पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

महागठबंधन ने दलित नेता मांझी को मंझधार में छोड़ा: भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजीव रंजन, भाजपा प्रवक्ता।
  • राजीव ने कहा-दलित होने के कारण उनकी यह वाजिब मांग भी राजद को पच नहीं रही
  • मांझी ने कहा था -बिना कोऑर्डिनेशन कमेटी के अब एक कदम भी साथ नहीं चलेंगे

पटना. भाजपा ने महागठबंधन पर दलित नेता पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को अपमानित करने का आरोप लगाया है। पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि महागठबंधन ने उन्हें मंझधार में ही छोड़ दिया है। तेजस्वी यादव द्वारा जीतनराम मांझी के बार-बार अपमान किये जाने पर महागठबंधन के अन्य घटक दलों की चुप्पी ने एक बार फिर से उनकी आपसी एकता की पोल खोल दी है। किसी भी गठबंधन में कोऑर्डिनेशन कमिटी होना एक आम बात है, जिसकी मांग मांझी कर रहे हैं। लेकिन सिर्फ दलित होने के कारण उनकी यह वाजिब मांग भी राजद को पच नहीं रही है। वंशवाद के वजह से खुद को युवराज समझने वाले तेजस्वी ने शुरुआत से ही पार्टी के बड़े नेताओं को अपने सामने झुकते देखा है। इसीलिए उन्हें यह हजम ही नहीं हो रहा है कि कोई दलित, पिछड़ा व्यक्ति उनके सामने किसी तरह की मांग रखने की हिम्मत कैसे कर सकता है। अपने इसी अहंकार और तानाशाही रवैए की वजह वह कोआर्डिनेशन कमिटी न बनने देने पर अड़े हुए हैं।


राजीव ने कहा कि इस पूरे प्रकरण का सबसे दुखद पहलु यह है कि मांझी ने महागठबंधन के अपने जिन साथियों पर भरोसा किया था, तेजस्वी के डर और अपने स्वार्थ के कारण, उन्होंने भी मांझी का साथ छोड़ दिया। पहले तो उन्हें कोआर्डिनेशन कमिटी की मांग उठाने की हिम्मत नहीं हुई। इसीलिए एक सुनियोजित साजिश के तहत पहले उन्होंने मांझी को इस्तेमाल करते हुए आगे कर दिया। अब जब उनकी सलाह पर चल रहे मांझी तेजस्वी का प्रकोप झेल रहे हैं, तो इन लोगों ने उन्हें बीच मंझधार में अकेला छोड़ दिया। वास्तव में इन लोगों को अपने जनाधार की असलियत अच्छे से पता है। वह जानते हैं कि अगर उन्होंने अपने बूते चुनाव लड़ने की कोशिश की तो वोट मिलना तो दूर उन्हें ढंग के उम्मीदवार तक नहीं मिल पाएंगे।


भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि अपने इसी स्वार्थ के लिए उन्होंने मांझी की नाव को बीच रास्ते में ही डूबो दिया। इसके अलावा मांझी के रास्ते से हटने से उन्हें ज्यादा सीटें मिलने की उम्मीद भी है। यह उनकी अवसरवादिता के साथ-साथ दलितों के प्रति उनकी कुत्सित मानसिकता को भी दिखाता है। बहरहाल इस पूरे प्रकरण से जनता यह समझ चुकी है, जो नेता अपने साथी को इस तरह इस्तेमाल करके फेंक सकते हैं, वह जनता के क्या होंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिवार में प्रॉपर्टी या किसी अन्य मुद्दे को लेकर जो गलतफहमियां चल रही थी आज वह किसी की मध्यस्थता से दूर होंगी। जिसकी वजह से परिवार का माहौल शांतिपूर्ण हो जाएगा। घर में नवीनीकरण या परिवर्तन सं...

और पढ़ें