अमीर बनने अाैर प्रेमिका के साथ दिल्ली में रहने के लिए पड़ोसी ने किया था छात्र का अपहरण

Patna News - कम समय में अमीर बनने और प्रेमिका के साथ शादी करने के बाद उसके साथ दिल्ली में ऐशो आराम से रहने के लिए घोसवरी थाने के...

Jan 16, 2020, 08:40 AM IST
Patna News - neighbors kidnapped student to become rich and live in delhi with girlfriend
कम समय में अमीर बनने और प्रेमिका के साथ शादी करने के बाद उसके साथ दिल्ली में ऐशो आराम से रहने के लिए घोसवरी थाने के रामनगर निवासी रामनिवास कुमार ने दोस्त बलराम महतो के 10 साल के बेटे रवि किशन का अपहरण कर लिया। पुलिस ने 10 लाख की फिरौती के लिए अगवा किए गए छात्र रवि को मनकट्‌ठा से बरामद करने के साथ ही रामनिवास के रिश्तेदार छट्‌टू साव और प्रभात कुमार को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले पुलिस रामनिवास को गिरफ्तार कर चुकी थी। इन तीनों के पास से पुलिस ने एक देसी कट्‌टा, एक जिंदा कारतूस व 5 मोबाइल बरामद किया। मंगलवार को करीब चार बजे गांव के ही निजी स्कूल में पढ़ने वाले तीसरी क्लास के छात्र रवि काे घर के पास खेलने के दाैरान अगवा किया गया था। रामनिवास ने अपने दो सहयोगियों को उसके पास भेजा और उसे यह कहने को कहा कि मामा बुला रहे हैं। रवि उनके झांसे में आ गया। थोड़ी ही दूर पर बोलेरो लगी थी। वहां से रवि को लेकर हथिदह स्टेशन पहुंचे और फिर ट्रेन से ले जाकर छट्‌टू के घर में बंद कर दिया। शाम करीब 8 बजे अपहरण में शामिल रौशन का फोन बलराम के मोबाइल पर आया कि 10 लाख फिरौती दो नहीं तो बच्चे को जान से मार देंगे। 6 अपहर्ता इसमें शामिल थे। दो ट्रेन से भाग गए। अगर पुलिस बरामद नहीं करती तो अपहर्ता रवि की हत्या कर देते। इसी साल रामनिवास ने प्रेमिका से लव मैरेज कर घर बसाया है। अब दिल्ली में बसने वाला था।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में घटना की जानकारी देते एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा।

7 घंटे तक चला ऑपरेशन तब मिली सफलता

फिरौती की मांग आने के बाद घोसवरी थानेदार ने एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा अौर प्रभारी ग्रामीण एसपी जितेंद्र कुमार को सूचना दी। एसएसपी ने जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में टीम बनाई इसमें फतुहा एएसपी मनीष कुमार, पटना सिटी के एसडीपीओ मनीष कुमार के अलावा बाढ़, मोकामा, घोसवरी, पंडारक थानेदारों को शामिल किया गया। एसएसपी खुद इसकी मॉनिटरिंग करते रहे। जिस मोबाइल नंबर से फोन आया उसका लोकेशन मनकट्‌ठा में बता रहा था। फिरौती मांगे गए नंबर का सीडीआर निकाला गया तो रामनिवास से कई बार बात होने की जानकारी मिली। पुलिस ने रामनिवास के घर पर दबिश दी, पर वह फरार था। पुलिस को शक हो गया। उसके बाद पुलिस ने ट्रेन से हथिदह जा रहे रामनिवास को पहले गिरफ्तार कर लिया। फिर उसकी निशानदेही पर मनकट्‌ठा में छोटू के घर में बुधवार को तड़के तीन बजे छापेमारी की गई। रवि कमरे में बंद था। उसे बरामद किया गया और छट्‌ठू के साथ ही प्रभात को मौके से दबाेच लिया।

अपहर्ता भी केस दर्ज कराने पहुंचा

जब फिरौती मांगी गई ताे रवि की भी आवाज सुनाई गई। इधर, रामनिवास अपने सहयोगियों को रवि को सौंप कर बाइक से गांव लौट गया। इधर फिरौती की मांग आने के बाद बलराम घोसवरी थाने पहुंचे और केस दर्ज करा दिया। चौंकाने बात यह है कि रामनिवास भी केस करने के लिए बलराम के साथ थाने पहुंचा था। इसके बाद फिर वह गांव से रवाना हो गया।

धमकी दे रहे थे, पर मारपीट नहीं की

एसएसपी दफ्तर में पिता के साथ मौजूद रवि ने बताया गाड़ी में बीच में बैठाया था। फिर ट्रेन से ले गए। कमरे में बंद कर दिया। वहां चार-पांच लोग थे। इन लोगों ने खाने को चाउमिन दिया, पर नहीं खाए। बार-बार मार देने की धमकी दे रहे थे, पर मारपीट नहीं की। एसएसपी ने बताया कि अगर पुलिस रवि को बरामद नहीं करती तो अपहर्ता उसकी हत्या कर देते।

X
Patna News - neighbors kidnapped student to become rich and live in delhi with girlfriend
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना