांदी है। मंगल पांडेय के खिलाफ दो मुकदमा दर्ज है।

    संजय पासवान के पास मात्र दस हजार रुपए नकद

    भाजपा के उम्मीदवार डॉ. संजय पासवान के पास 10 हजार रुपए और उनकी पत्नी के पास पांच हजार रुपए नकद हैं। दोनों के पास बैंक में क्रमश: 2,30,678 रुपए और 8,26,185 रुपए हैं। डॉ. पासवान के पास 7.64 लाख रुपए और उनकी पत्नी के पास 21.23 लाख रुपए की चल संपत्ति है। दोनों के पास क्रमश: 40 लाख रुपए और 24 लाख रुपए की अचल संपत्ति है। डॉ. पासवान और उनकी पत्नी पर क्रमश: 9 लाख रुपए और 2 लाख रुपए की देनदारी है।

    खालिद अनवर हैं करोड़पति
    जदयू उम्मीदवार के पास खालिद अनवर के पास 38700 रुपए और उनकी पत्नी के पास 23400 रुपए नकद हैं। अनवर और उनकी के पास क्रमश: 18.17 लाख रुपए और 9.81 लाख रुपए की चल संपत्ति है। अनवर के पास 2.81 करोड़ रुपए, जबकि उनकी पत्नी के पास 62.5 लाख रुपए की अचल संपत्ति है। ्रअनवर और उनकी पत्नी पर क्रमश: 49 लाख रुपए और 19.66 लाख रुपए की देनदारी है। अनवर की पत्नी के पास 10 तोला सोना और 1.5 किलो चांदी के आभूषण हैं।

    रामेश्वर महतो से उनकी पत्नी अधिक अमीर
    जदयू के उम्मीदवार रामेश्वर महतो के पास 48600 रुपए और उनकी पत्नी के पास 32300 रुपए नकद हैं। दोनों के पास बैंक में क्रमश: 1,67,423 रुपए और 2,42,700 रुपए हैं। महतो और उनकी के पास 1.50 करोड़-1.50 करोड़ रुपए की चल संपत्ति है। महतो के पास 3.37 करोड़, जबकि उनकी पत्नी के पास 8.83 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति है। रामेश्वर महतो पर 16.54 लाख रुपए की देनदारी है।

    प्रेमचंद्र मिश्रा पर 36 लाख का कर्ज
    कांग्रेस के प्रत्याशी प्रेमचंद्र मिश्रा पर विभिन्न बैंकों की 36 लाख की देनदारी है। ये देनदारियां एजुकेशन लोन, कार लोन और कैश क्रेडिट के रूप में हैं। प्रेमचंद्र के पास 47 हजार रुपए की नगदी है, जबकि उनकी पत्नी के पास 28 हजार और बेटे के पास दो हजार रुपए है। प्रेमचंद्र मिश्रा के पास पांच तोला और उनकी पत्नी के पास 25 तोला सोना और एक किलो चांदी के आभूषण हैं। मिश्रा की पत्नी के पास करीब 19 लाख की अचल संपत्ति है, वहीं प्रेमचंद्र मिश्रा के पास 14.76 लाख की चल संपत्ति है। मिश्रा के पास हुंडई की क्रेटा कार भी है।

  • विधान परिषद चुनाव:  सभी 11 उम्मीदवार निर्विरोध विजयी, सिर्फ ऐलान बाकी
    +1और स्लाइड देखें
    प्रेमचंद्र मिश्रा पर 36 लाख का कर्ज
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×