--Advertisement--

मॉब लिंचिंग / रेलकर्मी से लूट की कोशिश, भीड़ ने एक अपराधी को पीट-पीकर मार डाला



लोग बेल्ट से पंकज को पीट रहे थे। लोग बेल्ट से पंकज को पीट रहे थे।
भीड़ द्वारा की जा रही पिटाई के चलते सड़क जाम हो गया था। भीड़ द्वारा की जा रही पिटाई के चलते सड़क जाम हो गया था।
  • बुकिंग सुपरवाइजर अशोक सिंह 24 लाख रुपए बैंक में जमा करने आए थे।
  • अशोक जैसे ही चौराहे के पास पहुंचे पहले से घात लगाए चार अपराधियों ने हमला कर दिया। 
Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 07:34 PM IST

सासाराम.  बिहार के सासाराम में मंगलवार दोपहर को भीड़ ने एक अपराधी को पीट-पीटकर मार डाला। घटना नगर थाना क्षेत्र के पोस्ट ऑफिस चौराहा की है।

 

दोपहर करीब 12 बजे रेलवे के बुकिंग सुपरवाइजर अशोक सिंह 24 लाख रुपए बैंक में जमा करने आए थे। उनके साथ रेल पुलिस के जवान भी थे। अशोक जैसे ही चौराहे के पास पहुंचे पहले से घात लगाए चार अपराधियों ने हमला कर दिया। 

 

रेलकर्मी को मारी गोली
अपराधियों ने अशोक को गोली मार दी। इस दौरान एक गोली पास मौजूद माया कुमारी नाम की महिला के पैर में लगी। अशोक के साथ आए रेलवे पुलिस के जवानों ने पैसे लूटने से बचा लिए। भीड़-भाड़ वाला इलाका होने के चलते तुरंत लोग जमा हो गए। लूट में असफल होने पर अपराधी भागने लगे। तीन लुटेरे तो भागने में सफल रहे, लेकिन चौथा भीड़ के हाथ लग गया। 

 

पीट-पीटकर ली जान
भीड़ ने पंकज गोस्वामी नाम के अपराधी को पीटना शुरू कर लिया। लात-घूंसे, लाठी और बेल्ट से उसे मारा गया। भीड़ में मौजूद लोग किसी भी कीमत पर पंकज को जिंदा नहीं छोड़ना चाहते थे। पिटाई से वह जमीन पर बेसुध पड़ा था और लोग घेरकर बेल्ट बरसा रहे थे। सभी चेहरे और सिर पर वार कर रहे थे। करीब 45 मिनट तक भीड़ उसे पीटती रही। इस दौरान तमाशबीन घेरा बनाकर देखते रहे। मौके पर पहुंची पुलिस को भी लोगों ने पंकज को बचाने से रोका। 

 

हॉस्पिटल में हुई मौत
पुलिस किसी तरह पंकज को भीड़ से निकालकर सदर हॉस्पिटल ले गई। बेरहमी से हुई पिटाई से उसकी हालत गंभीर थी। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। 

 

सासाराम के एएसपी राजेश कुमार ने कहा कि रेलवे के पैसे को लूटने से बचा लिया गया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायल पंकज को हॉस्पिटल ले गई। उसके तीन साथियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

--Advertisement--