--Advertisement--

अफसर की पिटाई लाइव: महिलाओं ने दफ्तर में घुसकर बीडीओ को थप्पड़ मारा और कपड़े फाड़े

साइन किया चेक नहीं लौटाने की बात करने पर सदस्या के साथ आईं महिलाएं उन पर टूट पड़ीं।

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 05:55 AM IST
बेलसर में बीडीओ से हाथापाई करतीं महिलाएं। बेलसर में बीडीओ से हाथापाई करतीं महिलाएं।

हाजीपुर(बिहार)। मुख्यमंत्री हर घर नल का जल योजना के सादे चेक पर कथित धोखे से वार्ड सदस्या से हस्ताक्षर करवाना बेलसर बीडीओ को महंगा पड़ा। गुरुवार को अपने वार्ड की महिलाओं का हुजूम लेकर पहुंची थी वार्ड सदस्या। साइन किया चेक नहीं लौटाने की बात करने पर सदस्या के साथ आईं महिलाएं उन पर टूट पड़ीं। लप्पर-थप्पड़, सैंडल से बीडीओ की पिटाई कर दी। उनके कपड़े भी फाड़ डाले।

- आठ की महिलाएं वार्ड सदस्या नीलम देवी के साथ प्रखंड कार्यालय खुलने से पहले ही ब्लॉक परिसर में पहुंची थी।

- उन्हें बीडीओ अशोक कुमार के आने का इंतजार था। वे कार्यालय में पहुंचे। वार्ड सदस्या के साथ आई महिलाएं उनके चेंबर में पहुंचीं।

- वार्ड सदस्या उनसे साइन किया हुआ चेक मांगने लगी। चेक पास में न होने की बात कहकर बीडीओ अशोक कुमार ने असमर्थता प्रकट की।

- इसके बाद जो हुआ उसकी कल्पना बीडीओ ने भी नहीं की होगी। महिलाएं उन पर टूट पड़ी। वे चारों ओर से महिलाओं से घिरे थे। उन पर लप्पर-थप्पड़ व सैंडल से हमले किए जा रहे थे।

- वार्डों में हर घर नल का जल योजना की देखरेख की जिम्मेवारी पंचायत सचिव की है।

- जब उनसे यह जानने की कोशिश की गई कि वार्ड आठ में योजना की प्राक्कलन राशि कितनी है, कौन एजेंसी काम कर रहा है, ऐसे किसी भी सवाल का जबाव उनके पास नहीं था।

- पंचायत सचिव गौड़ी राय ने कह-हमें नहीं है मालूम।


पूरे प्रखंड में योजना का कुछ ऐसा ही हाल
- सभी पंचायतों में महत्वाकांक्षी हर घर नल का जल योजना कमोबेश एक जैसा हाल है।

- अन्य योजनाओं की तरह ही पंचायत के मुखिया, पंचायत सचिव से लेकर बीडीओ तक के लिए यह योजना लूटखसोट का बड़ा माध्यम बना हुआ है।

- प्राक्कलन के अनुसार कहीं काम नहीं हो रहा है। योजना में गोपनीयता बरती जा रही है कि आमलोगों को कुछ भी पता नहीं चल पा रहा है।

वार्ड सभा हुई नहीं तो पैसा खाता से कैसे भेजता
वार्ड सदस्या खुद भी बता रहीं हैं कि वार्ड में वार्ड सभा नहीं हुई। वार्ड सभा में ही योजना की मंजूरी दी जानी है। बिना वार्ड सभा हुए नल जल योजना का पैसा पंचायत के खाते से भेजने की स्वीकृति कैसे देता? पैसा नहीं भेजने की बात पर वार्ड सदस्या महिलाओं का हुजूम लाकर बीडीओ साहेब के साथ मारपीट की और सरकारी काम में बाधा डाला। रविकिशन, मुखिया बेलसर पंचायत


पुलिस पहुंच कर मोर्चा संभाला
- महिलाओं का रौद्र रूप देखकर प्रखंड व अंचल कार्यालय के कर्मियों की हिम्मत नहीं हो रही थी कि वे बीच-बचाव करें। उल्टे कहीं उनके गुस्से का शिकार होने से बचने के लिए कर्मचारी भाग निकले।

- ब्लॉक परिसर से दूर फोन कर बेलसर ओपी की पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने पहुंच कर बीडीओ को सुरक्षा घेरा में लिया। महिलाओं के एक-दो हाथ उन्हें भी लगे।

- स्थिति देख मदद के लिए वैशाली थाना व लालगंज इंसपेक्टर को भी पहुंचना पड़ा। साइन किया हुआ चेक व पासबुक लौटाने का आश्वासन मिलने पर महिलाएं शांत हुईं।


सीओ ने लौटाया चेक व पासबुक
- वार्ड सदस्या के साथ आईं महिलाएं चेक व पासबुक लेकर ही जाने की जिद पर अड़ी थीं। मालूम हुआ कि चेक व पासबुक पंचायत सचिव के पास है। उन्हें फोन कर चेक, पासबुक मंगवाया गया।

- सुरक्षा के लिहाज से बेलसर पुलिस के साथ वैशाली थानाध्यक्ष संजीत कुमार, लालगंज के सर्किल इंसपेक्टर ब्लॉक में बने हुए थे।

- उनकी मौजूदगी में सीओ संदीप कुमार ने वार्ड सदस्या नीलम देवी को चेक के साथ पासबुक लौटाया तब जाकर महिलाएं वहां से हटीं। ़

अब जरा मुदई व मुदालह की सुनिए कि किसने, क्या कहा?


महिलाओं से कुछ लोगों ने हमला करवाया
- बेलसर प्रमुख पति धीरज सहनी के नेतृत्व में प्रकरण किया गया। ओपी प्रभारी, वैशाली एसपी, डीएम को आवेदन दिया है। जिसमें प्रमुख पति को नामजद कर अज्ञात को आरोपित किया गया है।

- प्राथमिकी और करवाई नहीं होने पर हड़ताल पर जाने का संकेत दिया है। बेलसर ओपी अध्यक्ष विष्णुदेब दुबे ने बताया कि आवेदन नहीं मिला है। अशोक कुमार, बीडीओ बेलसर, वैशाली


वार्ड सदस्या बोलीं-धोखे से साइन करवा लिया चेक
- नल का जल योजना के संबंध में पूरी जानकारी नहीं थी। धोखे में रखकर मुखिया रविकिशन व बीडीओ अशोक कुमार ने चेक साइन करवा लिया, पासबुक भी ले लिया।

- नल का जल योजना में वार्ड सदस्य को क्या करना है क्या नहीं, दूसरे पंचायत के जानकार वार्ड सदस्य से जानकारी मिली। अधिकार का हनन ही नहीं मुखिया की मिलीभगत से बीडीओ घपला करना चाहते थे।

वार्ड सभा भी नहीं की गई और नही योजना का फाइल खोला गया। चेक व पासबुक लौटाने को कहने पर आनाकानी की जा रही थी। अहित होने का ख्याल कर वार्ड की महिलाएं भड़क उठीं और उनके नियंत्रण में नहीं रहीं। नीलम देवी, वार्ड 8 सदस्या, बेलसर



बीडीओ से पिटाई करतीं महिलाएं। बीडीओ से पिटाई करतीं महिलाएं।
हां बीडीओ को जमकर पीटा। हां बीडीओ को जमकर पीटा।

Related Stories