मिलर स्कूल मैदान में बिना अनुमति लिए अनशन पर बैठे उपेंद्र पर हाेगी एफअाईअार

Patna News - जिला प्रशासन से बिना अनुमति लिए मिलर स्कूल मैदान में अनशन पर बैठने वाले रालाेसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पर...

Nov 28, 2019, 07:12 AM IST
जिला प्रशासन से बिना अनुमति लिए मिलर स्कूल मैदान में अनशन पर बैठने वाले रालाेसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पर एफअार्इअार हाेगी। जिला प्रशासन ने स्थल आवंटित करने वाले शिक्षा विभाग काे पत्र लिखा है। पत्र का जवाब मिलने के बाद प्राथमिकी दर्ज करने सहित अन्य कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उधर, शिक्षा विभाग ने बुधवार को देर शाम मिलर स्कूल ग्राउंड का आवंटन रद्द कर दिया। शिक्षा विभाग के निदेशक माध्यमिक शिक्षा गिरवर दयाल सिंह ने रालोसपा के प्रधान महासचिव निर्मल कुशवाहा के नाम पत्र जारी किया है। इस पत्र में कहा गया है कि कार्यक्रम आयोजन करने के लिए रालोसपा ने अनुमति ली थी। इस अनुमति के इतर अनिश्चितकालीन आमरण अनशन किया जा रहा है। इस वजह से आवंटन रद्द किया गया गया। वहीं कार्यक्रम के दिन जिला प्रशासन ने आमरण अनशन नहीं करने का पत्र रालोसपा को दिया था।

डीएम कुमार रवि ने कहा कि न्यायालय के आदेशानुसार प्रतिबंधित क्षेत्र में धरना-प्रदर्शन करने, जुलूस निकालने, अनशन करने पर राेक है। जिला प्रशासन के द्वारा मिलर स्कूल मैदान में रालाेसपा अध्यक्ष काे अनशन करने की अनुमति नहीं दी गयी है। इसके साथ ही ध्वनि विस्तारक यंत्र काे बजाने के लिए एसडीएम कार्यालय से अनुमति नहीं दी गयी है। शिक्षा विभाग से रिपोर्ट मिलने के बाद समीक्षा कर अागे की कार्रवाई हाेगी। वर्तमान समय में मजिस्ट्रेट के साथ डॉक्टर काे प्रतिनियुक्त किया गया है। उनकी स्वस्थ्य की जांच की जा रही है। वहीं, शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों की माने ताे रालाेसपा अध्यक्ष काे कार्यक्रम के लिए स्थल का आवंटन किया गया है। वहीं, प्रशासनिक पदाधिकारियों ने कहा कि स्थल का आवंटन संबंधित विभाग द्वारा किया जाता है। जबकि, कार्यक्रम करने की अनुमति जिला प्रशासन से लेनी हाेती है।

आमरण अनशन के दौरान रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा व समर्थक।

अनशन दूसरे दिन भी जारी, उपेंद्र कुशवाहा का वजन 5 किलो घटा

पॉलिटिकल रिपोर्टर | पटना

नवादा और औरंगाबाद के देवकुंड में केंद्रीय विद्यालय खोलवाने के लिए मिलर हाईस्कूल मैदान पर रालोसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा का आमरण अनशन बुधवार को भी जारी रहा। कुशवाहा ने कहा कि राज्य सरकार के प्रस्ताव पर ही केंद्र में मंत्री रहते हुए उन्होंने नवादा और औरंगाबाद में केंद्रीय विद्यालय खोलने का निर्णय लिया था। इसे राज्य सरकार गलत साबित कर दे, तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे। शिक्षा में सुधार के लिए हम जान भी दे देंगे, लेकिन राज्य के बच्चों का भविष्य बर्बाद नहीं होने देंगे। संकल्प दोहराया कि स्कूल खुलवा कर रहेंगे। मिलर स्कूल मैदान पर वे नींबू पानी पी रहे हैं। बताया गया कि 63 किलो से 5 किलो वजन घटकर 58 किलो रह गया है। ब्लड प्रेशर सामान्य है। कुशवाहा के आमरण अनशन के समर्थन में विपक्षी दलों के नेताओं का आना जारी रहा। राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष जगतानंद सिंह भी पहुंचे और सरकार पर शिक्षा की अनदेखी का आरोप लगाया। गुरुवार से रालोसपा की कार्यकारी अध्यक्ष रेखा गुप्ता, मालती कुशवाहा व स्वीटी प्रिया भी अनशन शुरू करेंगी। कांग्रेस विधायक शकील अहमद, भाकपा माले विधायक महबूब आलम व सुदामा प्रसाद, माकपा के राज्य सचिव अवधेश कुम आदि शामिल हुए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना