--Advertisement--

नालंदा के अपहर्ताओं ने लेबर ठेकेदार को उठाया, सुराग नहीं

हैदराबाद के गंगानगर की एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के लेबर ठेकेदार अशोक साह का मीठापुर बस स्टैंड से अपहरण करने वाले...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:22 AM IST
Patna - nalanda hijackers raised labor contractor not clues
हैदराबाद के गंगानगर की एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के लेबर ठेकेदार अशोक साह का मीठापुर बस स्टैंड से अपहरण करने वाले अपराधी नालंदा जिले के हैं। मुजफ्फरपुर के मीनापुर थाने के जामिन मठियां गांव निवासी अशोक को बस स्टैंड से 6 नवंबर की रात अपराधियों ने उठा लिया। अशोक को अपना परिचित बताकर मुजफ्फरपुर पहुंचाने की बात कह गाड़ी में बैठा लिया। वहां से उन्हें अगमकुआं तक ले गए। अगमकुआं इलाके से अशोक ने 9:39 बजे मुजफ्फरपुर के एक ऑटोचालक को फोन कर कहा कि डेढ़-दो घंटे में मुजफ्फरपुर पहुंच जाएंगे। तुम्हारे ऑटो से घर जाएंगे। उसके बाद से उनका मोबाइल बंद हो गया। सूत्रों का कहना है कि अगमकुआं से फिर ठेकेदार को वापस मीठापुर बस स्टैंड लाया गया और वहां स्थित एटीएम से उनके दो खातों से करीब दो लाख रुपए निकाले गए। फिर दो अपहर्ता 7 नवंबर को करीब साढ़े 10 बजे बिहारशरीफ के पुलपर स्थित गोवर्धन लाल रस्तोगी नामक सोने-चांदी की दुकान पहुंचे और वहां से करीब डेढ़ लाख का जेवर ऑनलाइन खरीदा। अशोक को अपहर्ता बिहारशरीफ साथ ले गए या नहीं, इसका खुलासा नहीं हो सका है। सोने-चांदी की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में केवल दो अपहर्ताओं का फुटेज दिखा है। पुलिस का दावा है कि अपहर्ताओं की पहचान कर ली गई है। जक्कनपुर थाना पुलिस की टीम नालंदा जिला में छापेमारी करने गई हुई है। इन दोनों में से किसी एक भी अपराधी की गिरफ्तारी के बाद पता चलेगा कि अशोक कहां है। इधर किसी अनहोनी की आशंका देख, मुजफ्फरपुर से पटना पहुंचे उनके भाई शंकर किशोर व अन्य परिजन सहमे हुए हैं। शंकर ने बताया कि अशोक कहां है? कुछ मालूम नहीं है।

बस स्टैंड के पास फुटेज नहीं मिला

पुलिस को बिहारशरीफ स्थित दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में दो अपहर्ताओं का फुटेज मिल गया है। पुलिस को जांच में इसलिए दिक्कत हो रही है कि जिन दो-तीन एटीएम से 6 नवंबर की रात को पैसा निकाला गया वहां का फुटेज पुलिस को नहीं मिला है। पुलिस एटीएम के फुटेज को सोने-चांदी दुकान से मिले फुटेज से मिलान कर यह देखेगी कि वही दोनों यहां से रकम निकालने में थे या नहीं। कहीं ऐसा नहीं कि बस स्टैंड से रकम उसी गिरोह के अन्य अपराधियों ने निकाली और दुकान से ऑनलाइन गहने की खरीदारी दूसरे अपराधियों ने की।

अशोक साह

दीपावली और छठ मनाने के लिए जा रहे थे अपने गांव

एक बेटा और बेटी के पिता अशोक परिवार के साथ दीपावली और छठ मनाने को 5 नवंबर को हैदराबाद से ट्रेन से रवाना हुए। 6 नवंबर की रात पटना जंक्शन पहुंचे। फिर वहां से मुजफ्फरपुर जाने के लिए बस स्टैंड आए। उन्हें बस पकड़नी थी। 6 नवंबर की रात 9:20 बजे प|ी को फोन कर कहा कि वह बस में सवार होने वाले हैं। फिर किसी घर वाले से बात नहीं की। जब रात डेढ़ बजे तक घर नहीं पहुंचे तो प|ी व अन्य परिजन अशोक के मोबाइल पर फोन करने लगे। कई बार संपर्क किया गया लेकिन हर बार मोबाइल बंद मिला। 7 नवंबर को जब उनके दो खातों का स्टेटमेंट परिजनों ने लिया तब मालूम हुआ कि दोनों खाते से करीब साढ़े तीन लाख रुपए की निकासी हो गई है जिसमें डेढ़ लाख का ऑनलाइन शॉपिंग भी है। इधर, सिटी एसपी ईस्ट अारके भील ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन करने में जुटी है। जल्द ही अपहर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। ठेकेदार को भी बरामद कर लिया जाएगा।

X
Patna - nalanda hijackers raised labor contractor not clues
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..