• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna लाचारी में ही खेती कर रही पुरानी पीढ़ी, युवाओं का हो रहा पलायन
विज्ञापन

लाचारी में ही खेती कर रही पुरानी पीढ़ी, युवाओं का हो रहा पलायन

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 04:36 AM IST

Patna News - सामाजिक चिंतक केएन गोविंदाचार्य ने कहा कि बिहारी किसान घोर उपेक्षा के शिकार हैं। लाचारी में पुरानी पीढ़ी खेती कर...

Patna - लाचारी में ही खेती कर रही पुरानी पीढ़ी, युवाओं का हो रहा पलायन
  • comment
सामाजिक चिंतक केएन गोविंदाचार्य ने कहा कि बिहारी किसान घोर उपेक्षा के शिकार हैं। लाचारी में पुरानी पीढ़ी खेती कर रही है। युवा वर्ग पलायन कर रहा है। इसका दुष्प्रभाव ग्रामीण इलाकों के साथ शहरी इलाकों पर पड़ रहा है। वर्तमान समय की सरकारों का विकास मानव केंद्रित है। बाजारवाद के बढ़ते प्रभाव के कारण शहरों में रहने वाले लोगों को बेरोजगारी, अपराध, गंदगी मिल रही है। महिलाओं की स्थिति अच्छी नहीं है। कारण एक प्रतिशत आबादी 57 प्रतिशत संपत्ति का दोहन कर रही है। वे सोमवार को पटना में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि बिहार के किसान पलायनवादी हैं। इस कारण आत्महत्या से बच गए। ये सरकारों की कृपा से नहीं बचे हैं। जबकि विदर्भ में किसान पलायनवादी नहीं हैं। इस कारण आत्महत्या को मजबूर हुए। उन्होंने केंद्र सरकार और राज्य सरकारों से स्वामीनाथन आयोग की सीटू पद्धति को लागू कर किसानों को समर्थन मूल देने की मांग की। इसमें खेत का किराया, खेती पर खर्च, मेहनताना शामिल है। अभी देश के कई प्रदेशों में किसानों के अनाज को खरीदारी करने के लिए लचर व्यवस्था है। बहुत कम मात्रा में केवल गेहूं और धान की खरीदारी हो रही है। इस प्रक्रिया में बदलाव लाना होगा। इस मौके पर प्रो. रमाकांत पांडेय, समाजसेवी अनिल केशरी उपस्थित थे।

पत्रकारों से बात करते केएन गोविंदाचार्य। साथ में हैं रमाकांत पांडे व अनिल केसरी।

दिसंबर में भारतीय संस्कृति उत्सव

गोविंदाचार्य ने कहा कि कर्नाटक के विजयपुर में भारत विकास संगम की आेर से भारतीय संस्कृति उत्सव का आयोजन 25 से 31 दिसंबर तक होगा। इस उत्सव में कृषि, रोजगार, महिला, युवा, शिक्षा और स्वास्थ्य विषय पर परिचर्चा होगी। इसमें देश के सभी राज्यों से लगभग 2000 किसान व रचनात्मक समूह के लोग शामिल होंगे। इसका उद‌्घाटन उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू करेंगे। इसमें बिहार से किसानों के साथ रचनात्मक समूह हिस्सा लेगी। रविवार को बिहटा में आयोजित किसान सम्मेलन में प्राकृतिक खेती करने वाले 18 लोगों सम्मानित किया गया है। ये सभी किसान मशीनी रसायनी खेती से मुक्त और जैविक खेती और गौ आधारित खेती कर रहे हैं। बिहारी किसानों से कृषि के साथ गौ पालन करने का आह्वान किया।

X
Patna - लाचारी में ही खेती कर रही पुरानी पीढ़ी, युवाओं का हो रहा पलायन
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें