पटना सिटी : झंडा लेकर जुलूस में शामिल अकीदतमंद।

Patna News - उर्स संपन्न

Nov 11, 2019, 09:45 AM IST
उर्स संपन्न

पटना सिटी : झंडा लेकर जुलूस में शामिल अकीदतमंद।

मुए मुबारक की जियारत के लिए हर कदम खानकाह मुजीबिया की ओर उठे

सिटी रिपाेर्टर | फुलवारीशरीफ

रविवार काे दिन के 11 बजे, टमटम पड़ाव और शहर के अन्य इलाकाें से अकीदतमंदों का आना शुरू हो गया। कोई कार से, कोई बाइक से, कोई साइकिल से तो कोई पैदल ही खानकाह मुजीबिया की तरफ चल पड़ा। इनमें बूढ़े, बच्चे, जवान, महिलाएं सभी थे और इनकी जुबान पर दूसरीपन पढ़ा जा रहा था। वहां पर खड़े लोग भी उनको खानकाह तक पहुंचने में मदद कर रहे थे। खगौल, जानीपुर, भुसौला, आरा, दानापुर से भी अकीदतमंद पहुंचे। ऐसा लगा रहा था कि हर कदम खानकाह की ओर उठ रहा है। एक बजते-बजते खानकाह परिसर में पैर रखने की जगह नहीं थी। कोई मजार पर सिरनी चढ़ा रहा था तो कोई चादरपोशी कर रहा था, कोई अगरबत्ती जला रहा था तो कोई अपने गुनाहों को माफ करने के लिए रो-रोकर दुआ मांग रहा था। उधर स्थानीय नगर परिषद के कैंप कार्यालय से माइक से यह एेलान किया जा रहा था अकीदतमंदों को आने जाने के लिए परेशानी न हो।

ढाई बजे मुए मुबारक को अकीदतमंदों के सामने लाया गया। यह सिलसिला 4.30 बजे तक चलता रहा। सज्जादानशीं हजरत सैयद शाह आयतुल्लाह कादरी ने अकीदतमंदों को मुए मुबारक की जियारत कराई।

जियारत के बाद महिफल-ए-समां : जियारत के बाद अकीदतमंदों ने महिफल-ए-समां में शामिल होकर सूफियाना कलाम का खूब मजा लिया। सूफी शायर अामीर खुसराे के कलाम, शब जाए के मन बुदम... काे खानकाह के कव्वाल ने गाया। कव्वाल मुमताज ने बताया कि हमारे पूर्वज भी इसी खानकाह में कलाम पेश करते थे। यहां कलाम पेश करने में बड़ा ही मजा आता है। क्योंकि यहां फारसी भाषा को समझने वाले पहुंचते हैं। छोटी खानकाह फरीदिया में 51 गागर िनकाले गए। सभी गागर काे बारी-बारी से अकीदतमंद सर पर लेकर घूमते हैं। पैगम्बर हजरत मोहम्म्द साहब की यौम ए पैदाइश के मौक पर फुलवारीशरीफ के नया टोला से जुलूस-ए-मोहम्मदिया निकाला गया। इसमें अकीदतमंदों ने मनकबत और नात ए शरीफ पढ़ी। उधर , खगौल नीमतल्ला में रविवार को ईद-मिलाद-उन-नबी के मौके पर शांति और मोहब्बत के पैगाम के साथ काफिला-जुलूसे-मोहम्मदी निकाला गया। इसमें सैकड़ों मुसलमान भाइयों ने भाग लिया।

एदारा-ए-शरिया : जुलूस में शामिल मौलाना गुलाम रसूल बलियावी।

खानकाह मुजीबिया के संस्थापक पीर मुजीबुल्लाह कादरी की मजार पर चादरपोशी करते सीएम नीतीश कुमार।

खानकाह प्रबंधक ने टोपी-गमछा देकर मुख्यमंत्री का किया स्वागत

फुलवारीशरीफ | पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहेब के यौम ए पैदाइश के मौके पर लगने वाले उर्स मुबारक में रविवार की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे। मुख्यमंत्री के खानकाह पहुंचते ही खानकाह ए मुजीबिया के प्रबंधक मौलाना मिन्हाजुद्दीन कादरी और नगर सभापति मो. आफताब आलम ने टोपी और गमछा देकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर खानकाह-ए-मुजीबिया के प्रबंधक हजरत मौलाना मिनहाजउद्दीन कादरी ने मुख्यमंत्री के साथ राज्य के सुख, शांति व समृद्धि के लिये दुआ करायी। इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सज्जादा नशीं हजरत सैयद शाह आयातुल्लाह कादरी से उनके हुजरे में जाकर मुलाकात कर उनका हाल जाना और उनसे आशीर्वाद मांगा। सीएम के साथ उद्योग मंत्री श्याम रजक भी मौजूद थे। इस दौरान डीएम कुमार रवि, एसएसपी गरिमा मल्लिक, एसडीएम कुमारी अनुपम सहित पूरा प्रशासनिक अमला मुस्तैद रहा। दोपहर से ही मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चौकस थी। सीएम सुरक्षा में लगे अधिकारी खानकाह पहुंचे हुए थे।

मनेर : खानकाह में महफिले समा में सूफियाना कलाम पेश करते कव्वाल।

उर्दू मैदान में हुअा नातिया मुकाबला

पटना सिटी | अंजुमन-ए-मोहम्मदिया की ओर से उर्दू मैदान मंगल तालाब में चल रहे तीन दिवसीय समारोह के दूसरे दिन रविवार को नातिया मुकाबला आयोजित हुआ। अध्यक्षता खानकाह मुनएमिया मित्तन घाट दरगाह शरीफ के सज्जादानशीं सैयद शाह शमीमुद्दीन मुनएमी ने की। संचालन डॉ. रेहान गनी ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत तिलावत-ए-कुरान पाक से हुई। कार्यक्रम में डॉ. एजाज अली अरशद, डॉ. सरवर आलम, नदवीं साहब भी शामिल हुए। अंजुमन के अध्यक्ष मो. शमशाद ने बताया कि निर्णायक मंडल में मोइन कौसर, अता आबदी, मुश्वाक शिवानी शामिल रहे। सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। इस दौरान जरूरतमंदतों के बीच कंबल का भी वितरण किया गया। मौके पर सचिव मेराज जेया, परवेज अहमद, इरशाद गुलाब, मो. साबिर अली, फिरदौस, आसिम सिद्दीकी, शमी अहमद, इकबाल हुसैन, मो. हसनी, मो. रफी व रेयाज अादि मौजूद रहे। सोमवार को महिलाओं के लिए सीरत काॅन्फ्रेंस का आयोजन होगा। इधर खानकाह मुनएमिया मित्तन घाट दरगाह शरीफ में सज्जादानशीं सैयद शाह शमीमुद्दीन अहमद मुनएमी की देखरेख में कार्यक्रम हुआ। उन्होंने कहा कि पैंगबर हजरत मोहम्मद साहब का जीवन दर्शन सूफी भक्ति व सेवा का पैगाम है।

मोहम्मद साहब ने शिक्षा पर जोर दिया था, बच्चों को शिक्षित बनाएं

पटना |इमारत ए शरिया के कार्यवाहक नाजिम मौलाना मोहम्मद शिबली अल कासमी ने पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब की यौम ए पैदाइश के मौके पर जश्ने ईद मिलादुन्नबी की मुबारकबाद देते हुए सभी मुसलमान भाइयाें से अपील की है कि पैगम्बर मोहम्मद साहब ने सबसे पहले शिक्षा पर जोर दिया था। सभी मुसलमान भाइयाें को अपने परिवार के बच्चाें को सबसे पहले शिक्षित बनाना चाहिए। मौलाना शिबली ने कहा कि अल्लाह के रसूल सल. मुसलमानों के लिए नहीं, तमाम आलम के लिए रहमत बनकर आए। आपने अमन, शांति, मुहब्बत और इत्तेहाद का पैगाम दिया। मुसलमान बुरे कामों से बचें। समाज में फैल रही कुरीतियों को दूर करें। नमाज की पाबंदी करें। रोजा और जकात अदा करें। मुसलमानों को चाहिए कि पैगम्बर ए इस्लाम की तालीम पर अमल करें। इत्तेहाद को कायम रखें।

मोहम्म्द साहब ने अमन का पैगाम दिया : बलियावी

पटना| पैगंबर हजरत मोहम्मद साहेब की याैम ए पैदाइश के मौके पर रविवार को एदारा-ए- शरिया की ओर से जुलूस ए मोहम्मदी निकाला गया। इसमें हजारों अकीदतमंद शरीक हुए। एदारा के अध्यक्ष मौलाना गुलाम रसूल बलियावी के नेतृत्व में आशिके रसूल का यह जुलूस सुल्तानगंज से निकला। जुलूस में मो. शाकिर हुसैन, मौलाना नवाजिश करीम, मुफ्ती हसन रजा नूरी, मुफ्ती गुलाम हुसैन सकाफी, डॉक्टर जफर न्याजी शामिल थे।

उर्स पर खानकाह में जुटी अकीदतमंदों की भीड़

मनेर | पैगम्बर मोहम्मद साहब के जन्मोत्सव (मिलादुन्नबी) हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मनेरशरीफ स्थित खानकाह परिसर में उर्स आयोजित हुआ। वहीं कव्वालों के द्वारा मोहम्मद से दोनों जग उजियारा....आदि सूफियाना कलाम प्रस्तुत कर लोगों के बीच सूफियाना माहौल कायम कर दिया। उर्स मुबारक के अवसर खानकाह में जियारिनों की काफी भीड़ उमड़ी। इस दौरान अकीदतमंदों ने पैगंबर साहब मोए मुबारक व मखदुम शाह याहिया मनेरी दौलत मनेरी से जुड़ी वस्तुओं की जियारत कर फतेहा किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना