राजनीति / महागठबंधन में दिखी दरार, मांझी ने किया किनारा, राजद भी रहा दूर



महागठबंधन और वामदलों की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस। महागठबंधन और वामदलों की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस।
X
महागठबंधन और वामदलों की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस।महागठबंधन और वामदलों की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस।

  • रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र ने कहा- एनडीए का विकल्प देगा महागठबंधन व वामदल
  • एनडीए सरकार के खिलाफ 13 को सड़क पर उतरेगा महागठबंधन व वामदल
  • कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह का दावा- मांझी महागठबंधन के साथ ही रहेंगे

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 07:47 PM IST

पटना. महागठबंधन में एक बार फिर दरार साफ दिखी। शुक्रवार को महागठबंधन और वामदलों की संयुक्त प्रेस वार्ता से हम ने किनारा कर लिया। राजद ने भी अपने किसी प्रतिनिधि को नहीं भेजा। राजद के टिकट पर चुनाव लड़ चुके पूर्व मंत्री अर्जुन राय तो थे, पर उन्होंने कहा- मैं तो यूं ही आ गया। वामदलों से भाकपा व माकपा के नेता थे, तो भाकपा माले से कोई प्रतिनिधित्व नहीं था।

 

रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन और वामदल संयुक्त रूप से 13 नवंबर को एनडीए सरकार के खिलाफ जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करेंगे। पहले यह कार्यक्रम 10 नवंबर को निर्धारित था। आज देश में गलत काम का विरोध करने वालों को देशद्रोही करार दे दिया जा रहा है। बिहार में शिक्षा, स्वास्थ्य और विधि व्यवस्था बदहाल है। एनडीए सरकार का विकल्प हम मिल कर देंगे। सरकार के खिलाफ सड़क पर लगातार आंदोलन चलाया जाएगा। बिहार में भ्रष्टाचार की घटना बढ़ गई है। केंद्र सरकार निजीकरण को बढ़ावा रही है। विरोध करने वाले युवाओं को गलत तरीके से फंसाया जा रहा है। आज बिहार सहित पूरे देश में जनता में एनडीए सरकार के खिलाफ आक्रोश है। डॉ. लोहिया के विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए हम सड़क को सूनी नहीं होने देंगे। सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ आंदोलन तेज करेंगे।

 

भाकपा के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने कहा कि देश और बिहार की सरकार के खिलाफ जनता में जबर्दस्त आक्रोश है। देश में आर्थिक मंदी है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। भ्रष्टाचार चरम पर है। बिहार में सृजन, शौचालय सहित कई घोटाले सामने आ रहे हैं। भूमि सुधार कानून राज्य में लागू नहीं किया गया। माकपा राज्य सचिव मंडल सदस्य अरुण कुमार मिश्रा ने कहा कि पुलिस और वकील की लड़ाई देश की स्थिति बता रही है। सरकार की गलत नीतियों के कारण आम आदमी परेशान है। संपूर्ण विपक्ष को मिल कर सरकार के खिलाफ संयुक्त रूप से आंदोलन चलाना होगा।

 

महागठबंधन के साथ ही रहेंगे मांझी
कांग्रेस से राज्य सभा सदस्य डॉ. अखिलेश सिंह ने दावा किया हम नेता जीतनराम मांझी महागठबंधन से हटने वाले नहीं हैं। वे हमारे साथ ही रहेंगे। महागठबंधन में किसी प्रकार का मनमुटाव नहीं है। महागठबंधन पूरी तरह एकजुट है। केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ हम मिल कर संयुक्त आंदोलन चलाएंगे। इधर उपेंद्र कुशवाहा ने भी कहा कि मांझी जी महागठबंधन में साथ रहेंगे।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना