--Advertisement--

भाई दूज पर बहन कर रही थी इंतजार तभी आई भाई की मौत की खबर, भाई की लाश को तिलक लगाकर बहन ने दी अंतिम विदाई

पत्नी और बेटी लाश से लिपटकर चीख रहीं थीं।

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 04:33 PM IST

फुलवारीशरीफ (बिहार)। पैसे के लेन-देन के विवाद में शुक्रवार सुबह पंचायत की मुखिया आभा देवी के भाई 42 वर्षीय हेमंत को उनके घर के बाहर ही गोली मार कर हत्या कर दी गई। परिजनों ने हत्या का आरोप गांव के ही तीन भाइयों संतोष सिंह, संटू सिंह और मंटू सिंह पर लगाया है। हालांकि अबतक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। इस मामले में दिलचस्प पहलू यह है कि हत्या के आरोपियों के पिता महानंद सिंह (85 साल) की लंबी बीमारी से शुक्रवार तड़के ही मौत हो गई थी।

पिता का शव दिनभर घर में पड़ा रहा, लेकिन बेटे नहीं लौटे

चर्चा है कि बबलू शर्मा ने महानंद सिंह के बड़े बेटे संतोष सिंह को बतौर कर्ज 3 लाख रुपए दिए थे। पिता की मौत की खबर सुनकर संतोष अपने भाई संटू के साथ घर लौट रहा था, तभी रास्ते में बबलू शर्मा से उसकी बकाया पैसे को लेकर बकझक हो गई। इसके बाद बबलू की हत्या कर दी गई। उनके सीने में नजदीक से दो गोलियां मारी गईं। बबलू की हत्या के बाद से तीनों भाई फरार हैं। उनके पिता का शव दिनभर घर में पड़ा रहा। शाम में पुलिस शव को थाने ले गई।

सैकड़ों लोगों की भीड़ जमकर किया हंगामा


बबलू की हत्या के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। मौके पर पहुंची जानीपुर पुलिस ने घटनास्थल से एक जिंदा गोली बरामद की। पुलिस जब लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजने लगी, तो जानीपुर थानेदार मोहन प्रसाद सिंह को आक्रोशित लोगों ने घेर लिया और लाश को उठाने से रोक दिया। लोग हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े थे। उधर पुलिस ने हत्यारों की तलाश में पूरे इलाके में नाकेबंदी कर छापेमारी शुरू कर दी। सुबह करीब सात साढ़े सात बजे हुई हत्या की वारदात के बाद करीब पांच घंटे तक हंगामा होता रहा। आक्रोशित लोगों को शांत कराने के लिए फुलवारी, जानीपुर व नौबतपुर थाने की पुलिस के साथ रैपिड एक्शन फोर्स को बुलाना पड़ा। पुलिस अफसरों के समझाने और हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने पर लोग शांत हुए। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।


भैया दूज पर बहन ने भाई के शव को लगाया तिलक


भाई दूज की तैयारी में जुटी मुखिया आभा देवी अपने भाई के आने का इंतजार कर रही थीं तभी उनकी हत्या की खबर सुनकर उनकी हालत खराब हो गई। पति राम अयोध्या के साथ रोते-बिलखते वह अपने मायके पहुंचीं और भाई का शव देख चीत्कार मारकर गिर पड़ीं। बबलू की पत्नी अनीता पति के लाश से लिपटकर चीत्कार मारकर बेहोश हो जा रही थीं। पिता के शव से लिपट कर 18 वर्षीया बेटी सोनाली और 12 वर्षीया सुनैनी का आंसू सूखने का नाम नहीं ले रहा था। पोस्टमार्टम के लिए ले जाने से पहले आभा ने भैया दूज पर अंतिम बार भाई की लाश को तिलक लगाकर विदाई दी।

man shot dead on bhaiyadooj in fulwarisharif bihar
man shot dead on bhaiyadooj in fulwarisharif bihar
X
man shot dead on bhaiyadooj in fulwarisharif bihar
man shot dead on bhaiyadooj in fulwarisharif bihar
Bhaskar Whatsapp

Recommended