पटना / मुख्यमंत्री ने की वृद्धजन पेंशन योजना की शुरुआत,1.35 लाख लोगों को मिला लाभ



सीएम वृद्धजन पेंशन योजना की शुरुआत करते नीतीश कुमार। सीएम वृद्धजन पेंशन योजना की शुरुआत करते नीतीश कुमार।
Nitish kumar beginning chief Minister Old Age Pension Scheme
X
सीएम वृद्धजन पेंशन योजना की शुरुआत करते नीतीश कुमार।सीएम वृद्धजन पेंशन योजना की शुरुआत करते नीतीश कुमार।
Nitish kumar beginning chief Minister Old Age Pension Scheme

  • नीतीश ने कहा- 35-36 लाख वृद्धजनों के योजना से जुड़ने का अनुमान
  • आवेदन पर तत्काल फैसला कर भुगतान शुरू कर दिया जाएगा

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 05:31 PM IST

पटना.  गांव-गांव में अभियान चला कर 60 साल से अधिक उम्र के लोगों से आवेदन लें और 10 दिनों में सीएम वृद्धजन पेंशन योजना का लाभ दिलाएं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संवाद में शुक्रवार को 1 लाख 35 हजार 928 लोगों के बैंक खाता में अप्रैल व मई की सीएम वृद्धजन पेंशन योजना की राशि डीबीटी से भेजते हुए अधिकारियों को यह निर्देश दिया। www.sspmis.in पर आवेदन कर भी योजना का लाभ ले सकते हैं।

 

सीएम ने कहा कि माता-पिता की उपेक्षा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जमीन, संपत्ति ले कर कुछ लोग अपने बुजुर्ग माता-पिता को छोड़ देते और भरण पोषण नहीं करते। ऐसे लोगों पर कार्रवाई होगी। पीड़ित माता-पिता अनुमंडलाधिकारी से शिकायत करें। एसडीओ का फैसला नहीं मानने पर डीएम के यहां शिकायत करें। डीएम 30 दिनों में फैसला सुना लागू कराएगा।

 

सीएम ने कहा कि वृद्धजन पेंशन का लाभ लेने के लिए जाति और आय का बंधन नहीं है। वैसे लोग योजना का लाभ ले सकेंगे, जिन्हें किसी प्रकार का पेंशन नहीं मिल रहा। अनुमान है कि ऐसे लोगों की संख्या राज्य में 35 से 36 लाख हैं। इस योजना पर सालाना लगभग 1800 करोड़ की राशि खर्च अनुमानित है। राज्य की आबादी लगभग 11 करोड़ है, जबकि 8.5 करोड़ से अधिक मोबाइल है। स्मार्ट फोन से योजना का आवेदन आसानी से किया जा सकता है। राज्य की इस योजना के क्रियान्वयन के संबंध में दूसरे राज्यों की सरकार भी जानकारी लेने लगी है।

 

शराबबंदी, बाल विवाह रोकने और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चलाया गया। बाल विवाह रोकने के लिए अविवाहित लड़की जो इंटर पास कर रही उन्हें 10 हजार रुपए दिया जा रहा है। विवाहित या अविवाहित स्नातक पास लड़की को 25 हजार रुपए दी जा रही। सरकार कन्या सुरक्षा योजना के तहत जन्म से स्नातक तक एक लड़की को सरकर 54 हजार 100 रुपए देगी।

 

पोशाक और साइकिल योजना की राशि बढ़ा दी गई है। बच्ची के जन्म पर दो हजार रुपए और एक साल के अंदर आधार से जोड़ने पर एक हजार और दो साल के अंदर संपूर्ण टीका लगवाने पर दो हजार रुपए दिए जा रहे। कक्षा एक से बारहवीं तक के बच्ची को पोशाक के लिए राशि दी जा रही। 9वीं में जाने पर साइकिल खरीदने के लिए 3 हजार रुपए मिल रहे। कक्षा 7 से 12 वीं तक की लड़कियों को सैनेटरी नैपकिन के लिए प्रति वर्ष 300 रुपए की दर से राशि का प्रावधान है। पोशाक की राशि भी बढ़ा दी गई है।

 

अब कक्षा एक और दो के लिए 400 के बदले 600, कक्षा 3 से 5 के लिए 500 के बदले 700, कक्षा 6 से 8 के लिए 700 के बदले 1000, कक्षा 9 से 12 के लिए 1000 के बदले 1500 रुपए सालाना का प्रावधान किया गया है।

सभी स्कूलों और सरकारी कार्यालयों में गांधी जी के बताये सात सामाजिक पाप लिखवाया जा रहा, ताकि लोग प्रेरित हो। सीएम ने बुजुर्ग से समाज के नई पीढ़ी के लोगों को जागरूक करने का अनुरोध किया। स्कूलों में प्रार्थना सभा में गांधी जी से जुड़ी कहानी का वाचन कराया जा रहा है।

 

अध्यक्षता करते हुए समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह ने कहा कि योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी का बैंक खाता आधार से लिंक होना जरूरी है। इस योजना इस योजना के तहत 60 साल से अधिक उम्र पर प्रति माह 400 रुपए और 80 साल से अधिक उम्र पर 500 रुपए का दिया जाता है।

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि यह योजना यूनिवर्सल है। योजना का लाभ की प्रक्रिया काफी आसान कर दी गई है। 10 दिनों में आवेदन की जांच कर अगले दो दिनों के अंदर राशि उनके आधार लिंक खाता में भेज दी जाएगी। समाज कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अतुल प्रसाद ने कहा कि अगस्त से राशि भेजने का लक्ष्य था, लेकिन त्वरित कार्रवाई कर जून से ही राशि दे दी गई है। जितना आवेदन मिलेगा, जांच में सही पाये जाने सभी को इस योजना का लाभ मिलेगा। धन्यवाद समाज कल्याण निदेशक राजकुमार ने दिया। विकास आयुक्त डॉ. सुभाष शर्मा, सीएम के सचिव अनुपम कुमार, सूचना व जनसंपर्क विभाग के निदेशक चंद्रशेखर सिंह व डीएम कुमार रवि, समाज कल्याण विभाग के उप सचिव केके सिन्हा सहित विभागीय अधिकारी और योजना के लाभुक बुजुर्ग मौजूद थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना