• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News not only because of our concern or our efforts the pollution level improved due to weather

हमारी चिंता या हमारे प्रयास से ही नहीं, मौसम के कारण सुधरा प्रदूषण का स्तर

Patna News - राजधानी में सड़क, पुल, बिल्डिंग और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के निर्माण के दौरान मानकों की अनदेखी की जा रही है। इसकी वजह से...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 09:27 AM IST
Patna News - not only because of our concern or our efforts the pollution level improved due to weather
राजधानी में सड़क, पुल, बिल्डिंग और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के निर्माण के दौरान मानकों की अनदेखी की जा रही है। इसकी वजह से दिल्ली से अधिक प्रदूषित शहर पटना रह रहा है। पर्यावरण और वाटर मैनेजमेंट से संबंधित विशेषज्ञ भी मानते हैं कि बेलगाम वाहन, निर्माण के दौरान होने वाली लापरवाही, खुले में बालू-गिट्टी के प्रयोग के साथ गंगा के किनारे से बालू उड़कर हवा में मिलने की वजह एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) स्तर में वृद्धि हो रही है। प्रदूषण की वजह से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो रही है। फिलहाल रविवार को हवा की रफ्तार 20 किलोमीटर प्रति घंटा रहने के साथ ही हल्की धूप और मौसम साफ होने से पटना में एक्यूआई स्तर में गिरावट दर्ज की गई। रविवार को पटना का एक्यूआई स्तर 222 अाैर दिल्ली का 325 रहा।

कई जगह चल रहा निर्माण कार्य : शहर में एक दर्जन से अधिक जगहों पर निर्माण कार्य चल रहा है। मीठापुर बस स्टैंड, आर ब्लॉक से विधानसभा तक पुल का निर्माण, आर ब्लॉक से दीघा तक सड़क निर्माण, चितकोहरा, पटना जंक्शन के सामने पुल के ऊपरी हिस्से में मरम्मत का काम, अनीसाबाद क्षेत्र में सड़क का पैचवर्क किया जा रहा है। जबकि, शहर में बिल्डिंग, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मकान और दुकानाें के निर्माण की गिनती नगर निगम के पास भी नहीं है। इन निर्माण में मानकों का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इससे धूल और बालू के साथ ही दूसरे पदार्थों के कण हवा में मिल रहे हैं। इससे प्रदूषण बढ़ रहा है।

स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल असर : एएन कॉलेज के पर्यावरण व जल प्रबंधक विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर नुपूर बोस के मुताबिक जमीन में नमी और हवा में ठहराव होने से धूल, बालू और दूसरे हानिकारक तत्व हवा के निचले स्तर पर ही तैर रहे हैं, जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। सबसे अधिक समस्या गंगा के किनारे फैले बालू से है। पानी का स्तर उतरने के बाद गंगा के किनारे बालू की एक मोटी परत फैल गई है। सूखा बालू हवा के साथ उड़कर वातावरण में मिल रहा है, जिससे हवा में हानिकारक तत्वों का स्तर तेजी से बढ़ रहा है। फिलहाल ठंड बढ़ने या फिर तेज हवा की वजह से प्रदूषण से निजात की उम्मीद है। लेकिन ठंड कब से पड़ेगी, इसके बारे में मौसम विभाग भी ठीक-ठीक अनुमान नहीं लगा पा रहा है।

न ताे निर्माण स्थल का घेरा जा रहा, न ही पानी का हाे रहा नियमित छिड़काव

20

किमी प्रति घंटा रविवार को हवा की रफ्तार रहने के साथ ही हल्की धूप और मौसम साफ होने से पटना में एक्यूआई स्तर में गिरावट दर्ज की गई। सड़क, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मकान व दुकानों के निर्माण में मानकों का ध्यान नहीं दिया जा रहा

रविवार को पटना का एक्यूआई

222

दिल्ली का एक्यूआई

325

गंगा पाथ-वे : दिनभर उड़ रहे धूल से राहगीर परेशान। न पानी का हो रहा छिड़काव और न ही सरकार की आेर से जारी दिशा-निर्देश का हो रहा पालन।

पुल व सड़क निर्माण के दौरान की जा रही मानकों की अनदेखी

पुल, सड़क और बिल्डिंग बनाने के दौरान मानकों की पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है। संबंधित अधिकारी बताते हैं कि निर्माण कार्य के दौरान संबंधित एजेंसी को मानकों का ख्याल रखने का सख्त निर्देश दिया जाता है और समय-समय पर इसकी जांच की जाती है। फिर भी वास्तविकता है कि निर्माण के दौरान एजेंसी अधिकारियों के निर्देशों का भी पालन नहीं करती है। आर ब्लॉक, मीठापुर बस स्टैंड के पास पुल निर्माण के दौरान हरे कलर के कपड़े से घेराव किया गया है, पर कपड़े की ऊंचाई महज आठ फीट और लंबाई 20 मीटर है। पानी का छिड़काव भी क्षतिग्रस्त सड़क के कुछ हिस्से में ही हो रहा है। इससे हवा के साथ धूल कण वातावरण में मिल रहे हैं। आर ब्लॉक से दीघा तक जाने वाली सड़क पर दिन में एक बार ही पानी का छिड़काव होता है, लेकिन सड़क की लंबाई और चौड़ाई के मुताबिक एक बार छिड़काव काफी नहीं है।

निगम के पास कम वाटर टैंकर

नगर निगम के पास वाटर टैंकर काफी कम हैं। मात्र 12 टैंकर हैं, जिनमें दो प्रेशर टैंकर हैं। ऐसे में छह अंचलों के 2700 किलोमीटर क्षेत्र में हर दिन पानी का छिड़काव भी संभव नहीं है। जानकारों के मुताबिक एक टैंकर में 10 हजार लीटर पानी आता है, जबकि एक किलोमीटर लंबी कच्ची सड़क पर छिड़काव के लिए कम से कम 30 हजार लीटर और पक्की सड़क पर 12 हजार लीटर पानी की जरूरत होती है। ऐसे में 2700 किलोमीटर के लिए 27 से अधिक टैंकरों की जरूरत है।

निर्माण कार्य में नहीं रखा जा रहा मानक का ध्यान।

अस्पतालों में बढ़ी मरीजों की संख्या

शहर में प्रदूषण की वजह से लाेग सांस संबंधी बीमारी से ग्रसित हाे रहे हैं। पीएमसीएच में मरीजों की संख्या में अचानक 30 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है। जिन मरीजों को सांस लेने में अधिक परेशानी हो रही है, उन्हें इमरजेंसी में भर्ती कर बाद में टीबी एंड चेस्ट विभाग में शिफ्ट किया जा रहा है। विभाग के हेड डॉ. पवन कुमार अग्रवाल ने बताया कि ओपीडी में राेजाना 60 से 70 मरीज आते रहे हैं। प्रदूषण बढ़ने से मरीजों की संख्या औसतन 90 के आसपास हो गई। अस्थमा और एलर्जी के मरीजों की संख्या बढ़ी है।

5 जून को ही नगर निगम ने लगाए थे पौधे, दाे दिनों बाद ही सूख गए

पटना में पौधारोपण अभियान कागजों में जिंदा है। वास्तविकता में पौधारोपण के दौरान लगाए गए पौधों की जानकारी लेने वाला भी कोई नहीं है। 5 जून को नगर निगम सहित विभिन्न संस्थाओं ने पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस दौरान पौधे भी लगाए थे, लेकिन वे दो-तीन दिनों के बाद ही सूख गए। पटना नगर निगम ने अप्रैल में 50 हजार पौधे लगाने की घोषणा की थी। 5 जून को गंगा के किनारे तीन हजार पौधे भी लगाए गए थे, लेकिन वे दो दिन बाद ही सूख गए। पीपल, नीम, बरगद, गुलमोहर, जामुन के पौधे लगाने की प्लानिंग थी, लेकिन नगर निगम द्वारा केले के पौधे लगाए गए थे। निगम की ओर से अप्रैल में घोषित 47 हजार पौधारोपण की प्लॉनिंग के बारे में अभी आगे काम नहीं हुआ है। अब एक बार फिर से प्रदेश में हरियाली लाने के लिए नवंबर, 2019 में हर पंचायत में 800 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

बस स्टैंड पर पानी का छिड़काव

शहर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए बांकीपुर बस स्टैंड में साफ-सफाई के साथ ही पानी का छिड़काव किया गया। बस, वेटिंग रूम, डिपो की भी साफ-सफाई की गई। त्योहार खत्म होने के दस दिन बाद भी यहां यात्रियों की लगातार भीड़ दिखाई दे रही है। इसकी वजह से डिपो के कर्मचारी साफ-सफाई के साथ ही मच्छर-मक्खियों की संख्या पर कंट्रोल करने के लिए दवाओं का भी छिड़काव कर रहे हैं। मीठापुर बस स्टैंड में भी पानी का छिड़काव किय गया।

Patna News - not only because of our concern or our efforts the pollution level improved due to weather
X
Patna News - not only because of our concern or our efforts the pollution level improved due to weather
Patna News - not only because of our concern or our efforts the pollution level improved due to weather
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना