मान्यता बचाने के लिए अब डीडीई को रानीघाट में शिफ्ट करने की चल रही तैयारी

Patna News - एजुकेशन रिपोर्टर|पटना पटना विवि प्रशासन दूर शिक्षा निदेशालय की मान्यता बचाने के प्रयास में लगा हुआ है।...

Feb 15, 2020, 09:16 AM IST

एजुकेशन रिपोर्टर|पटना

पटना विवि प्रशासन दूर शिक्षा निदेशालय की मान्यता बचाने के प्रयास में लगा हुआ है। डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो के मानदंडों के अनुरूप विवि से संबद्ध दूर शिक्षा निदेशालयों के पास अलग इंफ्रास्ट्रक्चर और दूसरी सुविधाएं होनी चाहिए। लेकिन पटना विवि में ऐसा नहीं है। अब पीयू प्रशासन रानीघाट स्थित वाणिज्य महाविद्यालय के प्राचार्य के लिए आवंटित आवास के भवन में डीडीई के संचालन की व्यवस्था कर रहा है। यह आवास खराब हालात में खाली पड़ा है और कुछ मरम्मत की आवश्यकता है। विवि प्रशासन मरम्मत कार्य को पूरा करा कर डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो से तत्काल राहत की उम्मीद कर रहा है।

हालांकि दूर शिक्षा निदेशालय का अलग कैंपस बनाने के लिए सैदपुर में स्थान चयनित है, लेकिन अब इस स्थान को बदला जा रहा है। चूंकि डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो ने पीयू डीडीई को सत्र 2019-20 तक के लिए ही मान्यता दी है। सत्र 2020-21 में मान्यता के लिए डीडीई को डीईबी की शर्तों को मानना होगा। अगर सैदपुर में भवन बनाने की प्रक्रिया शुरू होगी तो लंबा वक्त लग जाएगा और अगले सत्र से डीडीई की मान्यता खतरे में आ जाएगी। इसलिए पीयू प्रशासन ने तत्काल रानीघाट में ही डीडीई को चलाने का निर्णय लिया है।

एडवाइजरी कमेटी बनाई

डीडीई के बारे में निर्णय लेने के लिए कुलपति प्रो. रासबिहारी सिंह की अध्यक्षता में एक एडवाइजरी कमेटी भी बनाई गई है, जिसमें छात्र कल्याण संकायाध्यक्ष प्रो. एनके झा, डीडीई निदेशक डॉ. दीप्ति कुमारी के साथ डीडीई के दो पूर्व निदेशकों प्रो. आरआर सहाय और डॉ. केएन पासवान को भी शामिल किया गया है। कमेटी के साथ कुलसचिव कर्नल मनोज मिश्रा और कुलानुशासक डॉ. रजनीश कुमार ने शुक्रवार को रानीघाट में चयनित स्थल का जायजा लिया। प्रो. एनके झा ने बताया कि डीडीई के विकास के लिए पीयू प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है। नए भवन में आने से डीडीई के संचालन में भी सहूलियत होगी।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना