महाराजगंज में नप अध्यक्ष- उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
महाराजगंज | महाराजगंज नगर पंचायत के मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद के खिलाफ सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया। पार्षद मंजू देवी मुख्य पार्षद राजकुमारी देवी और उप मुख्य पार्षद दिनेश कुमार साह के खिलाफ शनिवार को 8 सदस्यों के हस्ताक्षर युक्त एक ज्ञापन नपं के ईओ अरविंद कुमार सिंह को दिया। मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के साथ ही राजनीतिक तापमान एकाएक गरमा गया है। मालूम हो कि महाराजगंज नगर पंचायत क्षेत्र में 14 वार्ड पार्षद है और 8 वार्ड पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव पर अपने हस्ताक्षर किए है। सदस्यों ने मुख्य पार्षद राजकुमारी देवी और उप मुख्य पार्षद दिनेश कुमार साह पर नगर के वार्ड पार्षदो की अपेक्षा और तानाशाही रवैया अपनाने, सदस्यों के मान सम्मान के साथ खिलवाड़ करते हुए भेदभाव बरतने, सदस्यों को बिना विश्वास में लिए कोई भी फैसले लेने और दो वर्ष के कार्यकाल में विकास कार्य को धरातल पर नहीं लाने का आरोप लगाया है। मंजू देवी ने अपने दिए ज्ञापन में कई गम्भीर आरोप लगाए है। इस सम्बंध में ईओ अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि मंजू देवी द्वारा 8 सदस्यों के हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन मुख्य पार्षद और उप मुख्य पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। नियमानुसार शीघ्र ही बैठक बुलाई जाएगी। इधर नपं के मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद ने उनके खिलाफ लाये गए अविश्वास प्रस्ताव पर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया और इस प्रस्ताव पर कुछ भी बोलने से इनकार करते हुए कहा कि बैठक की तिथि निर्धारित होने पर उनकी रणनीति सबके सामने आएगी। मालूम हो कि नपं के मुख्य पार्षद का चुनाव राजकुमारी देवी और मंजू देवी और उप मुख्य पार्षद का चुनाव दिनेश कुमार सिंह और उमाशंकर सिंह के बीच हुआ था, जिसमें राजकुमारी देवी मुख्य पार्षद और दिनेश कुमार साह उप मुख्य पार्षद चुने गए थे। इधर ज्ञापन पर हस्ताक्षर 8 वार्ड पार्षदों का हस्ताक्षर है, जिसमें मंजू देवी, सेराज आलम, उमाशंकर सिंह, अंकज कुमार, सोहन चौधरी, मनोज कुमार, रंजू देवी, आसमा खातून शामिल है।

खबरें और भी हैं...