• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - धनुष यज्ञ में जनकपुर जाते समय राजापुर में रुके थे भगवान श्रीराम
--Advertisement--

धनुष यज्ञ में जनकपुर जाते समय राजापुर में रुके थे भगवान श्रीराम

महंथ सुरेशचंद्र शास्त्री को कुश की आसनी सौंपतीं महिलाएं। सिटी रिपोर्टर | पटना कौशिकी अमावस्या पर रविवार को...

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 05:10 AM IST
महंथ सुरेशचंद्र शास्त्री को कुश की आसनी सौंपतीं महिलाएं।

सिटी रिपोर्टर | पटना

कौशिकी अमावस्या पर रविवार को गंगा स्नान के लिए पटना के गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। सुबह से दोपहर बाद तक खासतौर से महिलाओं के गंगा तट पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। इस दौरान राजापुर पुल के पास हर साल लगने वाला पारंपरिक कुसिया मेले में देर शाम तक खासी रौनक रही। इस दौरान श्री राधाकृष्ण प्रणामी मंदिर परमहंस पीठ सत्संग धाम राजापुर में भगवान के दर्शन-पूजन के बाद महिला श्रद्धालुओं में महंथ सुरेशचंद्र शास्त्री जी महाराज का आशीर्वाद लेने की होड़ लगी रही। महिलाओं ने कुश की आसनी, फल-फूल आदि दान किया। सुरेशचंद्र शास्त्री जी महाराज ने बताया कि ऐसी मान्यता है कि धनुष यज्ञ में भाग लेने जनकपुर जाने के क्रम में भगवान श्रीराम राजापुर में रूके थे। यहां प्रणामी संप्रदाय के भक्तों ने उन्हें कुएं का पानी पिलाया था और विश्राम के लिए कुश की आसनी दी थी। वह दिन भादो की अमावस्या थी। तभी से यहां हर साल भादो की अमावस्या तिथि को कुश की आसनी दान करने की परंपरा चली आ रही है।